दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मिड-डे मील योजना के तहत सूखा राशन किट वितरित किया

विपरीत परिस्थितियों में भी निगम हर क्षेत्र की जिम्मेदारियों का निर्वहन पूरी निष्ठा और सेवा-भाव से कर रहा है

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आज छावला स्थित दक्षिणी दिल्ली नगर निगम प्राथमिक कन्या विद्यालय कुतुब विहार में मिड-डे मील योजना के तहत सूखे राशन किट का वितरण किया। इस अवसर पर दक्षिणी दिल्ली नगर निगम महापौर अनामिका मिथिलेश सिंह, स्थाई समिति अध्यक्ष राजदत्त गहलोट, प्रदेश मीडिया सह-प्रमुख हरिहर रघुवंशी, अति. आयुक्त शिक्षा ए.ए. ताजिर, जिला अध्यक्ष विजय सोलंकी, पार्षद नीतिका शर्मा, सुमन डागर, पवन शर्मा उपस्थित थे। कार्यक्रम संयोजक शिक्षा समिति अध्यक्ष मुकेश सूर्यान थे।

प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की टीम को बधाई देते हुए कहा कि इच्छाशक्ति और दृढ़ संकल्प के बल पर हम हर कार्य को सफल बना सकते हैं और आज सूखे राशन किट का वितरण भी उसी का उदाहरण है। सभी भलीभांति अवगत हैं कि नगम निगम आर्थिक तंगी से जूझ रहा है क्योंकि केजरीवाल सरकार निगम कर्मियों को वेतन देने के लिए जनता द्वारा दिए गए फंड के पैसों को जारी नहीं कर रही है, इस विपरीत परिस्थिति में भी निगम लोगों की सहायता करने का हर प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल को लगता है कि निगम के फंड का पैसा उनका पैसा है जिसे वह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाकर अपने प्रचार में खर्च कर सकते हैं, लेकिन वह पैसा निगम के डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ कर्मी, सफाई कर्मी, शिक्षक के वेतन का पैसा है। तीनों निगम संवैधानिक रूप से आवंटित फंड की ही मांग कर रहे हैं ताकि वह समय पर निगम कर्मियों को वेतन दे सके और उनका काम प्रभावित न हो।

आदेश गुप्ता ने कहा कि कोरोना संकट के बीच बीच दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने स्कूलों में 1 लाख 30 हजार बच्चों का ऑनलाइन दाखिला लिया है और उन्हें ऑनलाइन क्लास के जरिए शिक्षा देने का कार्य किया है। निगम के स्कूलों के बच्चे खेल-कूद प्रतियोगिता में भी अव्वल आ रहे हैं। मुख्यमंत्री केजरीवाल द्वारा निगम को पंगु बनाने की तमाम कोशिशों के बाद भी तीनों निगम हर क्षेत्र की जिम्मेदारी को पूरी निष्ठा और सेवा-भाव से पूरा कर रहा है, चाहे डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया जैसी जानलेवा बीमारियों से दिल्लीवासियों को बचाना हो या फ्रंटलाइन वारियर के रूप में कोरोना संकट के बीच अपने स्वास्थ्य की परवाह किए बगैर लोगों की सेवा करने का कार्य हो। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल निगमों का बकाया फंड देने की बजाय उन पैसों से दूसरे राज्यों में आम आदमी पार्टी का विस्तार करने में व्यस्त हैं, अपने मंत्रियों के पॉलिटिकल टूर पर खर्च कर रहे हैं क्योंकि उनकी नीयत में खोट है। लेकिन हमने भी ठान लिया है कि निगम कर्मियों के हक का पैसा केजरीवाल सरकार से लेकर रहेंगे और दिल्लीवासियों के बीच मुख्यमंत्री केजरीवाल के दोहरे चरित्र और स्वार्थपरता को उजागर करेंगे।

अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए घोषित पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना का जिक्र करते हुए आदेश गुप्ता ने कहा कि हर वर्ग, समाज के बच्चों को बेहतर शिक्षा मिले इस दिशा में मोदी सरकार निरंतर कार्यरत है। अनुसूचित वर्ग से आने वाले बच्चों की पढ़ाई पर अब पहले के मुकाबले हर साल पांच गुना ज्यादा राशि खर्च होगी। साथ ही इसे लेकर संचालित योजना पर अगले पांच सालों में 59 हजार करोड़ से ज्यादा राशि खर्च की जाएगी। बच्चों के लिए उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा सुनिश्चित करना मोदी सरकार की महत्वपूर्ण प्राथमिकता है।

कार्यक्रम में शिक्षा समिति उपाध्यक्ष राधिका अब्रोल, वार्डस समिति उपाध्यक्ष सुषमा गोदारा, शिक्षा निदेशक शिरीष शर्मा, उप निदेशक अनीता नौडियाल, उपायुक्त राधा कृष्ण, शिक्षा समिति सदस्य आरती सिंह, दर्शना, यशपाल आर्य, धीरेंद्र कुमार उपाध्याय, प्रो. राजबीर शर्मा सहित प्रदेश, जिला, मंडल व निगम के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.