सचिन तेंदुलकर ने बताया बल्लेबाजी के दौरान क्या तकनीकी गलती कर रहे हैं पृथ्वी शॉ

नई दिल्ली टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ पिछले कुछ समय से अपनी खराब फॉर्म के चलते आलोचनाओं का शिकार होते रहे हैं। बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के पहले टेस्ट मैच में शॉ पहली पारी में बिना खाता खोले आउट हुए, जबकि दूसरी पारी में महज चार रन ही बना पाए। इससे पहले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ भी शॉ का बल्ला शांत ही रहा था। टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने एक बार कहा था कि शॉ में उन्हें सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग और ब्रायन लारा तीनों की झलक दिखती है। कोविड-19 ब्रेक के बाद शॉ जब से क्रिकेट के मैदान पर लौटे हैं, लगातार असफल हो रहे हैं। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने बताया है कि शॉ से कहां चूक हो रही है।
21 वर्षीय शॉ ने टेस्ट करियर का शानदार आगाज किया था, लेकिन इस तरह लगातार फेल होने से प्लेइंग XI में उनकी जगह छिन सकती है। शॉ की जगह शुभमन गिल को मौका दिए जाने की लगातार चर्चा हो रही है। तेंदुलकर ने आईएएनएस के साथ बातचीत के दौरान बताया कि तकनीकी तौर पर शॉ कहां गलती कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘पृथ्वी टैलेंटेड खिलाड़ी है, लेकिन मौजूदा समय में मुझे ऐसा लग रहा है कि उनके हाथ उनके शरीर से दूर रहकर शॉट खेल रहे हैं। इसलिए जब भी गेंद तेजी से बाहर जाती है, उसमें उनके आउट होने के चांस बढ़ जा रहे हैं। खेलते समय उनके हाथ उनके शरीर से पास होने चाहिए।’
उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि अगर वह गेंद को थोड़ा जल्दी खेलने की कोशिश करें तो उन्हें मदद मिलेगी। दोनों पारी में जब वह आउट हुए तो उनके फ्रंट फुट सामने पड़े भी नहीं थे, जब गेंद ने उन्हें क्रॉस किया, ऐसा तब होता है, जब बल्लेबाज के दिमाग में काफी कुछ एकसाथ चल रहा हो या फिर उन्हें शॉर्ट गेंद की उम्मीद होती है।’ सभी फॉर्मैट को मिलाकर बात करें तो शॉ ने पिछली 13 पारियों में महज एक बार 20 से ज्यादा रन बनाए हैं।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.