अहंकार मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन

आज देश और दुनिया में गुरु नानक देव का 482 वां स्मृति दिवस सोल्लास मनाया जा रहा है। संत, महात्माओं में गुरु नानक देव का नाम इतिहास में आदरपूर्वक सवर्ण अक्षरों में दर्ज है। सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव का जन्म रावी नदी के किनारे…
Read More...

पापों से मुक्ति दिलाता है श्राद्ध कर्म

सोमवार को भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि से पितृ पक्ष आरंभ हो गया है। हिंदू धर्म में पितृ पक्ष का विशेष महत्व बताया गया है। पितृ पक्ष में पितरों को याद किया जाता है और उनके प्रति श्राद्धा और आभार व्यक्त किया जाता है। पितृ पक्ष…
Read More...

पति के अपमान से आहत होकर जहां यज्ञ कुंड में कूद पड़ी थी सती

अनादि काल से शक्ति उपासना की पुण्य भूमि बिहार के तीन शक्ति पीठों (गया सर्वमंगला, छिन्न मस्तिका, हजारीबाग, झारखंड तथा अम्बिका भवानी आमी दिघवारा सारण) में मूर्धन्य आमी वाली अम्बिका भवानी के सच्चे दरबार से कोई खाली हाथ नहीं लौटता। चाहे…
Read More...

रुद्रेश्वर मंदिर-गीत गाया पत्थरों ने

भारत ने एक बार फिर विश्व को अपनी ओर आकर्षित ही नहीं किया बल्कि अपनी संस्कृति और कला का लोहा भी मनवाया। तेलंगाना के रामप्पा मंदिर को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया जाना एक तरफ भारत के लिए गौरव का पल था तो विश्व के…
Read More...

भगवान शिव को समर्पित है सावन का महीना

हिंदू धर्म में सावन के महीने का बहुत महत्व है। सावन का महीना भगवान शिव को समर्पित है। इस माह में भगवान शिव की विशेष पूजा अर्चना की जाती हैं। शिव पुराण के अनुसार इसे मनोकामनाएं पूर्ण करने का महीना भी कहा जाता हैं। इस दौरान अनुशासित जीवन…
Read More...

विश्व धरोहर में शामिल हुआ तेलंगाना का रुद्रेश्‍वर मंदिर

डॉ.प्रभात कुमार सिंघल,कोटा हैदराबाद। तेलंगाना के काकतीय रुद्रेश्‍वर मंदिर को विश्‍व धरोहर में शामिल किया गया है। यूनेस्‍को की वर्ल्‍ड हेरिटेज साइट ने इसे विश्‍व धरोहर के तौर पर जगह दी है। करीब 800 साल पुराने इस मंदिर को रामप्‍पा मंदिर के…
Read More...

गुरुकृपा  के लिए महत्वपूर्ण चरण – सत्सेवा

कु. कृतिका खत्री गुरु प्राप्ति और गुरुकृपा होने के लिए क्या करें ? गुरु प्राप्ति के लिए तीव्र मुमुक्षुत्व या तीव्र लालसा,तडप इन गुणों में से एक के कारण गुरु प्राप्ति जल्दी होती है और गुरुकृपा निरंतर रहती है। जिस प्रकार युवा अवस्था में…
Read More...

अहिंसा के मूर्तिमान के प्रतीक – भगवान महावीर

‘हर व्यक्ति अपने स्वयं के दोष की वजह से दुखी रहता है। वह खुद अपनी गलती सुधार कर प्रसन्न हो सकता है। स्वयं से लड़ो, बाहरी दुश्मन से क्या लड़ना? वह जो स्वयं पर विजय कर लेगा, उसे आनंद की प्राप्ति होगी। पृथ्वी पर हर जीव स्वतंत्र है। कोई किसी…
Read More...

सत्य, न्याय एवं सदाचार के प्रतीक हैं श्रीराम

भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव के रूप में प्रतिवर्ष चैत्र मास की शुक्ल पक्ष नवमी को रामनवमी का त्यौहार समूचे भारतवर्ष में अपार श्रद्धा, भक्ति और उल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या में उत्सवों का विशेष आयोजन होता…
Read More...

रामनवमी पर छाया कोरोना का साया

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए लगातार दूसरे साल देशभर में भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव 21 अप्रैल पर शोभा यात्रा नहीं निकाली जाएगी। श्रद्धालुओं को अपने घर में ही रह कर रामनवमी माननी होगी। इस रामनवमी पर नौ साल बाद पांच…
Read More...