नार्थ एमसीडी और दिल्ली मेट्रो के बीच बहुमंजिला पार्किंग व शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए

बहुमंजिला पार्किंग व शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का विकास और नबी करीम में एमआरटीएस प्रोजेक्ट फेज चार में आर.के. आश्रम - जनकपुरी कॉरिडोर और इंद्रलोक - इंद्रप्रस्थ कॉरिडोर ” इंटरचेंज मेट्रो स्टेशन का निर्माण

@ chaltefirte.com
नई दिल्ली। दिल्ली के नागरिकों को बेहतर और विश्वस्तरीय परिवहन और पार्किंग सुविधाएं प्रदान करने के लिए उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने दिल्ली मेट्रो रेल निगम के साथ आज उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मुख्यालय में एक समझौते ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस समझौते के तहत नबी करीम में एक बहुस्तरीय पार्किंग सह शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और आर.के. आश्रम – जनकपुरी कॉरिडोर और इंद्रलोक – इंद्रप्रस्थ कॉरिडोर पर इंटर चेंज मेट्रो स्टेशन का विकास किया जाएगा। समझौते ज्ञापन पर हस्ताक्षर उत्तरी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त,  ज्ञानेश भारती और डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक,  मंगू सिंह द्वारा दिल्ली के माननीय उपराज्यपाल, अनिल बैजल, उत्तरी दिल्ली के महापौर जय प्रकाश की उपस्थिति में किए गए । दिल्ली के माननीय उपराज्यपाल राज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कार्यक्रम में शामिल हुए।
                         उपराज्यपाल,  अनिल बैजल ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम और डीएमआरसी के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि हमने उत्तरी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त और दिल्ली मेट्रो के प्रबंध निदेशक के साथ मिलकर इस तरह की एक परियोजना पर कार्य किया, जहा नागरिकों को इसका लाभ मिल सके। यह दोनों ही संस्थानों के दृष्टिकोण से एक बहुत महत्वपूर्ण परियोजना है। जहां एक तरफ उत्तरी दिल्ली नगर निगम इस परियोजना से राजस्व अर्जित करेगी और वहीं दूसरी तरफ डीएमआरसी को अपने मेट्रो स्टेशन के लिए जमीन मिलेगी। उन्होंने यह भी कहा कि लोगों को ऐसी भीड़भाड़ वाली जगह पर विश्वस्तरीय सुविधा मिलेगी जहाँ एक ही स्थान पर मेट्रो, पार्किंग और वाणिज्यिक स्थान होगा।उन्होंने कहा कि परियोजना को समय पर पूरा करने के लिए उत्तरी दिल्ली नगर निगम और डीएमआरसी की संयुक्त निगरानी टीम होनी चाहिए ताकि इस परियोजना की देख-रेख व कार्य समय पर पूरा हो सके।
उत्तरी दिल्ली के महापौर जय प्रकाश ने परियोजना के लिए उत्तरी दिल्ली नगर निगम और डीएमआरसी के संयुक्त प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि ये अल्ट्रा मॉडर्न प्रोजेक्ट निगम के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा की इस परियोजना के पूरा होने के बाद सबसे ज्यादा लाभ पूरानी दिल्ली के निवासियों मिलेगा और यह परियोजना पुरानी दिल्ली के विकास कार्य को गति प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि निगम और डीएमआरसी संयुक्त रूप से इस परियोजना को समय पर पूरा करेंगे।
आयुक्त, ज्ञानेश भारती ने सभी गणमान्य व्यक्तियों को परियोजना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ईदगाह रोड सदर बाजार में निगम के स्वामित्व वाले 26198 वर्गमीटर क्षेत्र में इस परियोजना का विकसित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह परियोजनाएं उत्तरी दिल्ली नगर निगम और दिल्ली मेट्रो के लिए महत्वपूर्ण थीं, जिस के लिए प्रबंध संचालक, दिल्ली मेट्रो और आयुक्त, दिल्ली नगर निगम की बैठक के दौरान यह तय किया गया कि दोनों ही परियोजनाओं को एकीकृत कर एक साथ विकसित किया जा सकता है। जिसके लिए एक एकीकृत प्रस्ताव तैयार किया गया, जिसमें चार स्तर भूमिगत इंटरचेंज मेट्रो स्टेशन और तीन स्तर पर व्यावसायिक परिसर और छ: स्तर पर ओवरहेड बहुमंजिला पार्किंग की योजना बनाई गई है। दिल्ली मेट्रो अपने मेट्रो स्टेशन के साथ-साथ वाणिज्यिक कॉम्प्लेक्स और बहुमंजिला पार्किंग की संरचना का निर्माण करेगी। जिसके बाद, व्यावसायिक परिसर और बहुमंजिला पार्किंग का निर्माण अलग-अलग निविदाओं के माध्यम से चयनित रियायतकर्ता द्वारा किया जाएगा। दिल्ली मेट्रो द्वारा दोनों ही परियोजनाओं के लिए डिजाइन, ड्राइंग और टेंडरिंग का कार्य किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि दिल्ली मेट्रो द्वारा प्रस्तुत प्रारंभिक प्रस्ताव के अनुसार, भूमिगत मेट्रो स्टेशनों का निर्माण जनवरी 2023 तक पूरा किया जाएगा और इस बीच बहुमंजिला कार पार्किंग और जमीन के ऊपर वाणिज्यिक स्थान के निर्माण के लिए निविदाएं आमंत्रित कर परियोजना को अंतिम रूप देने का कार्य किया जाएगा। वाणिज्यिक स्थान सहित बहुमंजिला पार्किंग के निर्माण में लगभग 1.5 वर्ष का समय लगेगा।
दिल्ली मेट्रो के प्रबंध निदेशक, मंगू सिंह ने कहा कि ये परियोजना से भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों को काफी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस परियोजना की योजना बनाते समय हमें कई समस्याओं का सामना करना पड़ा था लेकिन अंततः हम दिल्ली के लोगों के लिए इस बहुत ही खूबसूरत परियोजना लेकर आए हैं।
अतिरिक्त आयुक्त,  स्वाति शर्मा ने सभी गणमान्य व्यक्तियों को कार्यक्रम में उपस्थित होने के लिए धन्यवाद दिया।
इस अवसर पर, स्थायी समिति के अध्यक्ष छैल बिहारी गोस्वामी, नेता सदन, योगेश वर्मा, प्रमुख अभियंता  के.पी. सिंह, प्रमुख निदेशक नौरंग सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.