Browsing Category

पर्यावरण

मानसून से होती तबाही की बढ़ती तीव्रता

देश की राजधानी दिल्ली में 31 अगस्त से ही जोरदार बारिश के कारण अनेक इलाकों में भारी जलभराव के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त है और 1 सितम्बर को भी भारतीय मौसम विज्ञान विभाग द्वारा दिल्ली-एनसीआर में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया। वैसे भी…
Read More...

सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है नारियल

विश्व नारियल दिवस हर साल 2 सितंबर को मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य लोगों को नारियल के महत्व और उपयोग के बारे में जागरूक करना और नारियल के उद्योग को कच्चे माल के रूप में उपयोग किए जाने को प्रोत्साहन देना है। इस दिवस को एशियाई प्रशांत…
Read More...

जलवायु परिवर्तन से बचपन पर मंडराया खतरा

बच्चे देश का भविष्य हैं जिन पर हमारी उमीदें टिकी हैं। आज उनका ही भविष्य सुरक्षित नहीं है। जलवायु परिवर्तन, वायु प्रदूषण और बढ़ते तापमान का सबसे अधिक असर बचपन पर देखा जा रहा है। कोरोना के कारण बच्चे पहले से अपने घरों में कैद है। यूनिसेफ की…
Read More...

तापमान में वृद्धि मानवता के लिए खतरा

पर्यावरण पर संयुक्त राष्ट्र की एक ताजा रिपोर्ट में दुनिया को साफ तौर पर चेताया गया है और कहा गया है हम ग्लोबल वार्मिंग पर अभी भी नहीं सम्भले तो यह खतरा बढ़ता ही जायेगा जिसके परिणाम खतरनाक होंगे। संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि ग्लोबल…
Read More...

बरसात में अरावली की सुरम्य पहाड़ियों की गोद में खिल उठता है उदयपुर

उदयपुर जिले का संपूर्ण क्षेत्र अरावली पहाड़ियों से घिरा होने से बरसात एवं सर्दियों में संपूर्ण जिला हरियाली चादर ओढ़ लेता है और प्राकृतिक नजारे सुंदर और मोहक हो जाते हैं। बरसात में उदयपुर के खिलते चित्ताकर्षक सौंदर्य को वही महसूस कर सकता है…
Read More...

जल प्रदूषण की चुनौतियां

पानी में हानिकारक वस्तुओं के मिश्रण से ही जल प्रदूषित होता है। प्रदूषित जल का सबसे भयंकर प्रभाव मानव स्वास्थ्य पर पड़ता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार सम्पूर्ण विश्व में प्रतिवर्ष एक करोड़ पचास लाख व्यक्ति प्रदूषित जल के कारण मृत्यु के…
Read More...

भारी पड़ेगी भूजल की अनदेखी

10 जून को विश्व भूगर्भ जल दिवस के रूप में मनाया जाता है। पेयजल का मुख्य स्रोत भूगर्भ जल ही है। भूजल वह जल होता है जो चट्टानों और मिट्टी से रिस जाता है और भूमि के नीचे जमा हो जाता है। जिन चट्टानों में भूजल जमा होता है, उन्हें जलभृत कहा…
Read More...

पर्यावरण और पारिस्थितिकी सुरक्षा

देश और दुनिया 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मना रही है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य पर्यावरण के प्रति लोगों में जागरुकता फैलाना है। पृथ्वी पर हमारे चारो ओर पाए जाने वाला जल, वायु, भूमि, पेड़, पौधे व जीव जंतुओं का समूह ही पर्यावरण कहलाता…
Read More...

दावानल की ताप से धधके जंगल

ग्रीष्म ऋतु के आगमन के साथ ही जंगलों में आग लगने की घटना में भी तेजी से इजाफा होने लगा है। उत्तराखंड, उड़ीसा, मध्य प्रदेश, हिमाचल सहित अनेक राज्यों में इन दिनों भीषण अग्निकांड हुए जिनमें करोड़ों अरबों की वन संपदा जंगलों में लगी आग से खाक हो…
Read More...

हिमालय देवभूमि को सुरक्षित रखना समय की जरूरत

उत्तराखंड के चमोली जिले में एक ग्लेशियर के फटने के बाद आई बाढ़ की वजह से वैज्ञानिक समुदाय अब भी यह समझने के लिए संघर्ष कर रहा है कि येआपदा किस वजह से हुई। इसका उत्तर इतिहास के साथ-साथ वर्तमान विकास संबंधी मुद्दों पर भी है, हम इस बात को…
Read More...