अगर डायरेक्टर रोहित शेट्टी न होते तो ढाबा में काम कर रहे होते संजय मिश्रा

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्टर संजय मिश्रा ने अपनी एक्टिंग के दम पर जबरदस्त पॉप्युलैरिटी हासिल की है। उन्हें उनकी बेहतरीन कॉमिक टाइमिंग के लिए जाना जाता है। कॉमेडी के अलावा उन्होंने अपने अलग-अलग किरदारों से फैन्स को चौंकाया है। आज यानी 6 अक्टूबर को संजय मिश्रा अपना जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। इस खास मौके पर संजय के जीवन से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्सों के बारे में जानते हैं।
एक वक्त ऐसा भी था जब संजय मिश्रा एक्टिंग छोड़कर ढाबा में खाना पकाने लगे थे। दरअसल, इसके पीछे भी एक कहानी है। संजय पिता के निधन के बाद टूट गए थे। वह अपने पिता के काफी करीब थे और उनके गुजरने के बाद उन्होंने एक्टिंग की दुनिया से तौबा कर लिया और ऋषिकेश के एक ढाबे में काम करने लगे।
संजय मिश्रा अपनी पूरी जिंदगी उस ढाबे पर ही काम करने में निकाल देते अगर डायरेक्टर रोहित शेट्टी न होते। रोहित शेट्टी और संजय मिश्रा फिल्म गोलमाल में साथ काम किया था। वह अपनी अगली फिल्म ऑल द बेस्ट को लेकर काम कर रहे थे। उसी दौरान उन्हें एक रोल के लिए संजय मिश्रा का ख्याल आया। बताया जाता है कि संजय मिश्रा एक्टिंग की दुनिया में लौटने के लिए तैयार नहीं थे लेकिन रोहित शेट्टी ने उने मना लिया।
इसके बाद संजय मिश्रा ने फिल्म ऑल द बेस्ट में काम किया, जिसमें उनकी परफॉर्मेंस को जमकर सराहा गया। इसके बाद संजय मिश्रा ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। अक्सर कॉमेडी रोल करने वाले संजय ‘कड़वी हवा’ और ‘अनारकली ऑफ आरा’ जैसी फिल्मों में अपने किरदार से फैन्स को हैरान कर चुके हैं।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.