कोविड-19 के बावजूद 2021 में वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल कराना चाहता है ICC

नई दिल्ली। आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप की शुरुआत अगस्त-2019 से हुई थी जिसमें टेस्ट रैंकिंग की शीर्ष-9 टीमें हिस्सा ले रही हैं। इसका फाइनल जून 2021 में लॉर्ड्स में खेला जाना है। फाइनल में वो टीमें पहुंचेगी जो अंत में टॉप-2 में रहेंगी। कोरोना वायरस को लेकर अब तक कई सीरीज स्थगित की जा चुकी हैं। ऐसे में यह सवाल उठता है कि क्या कोविड-19 महामारी का असर इसके फाइनल पर भी पडे़गा। फाइनल को जारी ऊहापोह की स्थिति को अब खुद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने दूर कर दिया है।
आईसीसी अब कोरोना वायरस के कारण अंतरराष्ट्रीय मैचों में व्यवधान के बावजूद 2021 में पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के आयोजन की योजना बना रहा है। आईसीसी ने इससे पहले 2013 और 2017 में दो बार टेस्ट चैंपियनशिप को स्थगित कर दिया था और लग रहा था कि इस बार भी उसे फाइनल के आयोजन को टालना पड़ सकता है क्योंकि महामारी के कारण कई अन्य प्रतियोगिताएं भी स्थगित कर दी गई हैं जिनमें टी-20 विश्व कप भी शामिल है।
इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी टॉम हैरिसन ने सोमवार को कहा कि उन्हें आईसीसी ने सूचित किया है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अब वे इस पर काम कर रहे हैं जिन सीरीज को नहीं खेला गया है उनमें अंकों के वितरण के लिए क्या करना है। टेस्ट खेलने वाले नौ देशों को 2019 से दो साल तक स्वदेश और विदेश में छह सीरीज में भाग लेना था। प्वॉइंट में टॉप पर रहने वाली दो टीमें जून 2021 में फाइनल में भिड़ेंगी। अभी भारत और ऑस्ट्रेलिया इस टेबल में टॉप पर हैं। इंग्लैंड, भारत और पाकिस्तान ने चार-चार सीरीज खेल ली हैं लेकिन श्रीलंका, वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश ने दो–दो सीरीज ही खेली हैं। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने तीन-तीन सीरीज खेली हैं।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.