LAC पर जारी गतिरोध के बीच आज मॉस्को में भारत-चीन के विदेश मंत्रियों की बैठक

3 बार आमने-सामने होंगे जयशंकर-वांग

नई दिल्ली। वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर जारी तनाव के बीच आज मॉस्को में भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की बैठक होने वाली है। विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी गुरुवार को मॉस्को में कम से कम तीन बार आमने-सामने आने वाले हैं। इस द्विपक्षीय बैठक को एलएसी पर जारी तनाव को कम करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में देखा जा रहा है।
जयशंकर और वांग गुरुवार सुबह शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के विदेश मंत्रियों की बैठक में भाग लेंगे, जिसके बाद रूस-भारत-चीन (आरआईसी) समूह के विदेश मंत्रियों की भी एक बैठक होगी। यहां भी दोनों आमने-सामने होंगे।
लद्दाख में LAC पर मई में शुरू हुई गतिरोध के बाद जयशंकर और वांग की यह पहली मुलाकात होगी। दोनों नेताओं ने गलनाव घाटी संघर्ष के दो दिन बाद यानी 17 जून को फोन पर बात की थी। मंगलवार को रूस के लिए रवाना होने से पहले, जयशंकर ने तनाव कम करने और एलएसी के साथ विघटन प्रक्रिया में गतिरोध को समाप्त करने के लिए राजनीतिक बातचीत की आवश्यकता पर जोर दिया।
कल रूस के रक्षा मंत्री के साथ हुई वार्ता
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बुधवार को कहा कि अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव के साथ उनकी बेहतरीन वार्ता हुई है। इस दौरान उन्होंने द्विपक्षीय रणनीतिक संबंधों पर चर्चा की और अंतरराष्ट्रीय स्थिति पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया। जयशंकर शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के विदेश मंत्रियों की बैठक में शामिल होने के लिये चार दिनों की रूस की यात्रा पर यहां हैं।
जयशंकर ने ट्वीट किया, ”विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से इस बार व्यक्तिगत रूप से मिल कर खुशी हुई। बेहतरीन वार्ता हुई, जिसमें हमारे विशेष एवं विशेषाधिकार वाली रणनीतिक साझेदारी प्रदर्शित हुई। अंतरराष्ट्रीय स्थिति पर हमारे बीच हुई बातचीत काफी मायने रखती है।” कोविड-19 के कारण यह बैठक पहले नहीं हो सकी थी।
किर्गिस्तान और ताजिकिस्तान के मंत्रियों से भी बैठक
इससे पहले, जयशंकर ने बुधवार को यहां किर्गिस्तान और ताजिकिस्तान के अपने समकक्षों के साथ अलग-अलग द्विपक्षीय बैठकें कीं। उन्होंने द्विपक्षीय संबंधों एवं दोनों मध्य एशियाई देशों के साथ भारत की रणनीतिक साझेदारी और अधिक मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। जयशंकर मंगलवार को यहां पहुंचे थे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.