कृषि कानूनों की आड़ में विपक्षी पार्टियां प्रधानमंत्री मोदी को कर रहे हैं बदनाम-रमेश बिधूड़ी

नई दिल्ली। कृषि कानूनों की जानकारी और उससे होने वाले लाभ के बारे में अवगत कराने के लिए दक्षिणी दिल्ली सांसद रमेश बिधूड़ी द्वारा निकाली गई किसान कल्याण कानून समर्थन यात्रा सफल रही। तीन दिनों की यात्रा में सांसद रमेश बिधूड़ी 14 गांवों का पैदल दौरा किया और यह यात्रा अंबेडकर नगर विधानसभा की देवली चौपाल से शुरू होकर राजू पार्क, जवाहर पार्क, कृष्ण पार्क, दुग्गल कॉलोनी व खानपुर गांव होते हुए मदनगीर गांव की तरफ गई उसके बाद दक्षिणपुरी डीडीए फ्लैट होते हुए यह यात्रा महरौली विधानसभा के साकेत, नेब सराय, महरौली शमशी तालाब, वसंत कुंज होते हुए रजोकरी गांव में समाप्त हुई। इस यात्रा के 16 किलो मीटर के सफर को सांसद बिधूड़ी ने पैदल पूरा किया। किसान कल्याण कानून समर्थन यात्रा के दौरान दिल्ली प्रदेश भाजपा के संगठन महामंत्री सिद्धार्थन भी उपस्थित रहें।

इस यात्रा के दौरान सांसद रमेश बिधूड़ी ने खानपुर गांव की चौपाल व लाडो सराय गांव में जनसभा को संबोधित किया और विपक्षी पार्टियों पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि कृषि कानून की आड़ में विपक्षी दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 6 साल के अपने कार्यकाल में अनेक ऐसे कार्य किए जो बीते 70 वर्षों में विपक्षी पार्टियां नहीं कर पाई। जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35 ए हटाकर जम्मू कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाया ताकि यहां भारत के सभी कानून लागू हो सके। देश में राम मंदिर का मुद्दा पिछले 70 सालों से लटका हुआ था, केंद्र की मोदी सरकार ने राम मंदिर के इस जटिल मुद्दे को हल किया। देश की तमाम विपक्षी पार्टियां चाहे वह कांग्रेस हो या आम आदमी पार्टी और वामपंथी सभी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता से तकलीफ है। किसान आंदोलन की आड़ में विपक्षी देश के खिलाफ काम कर रहे हैं, जबकि देश के किसान इस कानून के समर्थन में है। बहुत सारे विपक्षी पार्टीयों के लोग यह कह रहे हैं कि दिल्ली में किसान नहीं रहते हैं, उनको यह बता देना चाहता हूं कि दिल्ली में 50 फीसदी से भी अधिक लोग कृषि क्षेत्र से जुड़े हैं।

सांसद बिधूड़ी ने आगे कहा कि कृषि कानून किसानों को कर्ज से मुक्ति दिलाने में अहम होगा। इस कानून में सिर्फ किसान की फसल का ही एग्रीमेंट होगा न कि उसकी जमीन का। किसी भी तरीके का विवाद जिला न्यायाधीश को 30 दिनों में करना होगा। जनसभाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में रह रहे किसानों को बिजली सस्ते दामों पर उपलब्ध नहीं करवाई है। दिल्ली में लगभग 365 गांव है और इन सभी गांवों के लोग कृषि कानून को लेकर सरकार का भरपूर समर्थन कर रहे हैं। आंदोलनकारी लोगों का इरादा ठीक नहीं है। देश के प्रधानमंत्री ने स्वयं लोगों को आश्वासन दिया है कि यह कृषि कानून किसानों के हित में है। इसका असर बड़े पैमाने पर किसान संगठनों पर पड़ा है। इसी वजह से अधिकतर किसान संगठन आंदोलन से पीछे हट गए हैं। जबकि कुछ लोग अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए इस आंदोलन की आड़ लेना चाह रहे हैं। गृहमंत्री व कृषि मंत्री कई बार किसानों से मिल चुके हैं और केंद्र सरकार ने किसानों से कानून को लेकर चर्चा करने के लिए रास्ते खुले छोड़ हुए हैं। दिल्ली व देश के लोग जानते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों के हितों में कार्य कर रहे हैं।

किसान कल्याण कानून समर्थन यात्रा में भाजपा के महरौली जिला के अध्यक्ष जगमोहन महलावत व अंबेडकर नगर विधानसभा से पूर्व निगम पार्षद सत्येंद्र चौधरी, पूर्व मेयर खुशीराम, निगम पार्षद सुरेश गुप्ता, सुंदर धारीवाल, चंद्रपाल बैरवा, प्रेम कुमार, संजय इसके अलावा महरौली विधानसभा से मनोज शर्मा, कमल पंचाल, लोकेश चावला व योगेश के अलावा भारी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता व स्थानीय लोग उपस्थित रहे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.