शहर के विकास कार्य गुणवत्ता के साथ समय पर पूरे हो- शांति धारीवाल

स्वायत्त शासन मंत्री ने किया विकास कार्यों का निरीक्षण

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल, कोटा
कोटा। स्वायत्त शासन नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने सोमवार को शहर में चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण कर अधिकारियों को कार्यो की गुणवत्ता की नियमित निगरानी के साथ समय पर पूरा कराने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रातः 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक कार्यस्थलों पर पहुंचकर वर्तमान प्रगति के साथ भविष्य में आम लोगों के हित में होने वाले सुधार के बारे में चर्चा कर प्रत्येक कार्य का बारीकी से निरीक्षण किया।
स्वायत्त शासन मंत्री ने कलेक्ट्रेट सर्किल के सौंदर्यकरण का निरीक्षण कर प्राचीन स्वरूप को बरकरार रखते हुए उसकी ऊँचाई बढ़ाने तथा दोनों तरफ हाथी की प्रतिमा लगाकर नये रूप के साथ उभार देने के निर्देश दिए। इस सर्किल पर कलेक्ट्रेट से अदालत परिसर एवं पार्किंग स्थल तक आने व जाने के लिए एक्सीलेटर लगाने के भी निर्देश दिए।
उन्होंने विवेकानन्द सर्किल का निरीक्षण करते समय निर्देश दिए कि विवेकानन्द की प्रतिमा की ऊँचाई और चौड़ाई मूल स्वरूप से बढ़ाई जाये। आर्किटेक्ट अनुप भरतिया ने मौके पर विभिन्न नक्शों के माध्यम से भविष्य में कार्य पूर्ण होने पर सम्पूर्ण क्षेत्र में आने वाले परिवर्तन व स्वरूप के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस सर्किल पर चम्बल की तरफ से आने वाले मार्ग के अनुसार एलाईमेंट सही किया जायेगा। सर्किल के चारों तरफ सभी मार्गों के भवनों का फसाड़ बदलकर हैरिटेज स्वरूप में तैयार किया जायेगा। स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि यह कोटा शहर का भव्य प्रवेश सर्किल की भांति दिखाई दे इसके लिए सभी भवनों में एकरूपता के साथ साईनेज भी एक ही प्रकार के दिखाई दे। उन्होंने सर्किल पर पंकज होटल की तरफ बड़ी स्क्रीन भी लगाने के निर्देेश दिए ताकि बाहर से आने वाले पर्यटकों, आगन्तुकों को कोटा के स्मार्ट सिटी का अहसास हो सके।
उन्होंने सीवी गार्डन का निरीक्षण किया जहां आगामी दो माह के अन्दर 6 हजार पौधे लगाने तथा सभी खाली जगहों पर बड़े-बड़े नीम, पीपल, अमलतास, पीलू व चम्पा के पौधे लगाने के निर्देश दिए। भ्रमण पथ पर उन्होंने दूरी का माइल स्टोन लगाने तथा दोनों तरफ रंगीन पत्तियों वाले छोटे पौधे लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामीण हाट की खाली भूमि का उपयोग करते हुए इसकी पेमाइश कर विवेकानन्द सर्किल पर अनावश्यक रूप से खड़े होने वाले वाहनों के पार्किंग के रूप में उपयोग लेने का प्लान बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने एरोड्राम सर्किल पर चल रहे अण्डरपास एवं ओवरब्रिज के निर्माण कार्य को निर्धारित मापदण्ड के अनुसार जांचा और परखा। उन्होंने इस कार्य को तय समय सीमा में पूरी गुणवत्ता के साथ पूरा करने के निर्देश दिए।
स्वायत्त शासन मंत्री ने ऑक्सीजोन पार्क में खुली जीप्सी में बैठकर सम्पूर्ण परिसर का बारीकी से निरीक्षण किया। सघन वृक्षारोपण के साथ अनेक महत्वपूर्ण कार्यों, प्रवेश द्वार, सेव द अर्थ प्लाजा, साइंस म्यूजियम, पिरामिड्स, काईनेटिक टावर, ग्लास हाउस, ट्री-मेन सर्किल, कैनाल व लैक के कार्य का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए तथा समय पर पूरे कराने की बात कही। उन्होंने सिटी मॉल के सामने चल रहे ओवर ब्रिज के निर्माण कार्य का तय समय सीमा पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि श्रमिकों की संख्या बढ़ाई जाकर विकास कार्य को गति प्रदान की जाये। उन्होंने अनन्तपुरा ओवरब्रिज के निर्माण कार्य को नवम्बर 2021 तक पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने शहर में चल रहे विकास कार्यो की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया।
उन्होंने देवनारायण नगर आवासीय पशुपालक योजना का भी निरीक्षण कर सम्पूर्ण परिसर में बनाये जा रहे आवास, सामुदायिक भवन, अस्पताल, विद्यालय, एवं तालाब निर्माण कार्य को बारीकी से देखा तथा इस योजना को देश की सबसे बेहतरीन योजना बताते हुए पशुपालकों को एक ही स्थान पर सभी सुविधाऐं विकसित करने के निर्देश दिए। पशुपालकों द्वारा देवा भड़क के नेतृत्व में स्वायत्त शासन मंत्री का स्वागत कर योजना विकसित करने पर आभार व्यक्त किया।
इस अवसर पर जिला कलक्टर उज्ज्वल राठौड़, यूआईटी के ओएसडी आरडी मीणा, सचिव राजेश जोशी, अतिरिक्त मुख्य अभियंता ओपी वर्मा, आर्किटेक्ट अनूप भरतिया सहित सभी अभियंतागण उपस्थित रहे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.