जयपुर में दो बेटों और पत्नी संग आभूषण कारोबारी ने लगाई फांसी, कर्ज से था परेशान

जयपुर राजस्थान की राजधानी जयपुर के कानौता थाना क्षेत्र में सामूहिक आत्महत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जयपुर के इतिहास में यह पहली बार हुआ है, जब एक ही परिवार के चार लोगों ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि परिवार कर्ज के बोझ तले दबा था और रोज-रोज कर्ज के पैसे मांगे जाने से परेशान भी था। जानकारी के अनुसार, मृतक परिवार ज्वैलरी का कारोबार करता था। कल दिन में इनके घर पर एक महिला आई थी। महिला इन लोगों से पैसे मांग रही थी और परिवार को बेइज्जत करके गई थी।
जाानकारी के मुताबिक, मृतक परिवार ने महिला से कहा था कि दुकान और घर बेचने के बाद उसके पैसे वापस कर दिए जाएंगे। लेकिन रात को ही इस परिवार के चार सदस्यों ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इनमें से तीन ने हॉल में जबकि चौथे ने कमरे में पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या की। फंदे पर लटके दो लोगों के पैर भी बंधे हैं। पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। मौके पर एफएसएल टीम को बुलाई गई है। हालांकि, मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।
वहीं, जयपुर पूर्व के एडिशनल डीसीपी मनोज चौधरी ने बताया कि कानौती थाना क्षेत्र जामरोली के राधिका विहार में एक सर्राफा परिवार के चार लोगों के शव मकान में मिले हैं। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि यह परिवार अलवर का रहने वाला था और पांच साल से जयपुर में सर्राफा का काम कर रहा था।
फिलहाल पैसे का लेन-देन और कर्ज के कारण आत्महत्या करने का मामला सामने आ रहा है। एफएसएल की टीम मौके पर जांच कर रही है। पूछताछ के लिए दो-तीन लोगों को बुलाया गया है। मरने वालों में परिवार के मुखिया 45 वर्षीय सदासव देसाई, 41 वर्षीय उनकी पत्नी और 20 तथा 23 वर्ष के दो पुत्र शामिल हैं।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.