सभी भारतीय भाषाएं हैं राष्ट्रभाषा : प्रो. अग्निहोत्री

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल कोटा। 'सभी भारतीय भाषाएं राष्ट्रीय भाषाएं हैं, इसलिए किसी भाषा को क्षेत्रीय भाषा और किसी को राष्ट्रीय भाषा कहना ठीक नहीं होगा। जिस दिन हमारे शिक्षकों ने भारतीय भाषाओं में पढ़ाना शुरू कर दिया, उस दिन हिन्दुस्तान अन्य…
Read More...

सांस्कृतिक चेतना के अग्रदूत तथा ‘हरियाणवी साहित्य के पुरोधा’ डॉ रामनिवास…

सांस्कृतिक चेतना के अग्रदूत तथा 'हरियाणवी साहित्य के पुरोधा' के रूप में सुप्रतिष्ठित डाॅ रामनिवास 'मानव' विश्वविख्यात साहित्यकार होने के साथ-साथ समर्पित शिक्षाविद् , निस्वार्थ समाज-सेवी और निष्पक्ष पत्रकार भी हैं। आप हरियाणा में रचित…
Read More...

जरूरी है मीडिया एजुकेशन काउंसिल: डॉ. जोशी

प्रभात कुमार सिंघल                    नई दिल्ली। ''मीडिया शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए मीडिया एजुकेशन काउंसिल की आवश्यकता है। इसकी मदद से न सिर्फ पत्रकारिता एवं जनसंचार शिक्षा के पाठ्यक्रम में सुधार होगा, बल्कि मीडिया इंडस्ट्री की…
Read More...

भारतीय जन संचार संस्‍थान में ‘भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद’ विषय पर वेबिनार

प्रभात कुमार सिंघल नई दिल्ली । .’’भाषा का संबंध इतिहास, संस्‍कृति और परम्‍पराओं से है। भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद की परम्‍परा पुरानी है और ऐसा सैकड़ों वर्षों से होता आ रहा है, यह उस दौर में भी हो रहा था, जब वर्तमान समय में प्रचलित…
Read More...

“मीडिया संसार” पुस्तक की चर्चा चारों ओर 

@ chaltefirte.com                कोटा। पत्रकारिता एवं मीडिया जगत पर डॉ. प्रभात कुमार सिंघल एवं के.डी.अब्बासी की सँयुक्त रूप से हाल ही में प्रकाशित पुस्तक " मीडिया संसार" देश एवं प्रदेश में चारों ओर चर्चा में आ गई हैं। पुस्तक का…
Read More...

पुस्तक समीक्षा–चम्बल तेरी यही कहानी

हाल ही में प्रकाशित डॉ. प्रभात कुमार सिंघल की पुस्तक " चम्बल तेरी यही कहानी" राजस्थान की भाग्य रेखा बनी चम्बल नदी पर आधारित महत्वपूर्ण दस्तावेज है। भारत की पावन गंगा, यमुना, सरस्वती नदियों के साथ पावन "चम्बल --चर्मण्यवती " नदी के…
Read More...

हिन्दी हिन्दुस्तान की आत्मा और स्वाभिमान है

प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस दिन भारत की संविधान सभा ने देवनागरी लिपि में लिखी गई हिंदू भाषा को भारत गणराज्य की आधिकारिक भाषा घोषित किया था। भारत की संविधान सभा ने 14 सितंबर 1949 को भारत…
Read More...

हिंदी वाला बाबू बनेगा और अंग्रेजी वाला अफसर

हम हर साल 14 सितम्बर को हिंदी दिवस मनाते है और इसे जन जन की भाषा बता कर गुणगान करते है । हम हिंदी दिवस जरूर मनाएं मगर वास्तविकता से मुहं नहीं मोड़े। हिंदी की सच्चाई जाने, उस पर मंथन करें ताकि जमीनी हकीकत से रूबरू हो सके। हिंदी भारत में…
Read More...

हिंदी की बिंदी को बनाना होगा ताज

आधुनिक काल के नवजागरण के अग्रदूत प्रसिद्ध कवि भारतेंदु हरिश्चंद्र ने निज भाषा का महत्व बताते हुए लिखा हैं "निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल। बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।। विविध कला शिक्षा अमित, ज्ञान अनेक प्रकार। सब…
Read More...

भारतेंदु हरिश्चन्द्र जयंती पर पुस्तकालय को डॉ. सिंघल ने भेंट की किताबें

@ chaltefirte.com              कोटा ।हिंदी साहित्य के साथ-साथ हिंदी थियेटर के पितामह कहे जाने वाले भारतेन्दु हरिश्चन्द्र की जयंती पर आज जनसम्पर्क विभाग के पूर्व सँयुक्त निदेशक एवं लेखक डॉ. प्रभात कुमार सिंघल ने हिंदी भाषा में लिखी अपनी…
Read More...