इन्नोवेशन में टीएमयू को दीपावली गिफ्ट

एफओईसीएस के कॉलेज ऑफ़ कम्प्यूटिंग साइंसेज़ ने नॉर्दर्न इंडिया में पाई 17वीं रैंक

 श्याम सुंदर भाटिया
तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद के फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग एंड कम्प्यूटिंग साइंसेज.एफओईसीएस ने रिसर्च एंड डवलपमेंट. आरएनडी की नॉर्दर्न इंडिया प्रतियोगिता में बड़ी उपलब्धि हासिल की है। मिनिस्ट्री ऑफ़ एजुकेशनए एमओई इन्नोवेशन सेल, इंस्टीटूशन्स इन्नोवेशन काउंसिल और एआईसीटीई के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस रिसर्च एंड डवलपमेंट प्रतियोगिता में 126 संस्थानों ने शिरकत की। इनमें तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी का कॉलेज .एफओईसीएस भी शामिल हुआ। इसने अपने रिसर्च एंड डवलपमेंट के बूते कॉलेज ऑफ़ कम्प्यूटिंग साइंसेज़ ने 17वीं जबकि इंजीनियरिंग कॉलेज ने 21वीं पोजीशन हासिल की है। विश्वविद्यालय के कुलाधिपति  सुरेश जैन, ग्रुप वाइस चेयरमैन  मनीष जैन और मेंबर ऑफ़ गवर्निंग बॉडी  अक्षत जैन ने कहा, नॉर्दर्न इंडिया की आरएनडी प्रतियोगिता में एफओईसीएस की 17वीं और 21वीं रैंक यूनिवर्सिटी के लिए बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने एफओईसीएस के निदेशक एवं प्राचार्य प्रोण् राकेश कुमार द्विवेदी और फैकल्टी मेंबर्स को हार्दिक बधाई देते हुए कहा, यूनिवर्सिटी की सर्वोच्च प्राथमिकता ही रिसर्च एंड डवलपमेंट है। वीसी प्रो रघुवीर सिंह बोले कि एफओईसीएस की उड़ान पर हमें गर्व है। एफओईसीएस के निदेशक प्रो द्विवेदी बोले अब हमारा लक्ष्य भविष्य में फाइव स्टार पाना है।

उल्लेखनीय है कि इस प्रतियोगिता में इंस्टीटूशन्स इन्नोवेशन काउंसिल और एमओई इन्नोवेशन सेल की ओर से 2019.20 के दोनों सत्रों में ऑफलाइन और ऑनलाइन एक्टिविटीज कराई गईं थीं। हर सत्र को दो क्वार्टर में विभाजित कर दिया गया था। इसमें ई.सेशंस, लीडरशिप टॉक आदि शामिल हैं। दोनों सत्रों में डेढ़ दर्जन से अधिक ई.सेशंस और इतने ही लीडरशिप टॉक हुए। लीडरशिप टॉक में शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक, यूजीसी के चेयरमैन डॉ डीपी सिंह, नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी चेयरमैन प्रो पार्थ चक्रवर्ती, महेंद्रा ग्रुप के चेयरमैन  आनंद महेंद्रा, एआईसीटीई के चेयरमैन प्रो अनिल डी सहस्रबुद्धे सरीखी हस्तियां शामिल रहीं। इसमें तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ़ कंप्यूटिंग साइंसेज एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ने 5 स्टार में से 4 स्टार प्राप्त किए हैं जबकि इंजीनियरिंग कॉलेज ने 5 स्टार में से 3.5 स्टार प्राप्त किए हैं। उपलब्धि पूर्ण संस्थानों की यह सूची यानी आईआईसी रेटिंग 2019.20 केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर पब्लिशड कर दी है।

यह मुकाम हासिल करने में कॉलेज के दो नेशनल अवार्ड की भी अहम भूमिका रही है। उल्लेखनीय है कि  स्मार्ट इंडिया हैकथॉन.2020 में कॉलेज की टेकहैकर्स और टेक्नोहैकर टीमों ने एक.एक लाख रुपए का अवार्ड जीता था। टेकहैकर्स की टीम ने एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया जबकि टेक्नोहैकर टीम ने बिहार के कृषि मंत्रालय की प्रॉब्लम स्टेटमेंट पर काम किया। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया और बिहार के कृषि मंत्रालय की ओर से दोनों विजेता टीमों को एक.एक लाख रुपए का अवार्ड मिला चुका है। स्मार्ट इंडिया हैकथॉन.2020 में देश भर के करीब पांच लाख छात्र.छात्राओं ने भाग लिया था। इनमें 220 टीमें चयनित की गई। अंततः स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2020. सॉफ्टवेयर एडिशन के ग्रैंड फिनाले के लिए टीएमयू तीन टीमें चयनित हुईंए जबकि दो टीमें अवार्ड के लिए चयनित हुईं थीं।

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटीए मुरादाबाद के फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग एंड कम्प्यूटिंग साइंसेज.एफओईसीएस के निदेशक एवं प्राचार्य प्रो राकेश कुमार द्विवेदी कहते हैं, यह रैंकिंग संकल्प, समर्पण और अनुशासन का प्रतिफल है। अब आईआईसी . 2021 की टॉप रैंकिंग में शुमार होना हमारा लक्ष्य है। रैंकिंग में सर्वोच्च स्थान पाने के लिए रात.दिन एक कर देंगे। हमारा मकसद प्रतिष्ठित नेशनल और इंटरनेशनल जर्नल्स में रिसर्च पब्लिकेशन और पेटेंट में और इजाफा करना है। 2019.20 में एफओई के 69 और सीसीएसआईटी के 53 रिसर्च पेपर्स इंटरनेशनल जर्नल्स में प्रकाशित हुए हैं। डॉ द्विवेदी कहते हैं, एफओईसीएस की झोली में बेशुमार उपलब्धियां हैं। हमारा कॉलेज अब तक आठ इंटरनेशनल कांफ्रेंस. स्मार्ट करा चुका है। हर साल होने वाली स्मार्ट में देश.विदेश के लब्ध.प्रतिष्ठित आईटी विशेषज्ञ अपने अनुभवों को साझा करते हैं। हम पेटेंट के क्षेत्र में भी बेमिसाल काम कर रहे हैं। अब तक भारत में दो दर्जन पेटेंट पब्लिशड हो चुके हैं, जबकि 11 पेटेंट ऑस्ट्रेलिया से ग्रांट हो चुके हैं। प्रो द्विवेदी इस बड़ी उपलब्धि को यूनिवर्सिटी को समर्पित करते हुए कहते हैं, कुलाधिपति  सुरेश जैन, जीवीसी  मनीष जैन और एमओजीबी अक्षत जैन के विजन और समय.समय पर बहुमूल्य सुझावों से हम हर लक्ष्य आसानी से पा लेते हैं।

 

 

 

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.