प्राथमिक विद्यालय के 17 हजार छात्रों ने सीखा “बरेली का हुनर”

लखनऊ में आपरेशन कायाकल्‍प ने बदली 1450 स्‍कूलों की सूरत

नवेन्दु सिंह                                               लखनऊ/बरेली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्रों के सर्वागीण विकास का सपना साकार हो रहा है। पढ़ाई के साथ-साथ परिषदीय विद्यालयों के छात्र दूसरी विद्याओं में भी अपना जलवा बिखेर रहे हैं। बरेली के परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले 17 हजार छात्रों ने बरेली का हुनर पोर्टल से जुड़कर नृत्य, गायन, योगा, पेंन्टिग, क्राफ्ट कला जैसे हुनर में महारत हासिल कर ली है।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के प्राथमिक विद्यालयों के कायाकल्‍प की योजना जमीन पर दिखना शुरू हो गई है। अकेले बरेली में 1451 स्‍कूलों का कायाकल्‍प किया जा चुका है। इसके अलावा प्रदेश में 60 हजार से अधिक परिषदीय स्‍कूलों का कायाकल्‍प किया जा चुका है। 2022 तक प्रदेश के सभी प्राथमिक विद्यालयों की आपरेशन कायाकल्‍प के जरिए तस्‍वीर बदल दी जाएगी। वहीं, बीएसए लखनऊ दिनेश कुमार ने बताया कि लखनऊ में 1648 प्राथमिक व उच्‍च प्राथमिक विद्यालयों में से करीब 1450 स्‍कूलों का आपरेशन कायाकल्‍प के जरिए रंगत बदली जा चुकी है।

बरेली में आपरेशन कायाकल्प के तहत 1451 विद्यालयों के 8646 कक्षाओं में टाइलीकरण, 754 स्कूल शौचालयों का जीर्णेाद्धार, 1070 स्कूलों में मल्टीपल हैंडवाश सिस्टम का निर्माण कराया गया है। बच्चों के अन्दर पठन-पाठन की प्रवृत्ति को बढ़ावा के लिए पंचायत भवनों का जीर्णोद्धार कर 200 पुस्तकालयों की स्थापना की गई है। इसमें बच्‍चों के लिए प्रतियोगी पुस्‍तकें व समाचार पत्र पढ़ने के लिए उपलब्‍ध रहते हैं।

बीएसए बरेली डॉ अमरकांत ने बताया कि बच्चों की खेलकूद में रुचि बढ़ाने के लिए 75 स्कूलों में मनरेगा पार्क एवं ओपन जिम विकसित किए गए हैं। 750 स्कूलों में बाउंड्री वॉल का कार्य मनरेगा के अंतर्गत कराया गया है। स्‍कूलों में जनप्रतिनिधियों के सहयोग से फर्नीचर की व्‍यवस्‍था की गई है। कोविड काल में बच्चों की प्रतिभाओं को मंच देने के लिए बरेली का हुनर नामक पोर्टल बनाया गया, जिसके माध्यम से 17000 से अधिक बच्चों को अलग-अलग विद्याओं जैसे- नृत्य, गायन, योगा, पेंन्टिग, क्राफ्ट कला आदि सिखाया गया।

अधिकारियों के मुताबिक शिशुओं के सर्वागीण विकास, पोषण एवं शालापूर्व शिक्षा को सुनिश्चित करने के लिए मिशन मुस्कान के तहत 1000 आंगनबाड़ी केन्द्रों का जीर्णोद्धार कराया गया है। इसमें आंगनबाडी केन्द्रों की मरम्मत, रगांई, पुताई, टाइलीकरण तथा वाल पेन्टिग आदि का कार्य किया गया। शिशुओं तथा धात्री महिलाओं को ताजी तथा पौष्टिक सब्जियों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए मनरेगा से 400 पोषण वाटिका तैयार कराई गई हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करने के लिए जन समुदाय केन्‍द्र उनके घर के समीप गुणवत्ता परक स्वास्थ्य सुविधायें प्रदान करने के उद्देश्य से 208 नये हेल्थ एण्ड वेसनेस सेन्टर का निर्माण कराया जा रहा है।

बरेली निवासियों को बेहतर स्‍वस्‍थ्‍य सुविधाएं देने के लिए जिला प्रशासन की ओर से 178 उपस्वास्थय केन्‍द्रों के जीर्णोद्धार की कार्ययोजना तैयार की जा चुकी है। इसके अलावा आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत 2,36,000 बीपीएल परिवारों के 31039 मरीजों को लाभ दिया जा चुका है, जो कि पूरे प्रदेश में सवार्धिक है। वहीं, माननीय मुख्यमंत्री द्वारा बरेली में 442 करोड़ से अधिक लागत की 60 परियोजनाओं का लोकार्पण एव 519 करोड़ की 51 परियोजनाओं का शिलान्यास किया जा रहा है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.