भारत, ईदी अमीन और अफगान संकट

भारत सन 1972 और सन 2021 के बीच वास्तव में बहुत बदल चुका हैं। इस लगभग आधी सदी के अंतराल में भारत की विदेश नीति में एक्शन को खास महत्व मिलने लगा है। अब राजधानी के साउथ ब्लाक से चलने वाले विदेश मंत्रालय से सिर्फ बातें नहीं होतीं। अब बयानबाजी…
Read More...

अब क्या होगी भारत की नीति अफ़गानिस्तान पर

आज भारतीय सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चहुँ ओर प्रशंसा हो रही है, उनकी अफ़गान की पाॅलिसी पर। और इसी सिलसिले में एक अच्छी ख़बर यह आई है कि श्री मोदी  द्वारा अफ़गानिस्तान के आज के हालात पर एक सर्वदलीय बैठक बुलाई। इस बैठक में उनकी…
Read More...

क्यों अफगानियों को शरण देने से बचते इस्लामिक देश

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद भयंकर हाहाकार मचा हुआ है। वहां से ज्यादातर स्थानीय अफगानी नागरिक भी अपना देश छोड़कर कहीं और जाकर बसना चाह रहे हैं। उन्हें अफगानिस्तान में अब अपने बीबी बच्चों के साथ एक मिनट भी रहना सही नहीं लग रहा…
Read More...

तालिबान के सीने पर पंजशीर देश बनेगा

कांटे से कांटा निकालने का सिद्धांत पुराना है, विरोधी के विरोधी को शक्ति और मदद देकर अपना मकसद साधना भी एक प्रचलित और एक कारगर नीति है। विष का इलाज भी विष से ही होता है। तालिबान पर यह नीति और सिद्धांत ठीक बैठता है। तालिबान जैसे जहर और खूनी…
Read More...

औचित्य खोते वैश्विक संगठन

दृश्य 1: सुरक्षित स्थान की तलाश में अपने ही देश से पलायन करने के लिए एयरपोर्ट के बाहर हज़ारों महिलाएं, बच्चे और बुजुर्गों की भीड़ लगी है। कई दिन और रात वो भूखे प्यासे वहीं डटें हैं इस उम्मीद में कि किसी विमान में सवार हो कर वो अपना और अपने…
Read More...

अफगानिस्तान खंड खंड होगा

तालिबान और पाकिस्तान की बत्ती जल्द ही गुल होने वाली है। उसकी हिंसा और मानवता को शर्मसार करने वाली नीति को जैसे को तैसा के रूप में चुनौती मिलने वाली है। अफगानिस्तान में अभी भी कार्यवाहक राष्ट्रपति सलाह ही वैध शासक है। अफगानिस्तान की बनने…
Read More...

विदेशों में भी मना आजादी का जश्न, वतन को किया नमन

@ chaltefirte.com                      पटना/ दुबई। देश की आजादी के 75 वें वर्ष पर आजादी का अमृत महोत्सव हर जगह मनाया गया। इसमें खास यह रहा कि विदेश में रहने वाले लोगों ने भी महोत्सव मनाया। इस आयोजन में देश प्रेम का अनोखा मंजर देखने को मिला।…
Read More...

तालिबान के लिए दहशतगर्द ही होंगे भस्मासुर

दुनिया की समझ है कि तालिबान के पास कोई एक लाख से अधिक दहशतगर्द हैं। तालिबान अपनी दहशतगर्दो के बल पर ही अफगानिस्तान पर कब्जा करने में सफलता पायी है। अब अफगानिस्तान पर तालिबान का राज होगा, तालिबान अपना इस्लामिक एजेंडा लागू करेगा। तालिबान ने…
Read More...

तालिबान को खाद-पानी दिया इस्लामिक मुल्कों ने ही

अफगानिस्तान में तालिबानी लड़ाकों ने कब्जा कर लिया है। वहां पर खुलेआम कत्लेआम जारी है। तालिबानी फौजें जिसे चाह रही हैं, उसे मार रही हैं। यह स्थिति कोई आज नई पैदा नहीं हुई है। वहां पर बम- धमाके और खून-खराबा तो गुजरे कई वर्षों से हो रहा है।…
Read More...

संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत ने रचा नया इतिहास

9 अगस्त का दिन भारत के इतिहास में हमेशा के लिए दर्ज होगा क्योंकि भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता करेंगे। सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता कर प्रधानमंत्री मोदी ने एक नया इतिहास रचाएंगे सुरक्षा परिषद की…
Read More...