Browsing Tag

Journey of a maestro of Kayastha movement

कायस्थ आन्दोलन के एक महारथी का प्रयाण

परिवार के साथ दीपावली की पूजा कर भोजनोपरांत सोया ही था कि लगभग मध्यरात्रि के बाद फोन की घंटी बजने से नींद टूट गयी। फोन पर मेरे पचास वर्ष पुराने मित्र और कांग्रेस के बड़े नेता , भूतपूर्व केन्द्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय जी थे। मैंने उन्हें…
Read More...