पुलवामा हमला: NIA ने खोला आतंक का काला चिट्ठा तो तिलमिला उठा पाक

भारत के खिलाफ ही उलूल-जुलून बोलने लगा

इस्लामाबाद। पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्तान का काला चिट्ठा सामने आ गया है। एनआईए ने अपनी चार्जशीट में पुलवामा आतंकी हमले में पाक आतंकवादियों की काली कुंडली सामने रख दी है, जिसे देख पाकिस्तान तिलमिला गया है। पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे और इसके पीछे पाकिस्तानी आतंकियों का हाथ था, एनआईए ने अपने 13,500 से ज्यादा पन्नों की चार्जशीट में इसकी जानकारी दी है। काला चिट्ठा सामने आने के बाद तिलमिलाए पाकिस्तान ने न सिर्फ भारत के दावे को खारिज किया है, बल्कि उसने उल्टा भारत पर ही उलूल-जुलूल आरोप भी मढ़ दिए हैं।
पाकिस्तान ने पिछले साल फरवरी में हुए पुलवामा आतंकी हमले में जांच में दायर चार्जशीट को खारिज कर दिया है और दावा किया है कि यह हमला इस्लामाबाद को फंसाने के लिए यह एक ‘शरारती प्रयास’ है। पाकिस्तान ने कहा कि भारत अपने दावे का समर्थन करने के लिए विश्वसनीय साक्ष्य प्रदान करने में विफल रहा है और इस चार्जशीट का मतलब सिर्फ संकीर्ण और घरेलू राजनीतिक हितों को साधना है।
पाकिस्तान के विदेश कार्यालय द्वारा बुधवार को इस संबंध में एक बयान जारी किया गया। इसमें पाकिस्तान ने भारत की ‘तथाकथित चार्जशीट’ को खारिज कर दिया है और आरोप लगाया है कि भारत ने इस हमले में पाकिस्तान को फंसाने के लिए ऐसा किया है। पाकिस्तान ने कहा है कि भारत की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने अपने पाकिस्तान-विरोधी विचारों और घरेलू राजनीति फायदे के लिए उसके ऊपर पुलवामा हमले का झूठा आरोप लगाया है।
बयान में आगे कहा गया है, ‘शुरू में ही पाकिस्तान ने भारत के आरोपों को खारिज कर दिया था और किसी भी कार्रवाई योग्य जानकारी के आधार पर सहयोग बढ़ाने की तत्परता व्यक्त की थी। भारत कोई विश्वसनीय सबूत देने में विफल रहा और इसके बजाय पाकिस्तान के खिलाफ अपने दुर्भावनापूर्ण प्रचार अभियान के लिए हमले का इस्तेमाल कर रहा है।’
बयान के मुताबिक, पाकिस्तान ने यह भी आरोप लगाया है कि भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी, 2019 को पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की, जिसका पाकिस्तानी वायुसेना ने सामना किया। उसने दावा किया है कि घटना में दो भारतीय जंगी जहाज गिरा दिए गए और भारत के पायलट को कैद कर लिया गया। पायलट को शांति संदेश के तौर पर छोड़ भी दिया गया।
इस पर भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि पाकिस्तान आदतन झूठा रहा है और सबूतों के बावजूद ऐसे सभी आतंकी अपराधों में दोषी होने से इनकार किया है। पुलवामा में एनआईए ने जैश-ए-मोहम्मद और पाकिस्तान की भूमिका को नाकाम करने के लिए सबूतों के साथ मिलान प्रस्तुत किया है। भारत में या अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाक के झूठ को कोई नहीं मानने वाला।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.