प्रभु श्रीराम भारतीय संस्कृति व मूल्यों के प्रतीक हैं-आदेश गुप्ता

उनके आदर्श सदैव समस्त भारतवर्ष की आत्मा के अटूट अंग बने रहेंगे

नई दिल्ली। धर्म जागरण परिषद द्वारा पश्चिम विहार के मीरा बाग में अयोध्या में हो रहे प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण हेतु आयोजित “श्री राम नाम जप संकल्प सभा“ में दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि प्रभु श्रीराम भारतीय संस्कृति व मूल्यों के प्रतीक हैं। उनके आदर्श सदैव समस्त भारतवर्ष की आत्मा के अटूट अंग बने रहेंगे।

प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि हम सभी का सौभाग्य है कि हम प्रभु श्री राम जन्मभूमि के मंदिर निर्माण के साक्षी बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि संकल्प के साथ जब देशवासी श्री राम मंदिर निर्माण के आंदोलन से जुड़े थे तब सिर्फ एक ही नारा हमारे मन मस्तिष्क में गूंजता था कि राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे। और अंततः राम नाम जप का हमारा संकल्प प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण के साथ ही पूरा होने जा रहा है। राम मंदिर किसी स्वार्थ के लिए नहीं बल्कि करोड़ों देशवासियों की आस्था के लिए बनाया जा रहा है। सदियों पहले विदेशी आक्रांताओं ने श्री राम मंदिर को तुड़वाया था तब सिर्फ ईंट पत्थर से बना मंदिर नहीं टूटा था बल्कि हमारी आस्था स्वाभिमान और संस्कृति का मंदिर सभ्यता और आध्यात्मिकता का प्रतीक राम मंदिर तोड़ा गया।

उन्होंने कहा कि श्री राम मंदिर निर्माण के 500 वर्षों के संघर्ष में न जाने कितने लोगों ने अपने प्राण की आहुति दी होगी, लेकिन आंदोलन थमा नहीं। जिस तरह लंका पर विजय पाने के लिए, बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए प्रभु श्रीराम ने पूरे देश को एकजुट किया उसी तरह प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण के लिए पूरा देश एकजुट हुआ जिसका सुखद परिणाम श्री राम मंदिर निर्माण के रूप में सामने आया। उन्होंने कहा कि प्रभु श्रीराम सकारात्मक ऊर्जा के प्रतीक हैं और राम नाम का जप करने से नकारात्मक शक्तियां व्यक्ति से दूर रहती है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.