दिल्ली के किसानों ने खोली केजरीवाल सरकार के झूठ की पोल

नई दिल्ली। करोड़ों खर्च करके केजरीवाल सरकार यह प्रचार क रही है कि वह दिल्ली के किसानों को पराली से खाद बनाने की दवा बांट रही है, जिससे खाद बन रही है जो असल में एक फरेब मात्र है, किसानों को ऐसी कोई दवा केजरीवाल सरकार की ओर से मिली ही नहीं जिससे खाद बनती हो। आज दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता और नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने केजरीवाल सरकार के झूठ के खिलाफ पोल खोल अभियान के तहत मीडिया कर्मियों के साथ नरेला विधानसभा के घोघा गांव, बवाना विधानसभा के दरियापुर, हरेवली, नागल, बाजीपुर और माजरा डबास के कृषि क्षेत्रों का दौरा कर रियलिटी चेक किया और किसानों की व्यथा सुनी। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष जयवीर राणा, प्रदेश किसान मोर्चा अध्यक्ष विनोद सहरावत, प्रदेश मीडिया प्रमुख नवीन कुमार सहित किसान मोर्चा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

इस दौरान किसानों ने दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता के सामने अपना दुखड़ा रोया और केजरीवाल सरकार की पर्ची दिखाते हुए बताया कि केजरीवाल सरकार की मंडी में उनसे 800-1000 रुपए प्रति क्विंटल गेहूं खरीदा गया। आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार पंजाब में जाकर दावा कर रही है कि वह किसानों को 2600 प्रति क्विंटल दे रही है। उन्होंने पूछा कि क्या केजरीवाल सरकार की नैतिकता खत्म हो चुकी है जो वह राजनीति के लिए अन्नदाता को धोखा दे रही है? उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने अन्य राज्यों में प्रचार के लिए बड़े-बड़े होर्डिंग लगाएं कि वह दिल्ली के किसानों को पराली से खाद बनाई जा रही हैं जिससे प्रदूषण मे कमी आ रही है जबकि दिल्ली के किसानों के खेतों में अभी तक एक ग्राम खाद भी नहीं बनी है, यदि कहीं बनी है तो बताएं। दूसरी ओर आज भी दिल्ली के खेतों में पराली के अम्बार लगे हुए है और केजरीवाल सरकार की ओर से कोई मदद ना मिलने के कारण किसानों को गेहूं की बुआई में देरी हो रही है। किसानों की समस्या बस यही नहीं है बल्कि केजरीवाल सरकार ने तो दिल्ली के किसानों को किसान का दर्जा ही नहीं दिया है, उन्हें कृषि उपकरणों की खरीद पर कोई सब्सिडी नहीं मिलती है, देश भर में सबसे महंगी बिजली दिल्ली के किसानों को मिलती है, उन्हें ट्यूबवेल लगाने की अनुमति तक नहीं है, जमीन की दाखिल खारिज की भी कोई व्यवस्था नहीं है।

आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार द्वारा किसानों पर मुकदमे किए जा रहे हैं और उनसे जुर्माना वसूला जा रहा है। उन्होंने कहा कि देशभर में केजरीवाल सरकार किसानों की हितैषी बनने का ढोंग करने के लिए किसानों को केंद्र सरकार द्वारा तय न्यूनतम समर्थन मूल्य से ज्यादा देने का प्रचार कर रही है लेकिन वास्तव में दिल्ली के किसानों को दिल्ली सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य भी नहीं दे रही है। झूठ और धर्म की राजनीति करने वाली केजरीवाल सरकार किसानों को धोखा देकर पूरे दिल्ली को अपमानित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार का यह नाटक दिल्ली भाजपा नहीं चलने देगी और किसानों के साथ किसी भी प्रकार का अन्याय नहीं होने देगी, दिल्ली भाजपा दिल्ली के किसानों के हितों और उनके हक की लड़ाई लड़ेगी और उन्हें किसानों का दर्जा भी दिलवाएगी।

नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री केजरीवाल के साथ सर्वदलीय बैठक में दिल्ली के किसानों की दुर्दशा का मुद्दा उठाया लेकिन मुख्यमंत्री केजरीवाल इस गंभीर मुद्दे को भी हंसकर टाल दिया। किसानों को धोखा देकर आखिर मुख्यमंत्री केजरीवाल इतना झूठा प्रचार क्यों कर रहे हैं? उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार के झूठ की पोल आज दिल्ली के किसानों ने खोल दी है। किसानों के नाम पर राजनीति करने वाली दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली में कहीं भी पराली से खाद नहीं बनायी जा रही। किसानों पर मुक़दमे दर्ज कर केजरीवाल सरकार द्वारा 50,000 रुपए जुर्माना लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज हमने केजरीवाल सरकार द्वारा किसानों को पराली से खाद बनाने की दवा बांटने के झूठ को बेनक़ाब किया है और अगर केजरीवाल सरकार ने किसानों से किए गए वादों पर अमल नहीं किया तो किसानों की हक की लड़ाई आंदोलन का रूप लेगी।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.