Unlock 5 के 14वें दिन देश में कोरोना के कुल मामलों में से 77 प्रतिशत 10 राज्यों से

नई दिल्ली देश में कोरोना वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए नौ करोड़ से अधिक नमूनों की जांच की जा चुकी है, वहीं संक्रमण की दर 8.04 प्रतिशत है और इसमें रिपीट इसमें ‘‘लगातार कमी’’ आ रही है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने कहा कि देशभर में लगातार बड़ी संख्या में जांच के कारण भी कोविड-19 मामलों को राष्ट्रीय स्तर पर कम करने में मदद मिली है। मंत्रालय ने कहा, ”यह इस बात का संकेत देता है कि संक्रमण के प्रसार को प्रभावी तरह से नियंत्रित किया जा रहा है।’’ इसने कहा कि बीस राज्यों और केंद्रशासित क्षेत्रों में संक्रमण के मामलों की दर राष्ट्रीय औसत से कम है। संक्रमण के मामलों की दर 8.04 प्रतिशत है और इसमें लगातार गिरावट आ रही है। भारत में हाल के दिनों में संक्रमण से ठीक होने के मामले नए मामलों की तुलना में अधिक हैं। मंत्रालय ने कहा कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 8,26,876 है, जो कुल मामलों का 11.42 प्रतिशत है। कोविड-19 के लिए मंगलवार को 11,45,015 नमूनों की जांच की गई, जबकि देशभर में 13 अक्टूबर तक कुल 9,00,90,122 नमूनों की जांच की जा चुकी है। मंत्रालय ने कहा कि 24 घंटों के दौरान सामने आए 63,509 नए मामलों में से 77 प्रतिशत मामले 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से हैं जिनमें केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा शामिल हैं।
यूपी में रिकवरी की दर 90 प्रतिशत से अधिक
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि कोविड-19 के मामलों में प्रदेश का रिकवरी रेट 90 प्रतिशत से अधिक हो गया है। सरकारी बयान के मुताबिक मुख्यमंत्री बुधवार को लोक भवन में एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिया कि शासन स्तर पर स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी जनपद लखनऊ, वाराणसी, मेरठ और मथुरा के जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से नियमित संवाद स्थापित करते हुए कोविड-19 के नियंत्रण के सम्बन्ध में उनका मार्गदर्शन करें। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 का प्रभावी टीका आने तक कोई ढिलाई ना बरती जाए। एहतियात के मूल मंत्र के साथ ही भविष्य में भी इस बीमारी के खिलाफ जंग जारी रहेगी। मरीजों की सुविधा के लिए एम्बुलेंस सेवा सक्रियता से कार्य करे।’’ मुख्यमंत्री ने न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना के तहत स्थापित धान खरीद केन्द्रों को प्रभावी तरीके से संचालित करते हुए किसानों की अधिक से अधिक उपज की खरीदी की जाए। किसानों को सभी सहूलियतें उपलब्ध कराने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि धान बेचने वाले सभी किसानों के खाते में 72 घण्टे के अन्दर भुगतान की धनराशि अन्तरित कर दी जाए। उन्होंने कहा कि सब्जी और दालों के मूल्य को नियंत्रित करने के लिए सभी जिलाधिकारी अपने-अपने जनपदों में प्रभावी कार्यवाही करें।
हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष संक्रमित
हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। परमार ने फेसबुक पर पोस्ट कर कहा कि वह दो दिनों से कोरोना वायरस के लक्षण महसूस कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘मैं डॉक्टरों की सलाह पर अपने आधिकारिक निवास पर पृथकवास में हूं।’’ अब तक विधानसभा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सहित 13 विधायक वायरस की चपेट में आए हैं। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर सोमवार को कोविड-19 से संक्रमित पाए गए जबकि मंगलवार को तकनीकी शिक्षा मंत्री राम लाल मार्कंड में संक्रमण की पुष्टि हुई।
राजस्थान में संक्रमण से 15 और मौतें
राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से बुधवार को 15 और लोगों की मौत हो गई जिससे राज्य में संक्रमण से कुल मरने वालों का आंकड़ा 1694 तक पहुंच गया। जबकि 2021 नये मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमितों की अब तक कुल संख्या 1,65,240 हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि बुधवार शाम छह बजे तक के बीते 24 घंटों में राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से 15 और मौत हुई हैं। जिससे मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 1694 हो गयी। जयपुर में कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक 342, जोधपुर में 160, बीकानेर में 126, अजमेर में 122, कोटा में 109, भरतपुर में 86 व पाली में 73 मौत हो चुकी हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में अब तक कुल 1,41,835 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक हो चुके हैं। इसके साथ ही बुधवार को संक्रमण के 2021 नये मामले सामने आने से राज्य में इस घातक वायरस से संक्रमितों की अब तक की कुल संख्या 1,65,240 हो गयी जिनमें से 21,711 रोगी उपचाराधीन हैं। नये मामलों में जयपुर में 387, बीकानेर में 293, जोधपुर में 271, अलवर में 126, अजमेर में 109, कोटा में 90, नागौर में 86, चूरू में 82, उदयपुर में 72, भरतपुर में 60 नये संक्रमित शामिल हैं।
संक्रमित होने पर भी रेल यात्रा करने पर हो सकती है जेल
मास्क नहीं पहनने, कोविड-19 से जुड़े प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने और जांच में संक्रमित होने की पुष्टि हो जाने के बाद भी ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों पर रेल अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है, उन्हें जुर्माना भरना पड़ सकता है और यहां तक की कैद की भी सजा हो सकती है। रेल सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने बुधवार को यह जानकारी दी। आरपीएफ ने विशेष रूप से आगामी त्योहारी मौसम के लिये विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये हैं। दिशा-निर्देशों में यात्रियों से रेल परिसरों में कुछ गतिविधियां करने से बचने को कहा गया है। इनमें मास्क नहीं पहनना या सही तरीके से नहीं पहनना, सामाजिक दूरी के नियमों का पालन नहीं करना, कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हो जाने के बाद या जांच के नतीजे लंबित रहने के दौरान रेल क्षेत्र में या स्टेशन पर आने या ट्रेन में सवार होने या स्टेशन पर स्वास्थ्य टीम द्वारा यात्रा की अनुमति नहीं दिये जाने पर भी ट्रेन में सवार हो जाना आदि शामिल हैं। आरपीएफ ने कहा कि सार्वजनिक स्थल पर थूकना भी गैरकानूनी है। रेलवे स्टेशनों पर एवं ट्रेनों में अस्वच्छ परिस्थितियां पैदा कर सकने वाली गतिविधियों में संलिप्त होना या जन स्वास्थ्य एवं सुरक्षा को प्रभावित करना तथा कोराना वायरस संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के लिये रेल प्रशासन द्वारा जारी किसी दिशा-निर्देश का पालन नहीं करने जैसी गतिविधियों की भी अनुमति नहीं होगी। आरपीएफ ने एक बयान में कहा कि चूंकि ये गतिविधियां या कृत्य कोरोना वायरस के प्रसार को बढ़ा सकती है और किसी व्यक्ति की सुरक्षा को खतरा हो सकता है, इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए इन गतिविधियों में संलिप्त पाये जाने वाले लोगों को रेल अधिनियम की धारा 145,153 और 154 के तहत दंडित किया जा सकता है। रेल अधिनियम की धारा 145 (नशे में होना या उपद्रव करना) के तहत अधिकतम एक महीने की कैद, धारा 153 (जानबूझ कर यात्रियों की सुरक्षा को खतरे में डालने के लिये जुर्माने के साथ अधिकतम पांच साल की कैद और धारा 154 (लापरवाह कृत्यों से अन्य यात्रियों की सुरक्षा को खतरे में डालना) के तहत एक साल तक की कैद या जुर्माना, या दोनों सजा साथ में दिये जाने का प्रावधान है।
बिहार में कोविड-19 से छह और लोगों की मौत
बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण से पिछले 24 घंटे में छह और लोगों की मौत होने के साथ ही महामारी से से मरने वालों की संख्या बुधवार को 967 हो गयी है। वहीं राज्य में अभी तक 1,99,549 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटे में संक्रमण से नालंदा में दो, मुजफ्फरपुर, पश्चिम चंपारण, पटना और सहरसा जिले में एक—एक व्यक्ति की मौत हुई है। राज्य में बुधवार अपराह्न चार बजे तक, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 1,326 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 96,685 नमूनों की जांच की गयी और 1,375 मरीज संक्रमण मुक्त हुए है। फिलहाल 10,583 मरीजों का इलाज चल रहा है। राज्य में रिकवरी का दर 94.21 प्रतिशत है।
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 10,552 नए मामले
महाराष्ट्र में बुधवार को 10,552 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई, जबकि 158 और मरीजों की संक्रमण से मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में संक्रमण के कुल मामले 15,54,389 हो गए हैं, जबकि मृतक संख्या 40,859 पर पहुंच गई है। उन्होंने बताया कि बीते 24 घंटे में स्वस्थ हुए 19,517 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी गई है। इसके साथ ही यहां संक्रमण से उबरने वाले लोगों की संख्या 13,16,769 हो गई है। अधिकारी ने बताया कि राज्य में संक्रमण से स्वस्थ होने की दर 84.71 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर 2.63 प्रतिशत है। राज्य में संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 1,96,288 है। उन्होंने बताया कि अबतक 78,38,317 नमूनों की जांच की गई है। संक्रमित होने की दर 19.83 प्रतिशत है। फिलहाल, 23,80,957 लोग गृह पृथक-वास में हैं जबकि 23,176 लोग पृथक-वास केंद्रों में हैं।
हरियाणा में 1,205 नए मामले
हरियाणा में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1,205 नए मामले सामने आए, जिसके बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,45,507 हो गई। वहीं 13 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,614 हो गई। एक सरकारी बुलेटिन में बताया गया कि हिसार में चार, पंचकूला में तीन, फरीदाबाद और रोहतक में दो-दो और गुरुग्राम और भिवानी में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई। वहीं, संक्रमण के सबसे ज्यादा 269 नए मामले गुरुग्राम से जबकि 163 मामले फरीदाबाद से सामने आए हैं। राज्य में 10,187 लोगों का इलाज चल रहा है और स्वस्थ होने की दर 91.89 फीसदी है।
जन आंदोलन अभियान को गति
आयुष मंत्रालय ने कोविड-19 के खिलाफ जन आन्दोलन अभियान को गति प्रदान करते हुए केंद्रीय चिकित्सा परिषद और केंद्रीय होम्योपैथी परिषद से अनुरोध किया है वे 750 आयुष मेडिकल कॉलेजों के नेटवर्क को सक्रिय बनाएं। इससे इस घातक बीमारी संबंधी उचित व्यवहार को बढ़ावा मिल सकेगा। मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में कहा कि उसने कोविड-19 को लेकर जन आंदोलन अभियान शुरू किया है। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगामी त्योहारों और सर्दियों के मद्देनजर उपयुक्त व्यवहार अपनाने का लोगों से आह्वान किया था। बयान में कहा गया है कि आयुष पेशेवर जनता के साथ मिलकर काम करते हैं और इसलिए यह क्षेत्र इस अभियान में तेजी लाने के लिए तैयार हो रहा है। चिकित्सक और अन्य आयुष पेशेवर पूरे देश में जरूरी जानकारी फैलाने में सहयोग करेंगे। बयान में कहा गया है कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए निजी क्षेत्र के उद्योग और अकादमियों के साथ मंत्रालय के संबंद्ध और अधीनस्थ कार्यालयों तथा सार्वजनिक उपक्रमों के बीच साझेदारी की जा रही है। बयान के अनुसार छात्रों और शिक्षकों के अपने समुदायों के साथ करीब 750 आयुष मेडिकल कॉलेजों का नेटवर्क भी इस प्रयास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।
गुजरात में कोविड-19 के 1,175 नए मामले
गुजरात में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,175 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बुधवार को बढ़कर 1,55,098 हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने एक विज्ञप्ति में बताया कि राज्य में 11 लोगों की मौत हो गई, जिसके बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 3,598 हो गई। विज्ञप्ति में बताया गया कि पिछले 24 घंटे में 1,414 लोग स्वस्थ हो गए और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी मिल गई है। राज्य में अब स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,36,541 हो गई है। राज्य में संक्रमण से उबरने की दर बढ़कर 88.04 प्रतिशत हो गई है। सूरत जिले में कोरोना वायरस के सर्वाधिक 252 नए मरीज सामने आए। इसके अलावा राजधानी अहमदाबाद में संक्रमण के 182 नए मरीज मिले और चार मरीजों की संक्रमण से कारण मौत हो गई। गुजरात में अब 14,959 लोगों का इलाज चल रहा है।
तमिलनाडु में कोविड-19 के 4,462 नए मामले
तमिलनाडु में कोरोना वायरस के संक्रमण के 4,462 नए मामले सामने आने के बाद कुल आंकड़ा 6,70,392 पहुंच गया जबकि 52 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 10,423 हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को यह जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग के एक बुलेटिन में कहा गया कि आज 5,083 मरीज संक्रमण से ठीक हुए, जिससे अब तक राज्य में ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़कर 6,17,403 पहुंच गई। राज्य में अब उपचाराधीन मरीजों की संख्या 42,556 है। पिछले 24 घंटों में राज्य में 95,538 नमूनों की जांच की गई, जबकि अब तक 85,84,041 नमूनों की जांच की जा चुकी है। चेन्नई में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,130 और नए मामले सामने आए।
केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के 6,244 नए मामले
केरल में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 6,244 नए मामले सामने आने के बाद कुल मरीजों का आंकड़ा 3,08,140 हो गया। वहीं 20 और मरीजों की मौत के बाद इस बीमारी से जान गंवाने वालों की संख्या 1,066 पर पहुंच गई। स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने एक बयान में बताया कि मृतकों में पांच माह का एक बच्चा और 90 साल का एक बुजुर्ग शामिल है। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे में 50,056 नमूनों को जांच के लिए भेजा गया है। अब तक कुल 37,26,738 नमूनों की कोविड-19 जांच की जा चुकी है। विज्ञप्ति में बताया गया है कि मलप्पुरम में कोविड-19 के 1,013 मामले, एर्नाकुलम में 793 मामले, कोझीकोड में 661 मामले, त्रिशूर में 581 मामले, तिरूवनंतपुरम में 581 मामले और कोल्लम में 551 मामले सामने आए हैं। संक्रमित लोगों में 36 स्वास्थ्य कर्मी शामिल हैं। फिलहाल 93,837 मरीजों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। अब तक कुल 2,15,149 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। वर्तमान में 2,78,989 लोगों के स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है। इनमें से 26,344 लोग अस्पतालों में और 2,52,645 लोग घरो में पृथक-वास में हैं।
कोविड के ‘न्यू नॉर्मल’ के बीच खुलेंगे सिनेमा हॉल
कोविड-19 महामारी के कारण सात महीने से बंद सिनेमा हॉल बृहस्पतिवार से देश के विभिन्न हिस्सों में फिर से खुलने लगेंगे। सुशांत सिंह राजपूत की सिनेमा हॉल में रिलीज अंतिम फिल्म ‘‘छिछोरे’’ को कई थियेटर में फिर से रिलीज किया जाएगा। महाराष्ट्र, तमिलनाडु, केरल और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में थियेटर और मल्टीप्लेक्स बंद रहेंगे वहीं दिल्ली, मध्यप्रदेश और गुजरात सहित कई स्थानों पर कोविड-19 के न्यू नॉर्मल के बीच दिशानिर्देशों का ध्यान रखते हुए इस हफ्ते थियेटर खुल जाएंगे। केंद्र सरकार ने मानक संचालन प्रक्रिया के दिशानिर्देशों के तहत बृहस्पतिवार से मल्टीप्लेक्टस, सिनेमा हॉल और थियेटर फिर से खुलेंगे। गृह मंत्रालय ने मामले में अंतिम निर्णय राज्यों पर छोड़ दिया है। पीवीआर सिनेमा ने बुधवार को कहा कि दस राज्यों और चार केंद्र शासित प्रदेशों ने सिनेमा हॉल को फिर से खोलने की अनुमति दे दी है। पीवीआर सिनेमा के पास देश भर में 71 शहरों में 845 स्क्रीन हैं। पीवीआर बृहस्पतिवार से 487 स्क्रीन का संचालन शुरू करेगा और उम्मीद है कि अन्य राज्य भी जल्द ही सिनेमा हॉल के संचालन की अनुमति दे देंगे। केंद्र सरकार के मानक प्रक्रिया संचालन के मुताबिक हॉल में एक सीट छोड़कर दर्शकों को बैठाया जाएगा, पूरे हॉल के केवल 50 फीसदी सीट की ही बुकिंग होगी, हर समय मास्क लगाना होगा, उचित वेंटिलेशन होना आवश्यक है और एयर कंडीशनर का तापमान 23 डिग्री सेल्सियस से ऊपर होगा। सिनेमा का प्रदर्शन शुक्रवार 16 अक्टूबर से शुरू होगा और उनके वेबसाइट एवं टिकट प्राप्ति के अन्य प्लेटफॉर्म मध्य रात्रि से टिकट उपलब्ध होगा।
15 अक्टूबर से मेट्रो ट्रेन संचालन की अनुमति
महाराष्ट्र सरकार ने अपने अभियान ‘बिगिन अगेन’ के तहत मुंबई में मेट्रो ट्रेनों का संचालन 15 अक्टूबर से चरणबद्ध तरीके से करने की अनुमति देने का बुधवार को फैसला किया। सरकार के फैसले के तुरंत बाद, महानगर में वर्सोवा-अंधेरी-घाटकोपर गलियारे का संचालन करने वाली मुंबई मेट्रो वन प्राइवेट लिमिटेड (एमएमओपीएल) ने कहा कि इस मार्ग पर मार्च से निलंबित सेवाएं 19 अक्टूबर से फिर से शुरू होंगी। जारी दिशानिर्देशों के अनुसार, सरकार ने इसके साथ ही बृहस्पतिवार से सभी सरकारी और निजी पुस्तकालयों को फिर से खोलने की भी अनुमति दी जिसके लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। सरकार ने बृहस्पतिवार से निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर व्यापारिक प्रदर्शनियों को भी इजाजत दी। स्थानीय साप्ताहिक बाजारों को भी निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर फिर से खोलने की इजाजत दी जाएगी। इसमें जानवरों के बाजार भी शामिल होंगे। भीड़ कम करने के उद्देश्य से बाजार और दुकानों को कल से रात नौ बजे तक दो अतिरिक्त घंटे खोलने की इजाजत होगी। सरकार ने विभिन्न हवाईअड्डों पर आने वाले घरेलू यात्रियों के लिए कोविड-19 जांच के बाद अमिट स्याही से मुहर लगाना बंद करने का फैसला किया है। इसी तरह से रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच और उन पर मोहर लगाना भी बंद किया जाएगा। राज्य सरकार ने कहा कि मेट्रो रेल को चरणबद्ध तरीके से संचालित करने की इजाजत दी जाएगी और इसके लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) शहरी विकास विभाग द्वारा जारी की जाएगी। दिशानिर्देश में कहा गया, ‘‘शहरी विकास विभाग इसके लिए आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा जारी एसओपी को ध्यान में रखेगा।’’ एमएमओपीएल के एक प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें मेट्रो सेवाएं शुरू करने के बारे में राज्य सरकार से एक आधिकारिक पत्र प्राप्त हुआ है। एमएमओपीएल ने ट्विटर पर कहा कि वर्सोवा-अंधेरी-घाटकोपर के बीच मेट्रो लाइन का संचालन सोमवार सुबह 8.30 बजे से शुरू होगा। उसने कहा, ‘‘हम सुरक्षा निरीक्षण और ट्रायल रन पहले से ही शुरू कर चुके हैं और सोमवार से यात्री संचालन फिर से शुरू करने के लिए तैयार हैं।’’ हालांकि, उसने यह स्पष्ट नहीं किया कि क्या आम यात्रियों को सेवाओं का उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी या यह आवश्यक सेवाओं के कर्मचारियों के लिए ही सीमित होगी, जैसा उपनगरीय लोकल ट्रेनों के मामले में है। पश्चिमी रेलवे (डब्ल्यूआर) 15 अक्टूबर से 19 वातानुकूलित लोकल सहित 194 उपनगरीय सेवाएं जोड़ने की घोषणा कर चुका है। इसके साथ ही डब्ल्यूआर पर विशेष उपनगरीय सेवाओं की संख्या 506 से बढ़कर 700 हो जाएगी।
आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के 3892 नए मामले
आंध्र प्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस के 3892 नए मरीजों की पुष्टि हुई और 28 संक्रमितों ने दम तोड़ा। सरकारी बुलेटिन के मुताबिक, राज्य में कोविड-19 के कुल मामले 7,67,465 पहुंच गए हैं जबकि मृतक संख्या 6319 हो गई है। बुलेटिन में बताया गया है कि बुधवार सुबह नौ बजे खत्म हुए बीते 24 घंटे में 5,050 मरीजों के संक्रमण मुक्त होने की घोषणा हुई। इसी के साथ संक्रमण से उबरने वाले लोगों की तादाद 7,19,447 पहुंच गई है। प्रदेश में कोरोना वायरस का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 41,669 हो गई है। प्रदेश में 67.72 लाख नमूनों की जांच की गई है और संक्रमित होने की दर 11.33 प्रतिशत है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.