चीनी कंपनी श्याओमी को पछाड़कर सैमसंग बना स्मार्टफोन बाजार का ‘किंग’

नई दिल्ली। लॉकडाउन के बाद एक बार फिर से बाजार में तेजी देखी जा रही है। स्मार्टफोन सेगमेंट ने सितंबर तिमाही में वापसी की। इस दौरान दक्षिण कोरिया की दिग्गज टेक कंपनी सैमसंग ने भारतीय स्मार्टफोन बाजार में अपना परचम बुलंद किया। मार्केटिंग रिसर्च फर्म काउंटरपॉइंट के मुताबिक, दक्षिण कोरियाई ब्रांड ने 24 फीसदी हिस्सेदारी के साथ भारतीय स्मार्टफोन बाजार में सबसे आगे रहा। इसके बाद श्याओमी, वीवो, रियलमी और ओप्पो रहे।
काउंटरपॉइंट के मुताबिक, सैमसंग भारतीय स्मार्टफोन बाजार में दो साल का सबसे बड़ा ब्रांड बना है। इस वक्त सैमसंग भारतीय स्मार्टफोन बाजार का किंग बन गया है जो कुछ वक्त पहले तक श्याओमी के पीछे रहा। लेकिन भारत में चीन के साथ जारी तनातनी और चीनी समानों के बहिष्कार का फायदा सैमसंग को मिलते हुए दिखाई दे रहा है।
स्मार्टफोन पर पकड़ रखने वाले विशेषज्ञ बताते हैं कि चीन विरोधी भावना का ज्यादा असर दिखाई नहीं दिया है। पूर्वी लद्दाख में चीन के रवैये लोग काफी नाराज थे लेकिन मोबाइल फोन के मामले में वह श्याओमी, रियलमी, ओप्पो, वीवो जैसे ब्रांड पर ही ज्यादा भरोसा जता रहे थे क्योंकि यह कंपनियां कम दाम में ग्राहकों को अच्छे फीचर उपलब्ध कराती है और सैमसंग भी यह समझ गया। जिसका लाभ आज के समय में वह भी उठा रहा है।
अब तक का सबसे ज्यादा शिपमेंट रहा
काउंटरप्वॉइंट के मुताबिक, भारत का स्मार्टफोन शिपमेंट सालाना आधार पर 9 फीसदी बढ़कर जुलाई से सितंबर तिमाही में 53 मिलियन यूनिट्स के ऊपर पहुंच गया। यह भारतीय स्मार्टफोन बाजार के लिए एक तिमाही में अबतक का सबसे बड़ा शिपमेंट रहा है। रिपोर्ट्स में कहा गया कि कंपनियों द्वारा लगातार बाजार को बढ़ाने की कोशिश, लॉकडाउन की वजह से रुकी हुई मांग और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स की मदद से यह ग्रोथ देखने को मिल रही है। क्योंकि कोरोना महामारी की वजह से शुरुआत में तो डिलिवरी भी बंद हो गई थी जिसके बाद से अचानक से बाजार बंद हो गया था लेकिन अब वह मजबूत स्थिति में दिखाई दे रहा है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.