मातृभाषा आदमी के संस्कारों की संवाहक है

अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस 21 फरवरी को हर साल मनाया जा रहा है। यूनेस्को द्वारा दुनिया भर के विभिन्न देशों में उपयोग की जाने वाली (पढ़ी, लिखी और बोली जाने वाली) 7000 से अधिक भाषाओं की पहचान की गई है। इसी बहुभाषीवाद को मनाने के लिए 21…
Read More...

प्रायश्चित

बैंक में लगी लम्बी लाईन को लगभग चीरते हुए एक नवयुवक सीधा भुगतान खिडकी पर पहुंचा और बोला... मेरे पापा अस्पताल में भर्ती हैं। उनका आपरेशन होना है। कृपया मुझे पहले भुगतान कर दीजिए। बैंक बाबू ने एक नजर उसको देखा और अपने काम में लग गया।…
Read More...

हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक जयशंकर प्रसाद

हिंदी के प्रख्यात साहित्यकार, कवि और उपन्यासकार के रूप में पहचान बनाने वाले जयशंकर प्रसाद का जन्म 30 जनवरी 1889 को बनारस में हुआ था। जयशंकर प्रसाद आधुनिक हिन्दी साहित्य के बहुमुखी प्रतिभा सम्पन्न साहित्यकार थे। हिंदी के छायावादी युग के…
Read More...

इच्छाओं से भी कीजिए संवाद

इच्छा की जन्म स्थली मन है। मन ही मनुष्य को पशु.पक्षियों से भिन्न करता है। इच्छा हमेशा लोभ के मार्ग पर अग्रसर होने के लिए प्रेरित करती है, इसीलिए कहा गया हैं .लोभ पाप का मूल है क्योंकि इसी के वशीभूत होकर इंसान से अनुचितए गैर सैद्धान्तिक और…
Read More...

डॉ. सिंघल हाड़ौती गौरव सम्मान से सम्मानित

कोटा ।राष्ट्रीय स्तर पर सामाजिक साहित्यिक तथा प्रकाशन क्षेत्र में हाड़ौती को पहचान दिलाने के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य एवं सेवा के लिए सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के पूर्व सँयुक्त निदेशक एवं वरिष्ठ लेखक डॉ. प्रभात कुमार सिंघल को कोटा में…
Read More...

समाज का महत्वपूर्ण हिस्सा है संस्कृति और मीडिया : डॉ. सच्चिदानंद जोशी

@ chaltefirte.com                       नई दिल्ली । वर्तमान समय में मीडिया की संस्कृति, व्यवहार और संस्कार पर चर्चा किये जाने की आवश्यकता है। अगर हम मीडिया की संस्कृति को समझ लेंगे, तो देश, समाज, परिवेश और व्यक्तिगत संस्कृति को भी पहचान…
Read More...

हिंदी साहित्य के अनन्य उपासक थे मैथिलीशरण गुप्त

राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की 12 दिसम्बर को पुण्यतिथि है। 3 अगस्त 1886 को यूपी के झांसी जिला अंतर्गत चिरगांव में जन्मे गुप्त की मृत्यु 12 दिसंबर 1964 को हुई थी। हिन्दी साहित्य के इतिहास में वे खड़ी बोली के प्रथम महत्त्वपूर्ण कवि माने…
Read More...

ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर की पत्नी चेरी ब्लेयर ने मोहिनी केंट द्वारा लिखी पुस्तक…

@chaltefirte.com                 कोलकाता / लंदन।  प्रभा खेतान फाउंडेशन, कोलकाता ब्रिटेन के  तरफ से स्वाति अग्रवाल ने आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम में जीवन में स्नेहमयी माताओं के प्यार एवं योगदान पर मोहिनी केंट द्वारा लिखी पुस्तक “प्रिय मां” को…
Read More...

सभी भारतीय भाषाएं हैं राष्ट्रभाषा : प्रो. अग्निहोत्री

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल कोटा। 'सभी भारतीय भाषाएं राष्ट्रीय भाषाएं हैं, इसलिए किसी भाषा को क्षेत्रीय भाषा और किसी को राष्ट्रीय भाषा कहना ठीक नहीं होगा। जिस दिन हमारे शिक्षकों ने भारतीय भाषाओं में पढ़ाना शुरू कर दिया, उस दिन हिन्दुस्तान अन्य…
Read More...

सांस्कृतिक चेतना के अग्रदूत तथा ‘हरियाणवी साहित्य के पुरोधा’ डॉ रामनिवास…

सांस्कृतिक चेतना के अग्रदूत तथा 'हरियाणवी साहित्य के पुरोधा' के रूप में सुप्रतिष्ठित डाॅ रामनिवास 'मानव' विश्वविख्यात साहित्यकार होने के साथ-साथ समर्पित शिक्षाविद् , निस्वार्थ समाज-सेवी और निष्पक्ष पत्रकार भी हैं। आप हरियाणा में रचित…
Read More...