राज्य में यूथ पार्लियामेंट का आयोजन

युवाओं की आवाज होंगी बुलंद

@ chaltefirte.com      जयपुर। राष्ट्रीय युवा महोत्सव, 2021 के तहत राज्य में चार स्थानों जयपुर, कोटा, जोधपुर एवं उदयपुर से यूथ पार्लियामेंट आयोजित होगी। इन जिलों से वर्चुअल मोड़ पर आयोजित होने वाली यूथ पार्लियामेंट से राज्य के अन्य जिलों से युवा प्रतिभागी भी जुड़ सकेंगे। इन स्थानों से प्रत्येक जिला स्तरीय श्रेष्ठ वक्ताओं का चयन राज्य स्तर पर और राज्य स्तर पर आयोजित होने वाली यूथ पार्लियामेंट के विजेताओं को राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली यूथ पार्लियामेंट से जुड़ने का मौका मिलेगा। नेशनल यूथ पार्लियामेंट नई दिल्ली, स्थित संसद भवन के सेन्ट्रल हॉल में 12-13 जनवरी को होगा।
भारत सरकार के नेहरु युवा केंद्र संगठन राजस्थान के राज्य निदेशक डॉ भुवनेश जैन ने बताया कि राज्य में 26 दिसंबर को जयपुर, 27 दिसंबर को कोटा, 28 दिसंबर को जोधपुर एवं 29 दिसंबर उदयपुर से यूथ पार्लियामेंट आयोजित होगी। जयपुर केंद्र से जयपुर, टोंक,अजमेर, सीकर, अलवर, दौसा, झुंझनु, कोटा केंद्र से कोटा, बारां, झालावाड़, बूंदी, करौली, धोलपुर, भरतपुर, सवाई माधोपुर, जोधपुर केंद्र से जोधपुर, बाड़मेर, बीकानेर, जालौर, चूरू, हनुमानगढ़, श्री गंगानगर, जैसलमेर, नागौर, उदयपुर केंद्र से उदयपुर, चित्तोड़गढ़ , राजसमंद, सिरोही, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, भीलवाड़ा, पाली एवं प्रतापगढ़ के जिले के युवा जुड़ सकेंगे। प्रत्येक जिले से प्रथम एवं द्वितीय विजेता राज्य स्तरीय यूथ पार्लियामेंट में भाग लेंगे।
यूथ पार्लियामेंट में 18 वर्ष से 25 वर्ष के बीच की आयु के युवा भाग ले सकेंगे। 30 नवम्बर, 2020 को 18 वर्ष से उपर की आयु का हो। यूथ पार्लियामेंट में प्रतिभागी युवा को चार चार मिनट भाषण देने का अवसर मिलेगा। जिला युवा संसद के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 भारत की शिक्षा में परिवर्तन लाएगी, उन्नत भारत अभियान समुदाय की शक्तियों को बढ़ावा देना और उनके उत्थान के लिए प्रोधोगिकी का उपयोग करना, नए परिदृश्य में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाना एवं शून्य बजट वाली प्राकृतिक खेती किसानों के लिए एक वरदान विषय तय किये गए हैं। प्रतिभागी किसी भी विषय पर अपना भाषण प्रस्तुत कर सकता है। जूरी में सांसद या विधायक या प्रमुख राजनेता, कार्यरत या सेवानिवृत सरकारी अधिकारी, कलाकार, पत्रकार एवं लेखक, अकादमिक क्षेत्र से सम्मिलित किये जायेगें।
यूथ पार्लियामेंट का उद्देश्य युवाओं की आवाज को जिला, राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर सुनना, सार्वजनिक मुद्दों से जुड़ने के लिए प्रेरित करना, एक आम व्यक्ति के नजरिये को समझना, निर्णय लेने की क्षमता का विकास करना, दूसरे के विचारों का सम्मान करना और सहनशीलता विकसित करनी, कानून और नियमों का सम्मान करना, युवाओं के विचारों को नए भारत के विजन में दस्तावेजीकरण करना, उनके विचारों को नीति निर्माताओं को एवं क्रियान्वयन करने वालों को उपलब्ध कराना है।
चार जिला केन्द्रों से राज्य के समस्त जिलों को जोड़ने के लिए नेहरू युवा केंद्र के महेश कुमार शर्मा जिला युवा अधिकारी जयपुर, महेंद्र सिंह सिसोदिया जिला युवा अधिकारी कोटा, राजेश चौधरी जिला युवा अधिकारी जोधपुर एवं पवन घोषालिया जिला युवा अधिकारी उदयपुर को संयोजक नियुक्त किया गया है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.