RJD में टिकट के लिए नेता के नाम लिखना होता है बंगला-जमीन: देवेंद्र फडणवीस

भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी सह महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राजद में टिकट चाहिए तो नेता के नाम पर बंगला-जमीन लिखना पड़ता है। कांग्रेस में भी टिकट के लिए अनशन करना पड़ता है। जबकि भाजपा और एनडीए में जमीन पर कार्य करने वाले कार्यकर्ता को टिकट दिया जाता है। वे गुरुवार को डुमरा हवाई फिल्ड में सीतामढ़ी से भाजपा प्रत्याशी डॉ. मिथिलेश कुमार के नामांकन सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 15 साल के लालूजी के नेतृत्व वाली सरकार को सबने देखा है। उस राज का अपहरण उद्योग बन गया था। अनाचार, दुराचार, अत्याचार और भ्रष्टाचार का बोलबाला था। 15 साल में दुनिया आगे बढ़ी और बिहार पीछे खिसका। नीतीश कुमार व सुशील मोदी के नेतृत्व की एनडीए सरकार ने उन फासलों को भरने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि किसी राज्य के विकास के लिए सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली मूलभूत आवश्यकता होती है। राजग की सरकार ने इनसब पर काम किया है। महाराष्ट्र के पूर्व सीएम ने कहा कि अच्छी शिक्षा से बिहार आत्मनिर्भर बनेगा। वैसे भी जहां अच्छी शिक्षा होगी वहीं उद्योग धंधे आते हैं। जहां उद्योग धंधे होंगे वहां रोजगार भी होगा। यहीं कारण है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के लिए विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा कर मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज खोले हैं। उन्होंने कहा कि पीएम को गरीबी का अनुभव है। इसीलिए उनका सबसे अधिक प्यार बिहारियों से है।

सीतामढ़ी भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी सह महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राजद में टिकट चाहिए तो नेता के नाम पर बंगला-जमीन लिखना पड़ता है। कांग्रेस में भी टिकट के लिए अनशन करना पड़ता है। जबकि भाजपा और एनडीए में जमीन पर कार्य करने वाले कार्यकर्ता को टिकट दिया जाता है। वे गुरुवार को डुमरा हवाई फिल्ड में सीतामढ़ी से भाजपा प्रत्याशी डॉ. मिथिलेश कुमार के नामांकन सभा को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि 15 साल के लालूजी के नेतृत्व वाली सरकार को सबने देखा है। उस राज का अपहरण उद्योग बन गया था। अनाचार, दुराचार, अत्याचार और भ्रष्टाचार का बोलबाला था। 15 साल में दुनिया आगे बढ़ी और बिहार पीछे खिसका। नीतीश कुमार व सुशील मोदी के नेतृत्व की एनडीए सरकार ने उन फासलों को भरने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि किसी राज्य के विकास के लिए सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली मूलभूत आवश्यकता होती है। राजग की सरकार ने इनसब पर काम किया है।
महाराष्ट्र के पूर्व सीएम ने कहा कि अच्छी शिक्षा से बिहार आत्मनिर्भर बनेगा। वैसे भी जहां अच्छी शिक्षा होगी वहीं उद्योग धंधे आते हैं। जहां उद्योग धंधे होंगे वहां रोजगार भी होगा। यहीं कारण है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के लिए विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा कर मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज खोले हैं। उन्होंने कहा कि पीएम को गरीबी का अनुभव है। इसीलिए उनका सबसे अधिक प्यार बिहारियों से है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.