थर्मल स्कैनर, चेतावनी स्टिकर, ऑटो टॉप-अप… जानें ‘अनलॉक’ होने को कैसे तैयार है दिल्ली मेट्रो

 नई दिल्ली  दिल्ली मेट्रो कोरोना वायरस दिशानिर्देशों का पालन करते हुए परिचालन के लिए तैयार है और उसे सेवाएं शुरू करने के लिए अनुमति का इंतजार है। इस दौरान सामाजिक दूरी के पालन के लिए सीटों और प्लेटफार्मों पर संकेत, स्मार्ट कार्ड का ऑटो टॉप-अप जैसी सुविधाएं भी यात्रियों को मुहैया करायी जाएंगी। दिल्ली मेट्रो सेवाएं 22 मार्च से ही स्थगित हैं, जिस दिन कोरोना वायरस के मद्देनजर जनता कर्फ्यू लगाया गया था। सूत्रों के मुताबिक उसे अब तक लगभग 1,300 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है।
दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने रविवार को कहा था कि सरकार का निर्देश मिलने पर वह परिचालन फिर से शुरू करने के लिए तैयार हो जाएगा। उसी दिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में मेट्रो ट्रेन सेवाओं को प्रायोगिक तौर पर फिर से शुरू किया जाना चाहिए क्योंकि शहर में कोविड​​-19 की स्थिति में सुधार हो रहा था। उन्होंने उम्मीद जतायी थी कि केंद्र जल्द ही इस पर फैसला करेगा।
लॉकडाउन अवधि के बाद अर्थव्यवस्था जून से धीरे-धीरे चरणबद्ध तरीके से खुल रही है। लेकिन डीएमआरसी को संचालन शुरू करने के लिए केंद्र से अभी अनुमति नहीं मिली है। कार्यकारी निदेशक, डीएमआरसी अनुज दयाल के हवाले से एक बयान में कहा गया था कि सरकार का निर्देश मिलने पर डीएमआरसी परिचालन शुरू करने के लिए तैयार हो जाएगा। सामान्य दिनों में औसतन 26 लाख से अधिक लोग दिल्ली मेट्रो में यात्रा करते हैं।
इस बीच डीएमआरसी कोरोना वायरस सुरक्षा मानदंडों के अनुपालन के संबंध में अपने कर्मचारियों को प्रशिक्षित कर रहा है और यात्रियों के लिए यात्रा को सुरक्षित बनाने के तरीकों पर भी जोर दे रहा है। अधिकारियों ने कहा कि यात्रियों का तापमान मापने के लिए थर्मल स्कैनर से लेकर सीटों और प्लेटफॉर्म पर सामाजिक दूरी के स्टिकर लगाने के साथ ही दिल्ली मेट्रो सुरक्षा दिशानिर्देशों के अनुसार यात्रियों के प्रबंधन की तैयारी कर रही है।
अधिकारी दिशानिर्देशों पर काम कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जब भी यात्री आएं तो सामाजिक सुरक्षा मानदंड लागू हों। ई-लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली मेट्रो ने 19 अगस्त को एक नयी सुविधा की घोषणा की थी जिसके तहत यात्री स्वचालित किराया संग्रह (एएफसी) गेट पर अपने स्मार्ट कार्ड को ऑटो-टॉप करा सकते हैं।
अधिकारियों ने बताया कि यह नया स्मार्ट कार्ड ग्राहकों के लिए ‘ऑटोप’ ऐप के जरिए उपलब्ध है जिसे इस उद्देश्य के लिए विशेष रूप से विकसित किया गया है। अधिकारियों ने कहा कि इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए पुराने स्मार्टकार्ड को भी अपग्रेड किया जा सकता है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.