डा. दीपक नाईजीरीयन “जर्नल ऑफ इंफोर्मेशन प्रेक्टिस एण्ड मेनेजमेंट” के एडीटोरियल मेम्बर नियुक्त

जयपुर। लाईब्रेरी एण्ड इंफोरमेशन सेनसीटाईएजेशन वेनगार्ड ऑफ नाईजीरीया (लिस्वान) के राष्ट्रीय अध्यक्ष य़ुसुफ इसाक एवं पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग अहमदो बेल्लो विश्वविधालय के विभागाध्यक्ष डॉ. हबीब मोहम्मद ने राजकीय सार्वजनिक मण्डल…
Read More...

बिहार के दोनों उपमुख्यमंत्रियों व गृह विभाग के विशेष सचिव को भेट की पुस्तक

पटना।नरेंद्र मोदी द ग्लोबल पुस्तक बिहार के उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद ,रेणु देवी व गृह विभाग में विशेष सचिव वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी विकास वैभव को वरीय अधिवक्ता सह सोनपुर विधानसभा क्षेत्र से वरीय भाजपा नेता ओम कुमार सिंह ने भेंट की। यह…
Read More...

आंचलिकता के महानायक फणीश्वरनाथ ‘रेणु’

फणीश्वर नाथ रेणु की जयंती 4 मार्च को है। अपने कालजयी उपन्यास मेला आँचल के जरिये समाज में अपनी पेठ जमाने वाले फणीश्वर नाथ ‘रेणु’ प्रेमचंद के बाद के युग में आधुनिक हिंदी साहित्य के सबसे सफल और प्रभावशाली लेखकों में से एक थे। वे ‘मैला आंचल’…
Read More...

राज्य स्तरीय साहित्यकार समारोह 7 मार्च को

@ chaltefirte.com                                जयपुर। राज्य स्तरीय साहित्यकार समारोह रविवार, 7 मार्च को श्रीडॅूंगरगढ़ के संस्कृति सभागार में होगा। राष्ट्रभाषा हिन्दी प्रचार समिति के अध्यक्ष श्याम महर्षि ने बताया कि समारोह में राज्य-भर से…
Read More...

मातृभाषा आदमी के संस्कारों की संवाहक है

अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस 21 फरवरी को हर साल मनाया जा रहा है। यूनेस्को द्वारा दुनिया भर के विभिन्न देशों में उपयोग की जाने वाली (पढ़ी, लिखी और बोली जाने वाली) 7000 से अधिक भाषाओं की पहचान की गई है। इसी बहुभाषीवाद को मनाने के लिए 21…
Read More...

प्रायश्चित

बैंक में लगी लम्बी लाईन को लगभग चीरते हुए एक नवयुवक सीधा भुगतान खिडकी पर पहुंचा और बोला... मेरे पापा अस्पताल में भर्ती हैं। उनका आपरेशन होना है। कृपया मुझे पहले भुगतान कर दीजिए। बैंक बाबू ने एक नजर उसको देखा और अपने काम में लग गया।…
Read More...

हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक जयशंकर प्रसाद

हिंदी के प्रख्यात साहित्यकार, कवि और उपन्यासकार के रूप में पहचान बनाने वाले जयशंकर प्रसाद का जन्म 30 जनवरी 1889 को बनारस में हुआ था। जयशंकर प्रसाद आधुनिक हिन्दी साहित्य के बहुमुखी प्रतिभा सम्पन्न साहित्यकार थे। हिंदी के छायावादी युग के…
Read More...

इच्छाओं से भी कीजिए संवाद

इच्छा की जन्म स्थली मन है। मन ही मनुष्य को पशु.पक्षियों से भिन्न करता है। इच्छा हमेशा लोभ के मार्ग पर अग्रसर होने के लिए प्रेरित करती है, इसीलिए कहा गया हैं .लोभ पाप का मूल है क्योंकि इसी के वशीभूत होकर इंसान से अनुचितए गैर सैद्धान्तिक और…
Read More...

डॉ. सिंघल हाड़ौती गौरव सम्मान से सम्मानित

कोटा ।राष्ट्रीय स्तर पर सामाजिक साहित्यिक तथा प्रकाशन क्षेत्र में हाड़ौती को पहचान दिलाने के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य एवं सेवा के लिए सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के पूर्व सँयुक्त निदेशक एवं वरिष्ठ लेखक डॉ. प्रभात कुमार सिंघल को कोटा में…
Read More...

समाज का महत्वपूर्ण हिस्सा है संस्कृति और मीडिया : डॉ. सच्चिदानंद जोशी

@ chaltefirte.com                       नई दिल्ली । वर्तमान समय में मीडिया की संस्कृति, व्यवहार और संस्कार पर चर्चा किये जाने की आवश्यकता है। अगर हम मीडिया की संस्कृति को समझ लेंगे, तो देश, समाज, परिवेश और व्यक्तिगत संस्कृति को भी पहचान…
Read More...