समाज के सभी तबकों को साथ लेकर चलने में सक्षम है तेजस्वी यादव-रणधीर कुमार सिंह

पटना। छपरा विधानसभा क्षेत्र से राजद के प्रत्याशी व पूर्व विधायक रणधीर कुमार सिंह ने कहा कि महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी प्रसाद यादव समाज के सभी तबकों को साथ लेकर चलने में सक्षम हैं।तेज रफ्तार तेजस्वी सरकार के नारे के साथ राजद के नेतृत्व में महागठबंधन बिहार में दो तिहाई बहुमत के साथ इस बार के विधानसभा चुनाव में सत्ता में वापसी करेगी। बिहार के लोग जग चुके हैं ,सिर्फ और सिर्फ लालू विरोध के नाम पर सत्तापक्ष बिहार के लोगों को ठगने का काम कर रहा है। सारण के कद्दावर नेता और महाराजगंज के पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह के पुत्र रणधीर कुमार सिंह के साथ वरिष्ठ पत्रकार अनूप नारायण सिंह ने खास बातचीत की। बातचीत के क्रम में रणधीर कुमार सिंह ने कहा कि कुछ लोग इस गलतफहमी में है कि बिहार की जनता को राजद के 15 वर्ष के राज का भय दिखाकर सत्ता में वापसी करेंगे वे लोग अब जनता को बताएं कि 15 वर्ष के शासनकाल में बिहार में कितने उद्योग धंधे लगे कितना पलायन रूका कितने लोगों को नौकरियां मिली बिहार की स्थिति सुधरी। बाद सुखा सुखा पर कितना अंकुश लगा आपदा प्रबंधन कितना मजबूत हुआ स्कूलों में स्लेट के बदले बच्चों के हाथ में प्लेट पकड़ा दिया गया और प्रशिक्षित शिक्षकों के जगह अनुबंध वाले शिक्षकों की भीड़ जमा कर दी गई। उन शिक्षकों को भी उनका वाजिब हक नहीं दिया जा रहा है,जो लोग बिहार में विकास की बड़ी-बड़ी बातें करते थे वे बताएं कि क्या 15 वर्षों में बिहार में एक सुई की फैक्ट्री भी लगी, बिहार में कितने लोगों को सरकार ने नौकरी दी, कितने इंजीनियरिंग कॉलेज मेडिकल कॉलेज प्रबंधन कॉलेज खुले, कितने बड़े हॉस्पिटल का निर्माण हुआ। बिहार में शिक्षा का स्तर और बदहाल हुआ। एक केंद्रीय विश्वविद्यालय नहीं है। वित्त रहित शिक्षक भूखे मरने को विवश है, प्राथमिक मध्य और उच्च विद्यालयों में अनुबंध पर बहाल शिक्षक बिहारी मजदूर से भी बदतर जिंदगी जी रहे हैं। बेरोजगार पलायन कर रहे हैं इसका जवाब कौन देगा। कोरोना संकट के समय लाखों लोग पैदल दूसरे प्रदेशों से वापस बिहार आए उनके पैरों के छालों के दर्द का जवाब कौन देगा, भूख गरीबी बेबसी से बदहाल लोगों के दर्द का जवाब कौन देगा जो मुख्यमंत्री संकटकाल में अपने घर से एक दिन बाहर नहीं निकलता हो उसे बिहार की जनता से जनादेश मांगने का अधिकार नहीं है। थोथी दलीलों तथा भ्रामक प्रचार के बल पर जनता को ठगने वाले लोगों को इस बार सचेत रहना होगा। बिहार की जनता जग चुकी है बिहार को एक नया विकल्प मिला है तेजस्वी यादव के रूप में। युवा जोश के साथ इस बार बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने जा रही है। इस बार केंद्र का नहीं बिहार का चुनाव है। बिहार की जनता सवाल कर रही है कि जिन लोगों ने उन्हें सुनहरे सपने दिखाए, जिन लोगों ने उनकी पत्नी के वादे किए 15 वर्षों में उन लोगों ने क्या किया। रणधीर सिंह ने कहा कि इस बार सारण प्रमंडल की सभी सीटें महागठबंधन में शामिल खेमे के पास आएगी। छपरा के सवाल पर उन्होंने कहा कि छपरा की जनता ने अल्प समय के लिए विधायक के रुप में उनको भी देखा है उन्होंने लोगों से जो वादे किए थे उसे पूरा किया है।कई सारी योजनाएं अधूरी रह गई जो आज तक पूरी नहीं हो पाई 2015 के विधानसभा चुनाव में जनता ने जिन्हें विधायक चुनकर भेजा एक भी वादा पूरा नहीं कर सके जबकि केंद्र और राज्य में उनकी ही सरकार है। लोकतंत्र में जनता ही मालिक है पिछली बार के चुनाव में भी छपरा की महान जनता ने अपार जन समर्थन दिया। चुनाव हारना जीतना लोकप्रियता का पैमाना नहीं होता है। इस बार माहौल बदला है। छपरा के सभी वर्गों के लोगों का अपार जनसमर्थन मिल रहा है। एक सवाल के जवाब में रणधीर सिंह ने कहा सारण की जनता ने हमेशा इतिहास रचने का काम किया है। पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की अनुपस्थिति में उनके समर्थक गोलबंद हुए हैं तथा पूरी निष्ठा और लगन के साथ क्षेत्र मे लगे हुए हैं। राजद ने पहले ही साफ कर दिया है कि वह ए टू जेड की पार्टी है सभी धर्मों जातियों समुदायों को संगठित करके ही बिहार के विकास का सपना देखा जा सकता है, उसे पूरा किया जा सकता है। तेजस्वी यादव काफी सजग सुलझे युवा है उनमें नेतृत्व क्षमता है। राजनीतिक विरासत को बखूबी उन्होंने संभाला है। सबको साथ लेकर चलने में विश्वास रखते हैं। बिहार के जनता को इस बार उनमे बिहार का भविष्य नजर आ रहा है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.