बिहार के CM नीतीश कुमार ने बिहारवासियों के लिए लिखा पत्र, सक्षम बिहार बनाने के संकल्प को दोहराया

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को राज्य की जनता के नाम पत्र लिखकर पिछले 15 वर्षों तक मौका देने के लिये लोगों के प्रति आभार प्रकट किया और वादा किया कि अगली बार सेवा का मौका मिलने पर वह सात निश्चय के द्वितीय चरण को लागू करेंगे। कुमार ने पत्र में लिखा, ‘‘ मैं आपको धन्यवाद देना चाहूंगा कि आप सभी ने वर्ष 2005 से मुझे बिहार की सेवा करने का मौका दिया। हमलोगों ने समाज में अमन-चैन और भाईचारे का वातावरण बनाया, डर का माहौल खत्म हुआ और सभी क्षेत्रों में विकास का मार्ग प्रशस्त हुआ।’’ उन्होंने वादा किया, ‘‘ यदि हमें अगली बार सेवा का मौका मिलता है तो हम सात निश्चय के द्वितीय चरण को लागू करेंगे।’’
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ इन निश्चयों में युवा शक्ति को हुनरबंद बनाने, महिलाओं को सक्षम एवं स्वावलंबी बनाने, हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने, स्वच्छ एवं समृद्ध गांव तथा शहर बनाने, महत्वपूर्ण स्थानों तक सुलभ संपर्कता पहुंचाने के साथ-साथ मनुष्य एवं पशुओं के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने का संकल्प है।’’ जदयू के नेता ने कहा, ‘‘ हमने हर समुदाय और समाज के सभी वर्गों के लिए काम किया। खासकर महिला, अनुसूचित जाति-जनजाति, अति पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यकों को विकास की मुख्य धारा में लाने के लिए कई कल्याणकारी कार्यक्रम चलाए गए।’’ उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के लिए कई योजनाएं चलाई गई है तथा पूर्ण शराब बंदी लागू की गई।
कुमार ने कहा कि शराबबंदी के लिए तथा बाल विवाह, दहेज प्रथा के विरुद्ध सामाजिक अभियान चलाया गया है। लोक शिकायत निवारण कानून के उपयोग से लोगों की समस्याओं का समाधान हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान के माध्यम से राज्य में जलवायु परिवर्तन के खतरों से निपटने के लिए काम हो रहा है। उन्होंने शिक्षा-स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार के कार्यों से लेकर राज्य में सम्पर्क को बेहतर बनाने के लिये सड़कों और पुलों के निर्माण का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के काल में लोगों को राहत पहुंचाने, जांच एवं चिकित्सा व्यवस्था के लिए काफी धनराशि खर्च की है। उन्होंने लोगों से कोविड-19 के के समय में लोगों से सचेत रहने की भी अपील की।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.