“मीडिया संसार” पुस्तक की चर्चा चारों ओर 

डॉ. सिंघल एवं अब्बासी ने लिखी पुस्तक

@ chaltefirte.com                कोटा। पत्रकारिता एवं मीडिया जगत पर डॉ. प्रभात कुमार सिंघल एवं के.डी.अब्बासी की सँयुक्त रूप से हाल ही में प्रकाशित पुस्तक ” मीडिया संसार” देश एवं प्रदेश में चारों ओर चर्चा में आ गई हैं। पुस्तक का पत्रकारों,मीडिया कर्मियों, जनसम्पर्क कर्मियों ने अपार उत्साह से स्वागत कर अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। देश एवं प्रदेश के समाचार पत्रों एवं समाचार पोर्टलों ने भी स्वागत कर समीक्षाएं प्रकाशित की हैं।
दिल्ली राज्य में आर्य समाज की केन्द्रीय सभा के महामंत्री सतीश आर्य ने कहा कि डॉ प्रभात कुमार सिंघल ने बहुत सुंदर मीडिया संसार पुस्तक का लेखन कर मीडिया से जुड़े सदस्यों के लिये बहुत बड़ा योगदान दिया है, मार्गदर्शन दिया है। इस पुस्तक को पढ़कर जो व्यक्ति मीडिया प्रकल्प से जुड़ना चाहते हैं उनको आपके अनुभवों से बहुत लाभ प्राप्त होगा। भारतीय जनसंचार संस्थान, नई दिल्ली के अध्यक्ष प्रो.संजय द्विवेदी ने कहा कि पत्रकारिता एवं जनसंचार विषय पर लंबे समय बाद एक स्तरीय पुस्तक देखने को मिली है।
उदयपुर में लोकसंस्कृति के मर्मज्ञ एवं साहित्यकार डॉ. महेंद्र भाणावत का कहना है कि मीडिया के क्षेत्र में यह कृति एक सार्थक और उपयोगी प्रयास है। साहित्यिक जगत से वर्षो से जुड़े रहे जयपुर के वेद व्यास मानते हैं कि आज के इलेक्ट्रॉनिक काल में बिरले ही ऐसा लेखन करते हैं,डॉ. सिंघल की पुस्तक का स्वागत किया जाएगा। दिल्ली के प्रसिद्ध लेखक ललित गर्ग का कहना है खास बात यह है कि मीडिया के विविध पहलुओं, पत्रकारिता एवं जनसंचार माध्यमों का विकास क्रम, मीडिया की दशा,दिशा और संभावनाओं के साथ-साथ समस्याओं और चुनोतियों पर खुल कर लिखा गया हैं।
जयपुर से वरिष्ठ लेखक,पत्रकार एवं जनसम्पर्क विभाग के पूर्व सँयुक्त निदेशक बाल मुकन्द ओझा कहते हैं कि सह लेखक
के.डी.अब्बासी के साथ मिलकर लिखी गई ,हाल ही में बाजार में आई मीडिया संसार पुस्तक में पत्रकारिता के विविध आयामों को सन्दर्भ के साथ सरल भाषा में लिखा गया हैं,जो निश्चित ही पत्रकारिता के विद्यार्थियों एवं नवोदित पत्रकारों के लिये उपयोगी साबित होगी। डॉ. सिंघल की गिनती देश और प्रदेश के नामची लेखक,पत्रकार,स्तम्भकार और सफल जनसम्पर्क कर्मी के रूप में कई जाती हैं। जयपुर के जनसम्पर्क कर्मी गोविंद शर्मा का कहना है पुस्तक का निश्चय ही पत्रकारिता जगत में स्वागत होगा और मील का पत्थर बनेगी यह पुस्तक।
कोटा के राजकीय सार्वजनिक मंडल पुस्तकालय के अधीक्षक डॉ. दीपक कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि पत्रकारिता जगत के लिए पुस्तक की उपयोगिता स्वयं सिद्ध है। देश के सभी सार्वजनिक पुस्तकालयों तथा पत्रकारिता एवं जनसंचार से जुड़े संस्थानों के पुस्तकालयों में ऐसी पुस्तकों को अनिवार्य रूप से शामिल किया जाना चाहिए। कोटा के पत्रकार बृजेश विजयवर्गीय का कहना है यह पुस्तक मीडिया जगत में मील का पत्थर बनेगी।
कोटा के एडवोकेट ,पत्रकार एवं सोशल एक्टिविस्ट अख्तर खान “अकेला” का कहना है कि
पुस्तक को पढ़ने से लगता है कि आज देश में ही नहीं विश्व में जो भी कुछ पत्रकारिता में बदलाव हुए है , इतिहास रहा है , कमियां हैं , ज़रूरतें हैं ,विज्ञापन के लिये व्यवस्थाओं में बदलाव, विभिन्न उतार चढाव के सभी पहलुओँ , हर तरह का ज्ञान ,आवश्यक जानकारियां ,सुझाव ,रोज़गार से पत्रकारिता ,जनसंचार माध्यम का जुड़ाव ,हर बिंदु पर इस पुस्तक में सारगर्भित चर्चा की गई हैं। इसीलिए इस पुस्तक का शीर्षक मीडिया संसार देकर प्रकाशन को सार्थक कर दिया है ।
कोटा में भारतीय रेलवे मंडल के सीनियर सेक्सशन इंजीनियर अनुज कुमार कुच्छल का कहना है ‘मीडिया संसार’ पुस्तक का अवलोकन एवं कुछ आंशिक रूप से अध्धयन मैने किया है।अभी चल रहा है। इस विषय पर सटीक, क्रमबद्ध तरीके से,रोचक और सुग्राहय भाषा में, सारगर्भित और उपयोगी जानकारी दे गई पुस्तक में। इस विषय के तथ्यों को पकड़ा है लेखकों ने। मीडिया के विभिन्न आयामों के क्रमिक विकास वर्तमान स्थिति और व्यवहारिक आने वाली समस्याओं और उनके संभावित समाधान पर,अपने लंबे अनुभवों के आधार पर बहुत उपयोगी जानकारी गुणी लेखक ने पुस्तक में समेटने का सार्थक कार्य किया है। लेखक द्वय साधुवाद और हार्दिक बधाई के पात्र हैं। पाठक वर्ग निश्चित ही लाभान्वित होगा।
जनसम्पर्क विभाग राजस्थान के अत्यंत वरिष्ठ पूर्व जनसम्पर्क कर्मी चित्तौड़गढ़ से नटवर त्रिपाठी,जयपुर से गोपाल शर्मा प्रभाकर, रामावतार बुनकर, फारुख आफरीदी, ईश्वर दत्त माथुर, प्रभात गोस्वामी, प्यारे मोहन त्रिपाठी आदि ने पुस्तक का स्वागत कर पत्रकारिता के विद्यर्थियों एवं पाठकों के लिए उपयोगी बताया। मुम्बई, दिल्ली,गुड़गांव, लखनऊ, देहरादून, मज़फ्फरनगर, गंगानगर ,हनुमानगढ़, भीलवाड़ा, भरूच, बारां, बूंदी, झालवाड़, धौलपुर, सहित देश एवं प्रदेश के कई भागों से मीडिया संसार पुस्तक पर बड़ी संख्या में प्रतिक्रियाएं प्राप्त हुई हैं।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.