आधी आबादी ने लहराया फिट इंडिया का परचम

बाल मुकुन्द ओझा

फिट इंडिया मूवमेंट में राजस्थान के ग्रामीण अंचलों की महिलाएं भी बढ़ चढ़ कर भाग ले रही है। सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं के अलावा भारत सरकार के युवा और खेल मंत्रालय के अधीन नेहरू युवा केंद्र संगठन, राजस्थान की महिला अधिकारियों के प्रयासों से ग्राम्य अंचल की महिलाओं ने अपनी दिनचर्या में चौकी चूल्हे के साथ शारीरिक व्यायाम को भी शामिल कर स्वस्थ नारी स्वस्थ समाज का सन्देश दिया है। वर्तमान में पांच महिला अधिकारी अलग अलग जिलों में जिला युवा समन्वयक के रूप में कार्यरत है जो फिट इंडिया के माध्यम से महिलाओं में जागरूकता का शंखनाद कर रही है। इनमें हनुमानगढ़ में मधु यादव, बीकानेर में रूबी पाल, अजमेर में संतोष चौहान, नागौर में सुरमई शर्मा और झालावाड़ में दीर्घा राजावत शामिल है। इन पांच जिलों सहित कुछ अन्य क्षेत्रों में नेहरू युवा केंद्र के प्रयासों से अनेक ग्रामीण महिलाओं ने आगे आकर प्रेरणादायी उदाहरण प्रस्तुत किया है। महिला कार्यकर्ताओं ने कोरोना से मुकाबला करने के लिए शारीरिक व्यायाम का मार्ग चुना है। महिलाओं को समझाया है लाइफ स्टाइल में छोटे-छोटे बदलाव करके हम इन बीमारियों से बच सकते हैं। इससे गावों में जागृति आयी है और प्रधान मंत्री का फिट इंडिया का सपना साकार करने में आधी आबादी की मुहीम सफलता के परचम फहराने लगी है।
बीकानेर जिले के ब्लॉक पांचू की झांसी की रानी महिला मंडल की युवतियों ने फिट इंडिया फ्रीडम रन के तहत बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक फिट रहने के लिए तरह-तरह की एक्टिविटीज करवाई। फ्रीडम रन के तहत घर-घर जाकर लोगों को जानकारी दी और फिट रहने के फायदे बताएं। क्लीन विलेज ग्रीन विलेज के तहत इस महिला मंडल ने अपने क्षेत्र में 500 पौधों को लगवाया, बीजारोपण का काम भी किया, अपने क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए युवतियों को नए-नए रोजगारो से जोड़ा। चितौड़गढ़ जिले के डूंगला ब्लॉक की महिला स्वयंसेविका अर्चना दाक महिलाओं के लिए प्रेरणा बनी। अर्चना बताती है कि जब उनके ब्लॉक की राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक एकता सामर द्वारा महिलाओं को फिट इंडिया मूवमेंट के लिए प्रेरित किया गया तब मैंने उसी समय निश्चय किया कि अब मैं अकेले योगा और वॉक नही करूंगी, अपने परिवार और आस पड़ोस की महिलाओं को भी इसके लिए प्रेरित कर अभियान से जोड़ूँगी। शुरू में हम 7 महिलाओं ने रोज सुबह 20 मिनिट वॉक और जॉगिंग शुरू किया और देखते करीब 150 परिवार फिट इंडिया मूवमेंट से जुड़ गए। कई महिलाओं का कहना है की योगा और वॉक से उनकी स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियां दूर हुई है।
झालावाड़ में स्वामी विवेकानंद युवती मंडल ग्राम भीलवाड़ी तहसील भवानीमंडी की अध्यक्ष शाहिदा द्वारा फिट इंडिया मूवमेंट और फ्रीडम दौड़ की गतिविधियों से महिलाओं को जोड़ने के लिए फिट रहने व शारीरिक विकास हेतु एक युवा टीम का गठन किया। फिट इंडिया मूवमेंट की गतिविधियों से गांव के लोगो को अवगत कराया। आज वहां के लोगो की दिनचर्या बिल्कुल बदल गई है। योग, व्यायाम, वाकिंग रनिंग अब लोगो के जीवन की दिनचर्या में शामिल हो गया है।
नागौर जिले के मेड़ता रोड गावं में फिट इण्डिया-फ्रीडम मूवमेंट में स्वयंसेविका आरती भाटी ने 15 अगस्त से योगा, कसरत, प्राणायाम, साईकिलिंग, रस्सी कूदना, सीढियां चढ़ना, सफाई आदि के माध्यम से लोगों को फिट रहने का सन्देश दिया। शुरू में लोगों ने दिलचस्पी नहीं ली मगर शीघ्र आरती के प्रयास रंग लाये और कारवां बढ़ता गया। धीरे धीरे आस पास के 15 गांवों में लोगों को फिट इण्डिया और फ्रीडम रन से जोड़ा। हनुमानगढ़ जिले के भूकरका गांव में राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक मोनिका सोनी के प्रयासों से फिट इंडिया कार्यक्रम के तहत महिलाएं योग का महत्व समझने लगी है तथा फिटनेस को अपनी दैनिक दिनचर्या का एक भाग मानने लगी है। मोनिका नोहर ब्लॉक के अपने क्षेत्र में फिट इंडिया का सन्देश घर घर पहुंचाकर ग्रामीण महिलाओं को फिट रहने के लिए प्रेरित कर रही है। मोनिका ने बताया धीरे धीरे महिकाएँ अपना भला बुरा समझने लगी है।
राजसमंद जिले के छोटे से ब्लॉक देवगढ़ में नेहरू युवा केंद्र के कॅरियर महिला मण्डल की युवतियां फिट इंडिया रन के माध्यम से ग्राम्य अंचल में फिटनेस के लाभ बताकर लोगों विशेषकर महिलाओं को जागरूक कर रही है। नेहरू युवा केन्द्र अलवर द्वारा चलाई गई मुहिम रंग लाने लगी हैं। जिले के भोजावास की 65 वर्षीया सुमित्रा देवी को पिछले 6 साल से अर्थराइटिस की समस्या के कारण चलना फिरना भी दूभर था, लेकिन पिछले 1 साल से रोजाना 5 किमी चलने और योगाभ्यास करने से अर्थराइटिस की समस्या लगभग खत्म हो चुकी हैं। नेहरू युवा केन्द्र सगठन कोटा की ओर से राष्ट्रीय स्वयं सेविका रेशमा कुमारी वर्मा अपने कार्य क्षेत्र सुल्तानपुर ब्लॉक के आस पास के गांव में युवा ,बुजुर्ग महिलाओ , बच्चो को स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी ओर स्वस्थपूर्ण जीवन के लिए योगा को सर्वश्रेष्ठ विकल्प बताते हुए योगा के कार्यक्रम आयोजित कर इनके महत्व से अवगत कराया। गंगानगर जिले के करणपुर ब्लॉक की स्वयंसेविका श्रीमती सर्वजीत कौर ने फिट इंडिया मूवमेंट को अपने गांव रूपनगर में नए आयाम दिए है। उन्होंने सबसे पहले शुरुआत अपने घर से की और सभी सदस्यों को फिटनेस गतिविधियों से जोड़ दिया। फिर गांव के बुजुर्गों को फिटनेस का महत्व बताते हुए उनको भी इस अभियान से जोड़ा।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.