उत्तर रेलवे द्वारा पहली बार नेपाल को चीनी का लदान किया गया

@ chaltefirte.com           दिल्‍ली। उत्तर एवं उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक  राजीव चौधरी ने बताया कि जोनल और मंडल स्तर पर बिजनस डेवलपमेंट यूनिटें खोले जाने के अब सकारात्‍मक परिणाम आने लगे हैं । उत्तर रेलवे के मुरादाबाद मंडल ने बिजनौर, मुरादाबाद और बरेली माल गोदामों से चीनी के 5 रैक (8700 टन) नेपाल को भिजवाए हैं । उधर, उत्‍तर रेलवे के दिल्‍ली मंडल ने आदर्श नगर से हटिया के लिए चीनी का लदान शुरू कर दिया है । अब तक, 02 मिनी रैकों में कुल 2667 टन ऑर्गेनिक खाद का पश्चिम बंगाल को लदान किया गया है । इस ऑर्गेनिक खाद का उपयोग पश्चिम बंगाल में चाय बागान और नर्सरी में किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा, कि नेपाल को चीनी का लदान करने से भारत और नेपाल के बीच संबंध मजबूत होंगे ।

राष्ट्र कोरोना महामारी से लड़ रहा है । भारतीय रेलवे एक ऐसी चुनौती का गवाह रहा है जो पहले कभी इस संगठन के सामने नहीं आई थी । अर्थव्यवस्था के खुलने के बाद अर्थव्यवस्था को गति देने का एक बड़ा दबाव था । राष्ट्र की अर्थव्यवस्था की जीवन रेखा होने के नाते भारतीय रेलवे मजबूती से खड़े रहकर अर्थव्यवस्था के पहियों को गति देने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रही है । राष्ट्रीय लॉकडाउन लगाए जाने के बाद इस राष्ट्रीय परिवहन प्रणानी के पहिए ठहर गए थे। सभी क्षेत्रीय रेलों में अग्रणी उत्तर रेलवे ने इस आपदा को एक अवसर के रूप में बदलते हुए माल परिवहन को सड़क से रेल यातायात की ओर लाने के लिए कई कदम उठाए ।

 

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.