सलमान खान को मारकर अपराध जगत में अपनी धमक बढ़ाना चाहता था लॉरेंस गैंग

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान के घर की रेकी करने वाले लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़े बदमाशों के बारे में फरीदाबाद पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। उत्तराखंड से गिरफ्तार किए गए राहुल सांगा ने पुलिस पूछताछ में कुछ राज खोले हैं। पुलिस सूत्रों का दावा है कि यह गिरोह सलमान खान को टारगेट कर अपराध की दुनिया में अपनी धमक बढ़ाना चाहता था।
पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस गिरोह के बदमाश वॉट्सऐप ग्रुप और फेसबुक के जरिये आपस में बातचीत करते हैं। यह गिरोह काफी बड़ा बन चुका है। राहुल सांगा उर्फ बाबा उर्फ सुन्नी इस गिरोह से जेल में बंद होने के दौरान जुड़ा था। आरोपी ने 24 जून को अपने साथी पलवल के राम नगर निवासी मनीष उर्फ मुल्ला, भारत, पलवल की फूल विहारी कॉलोनी निवासी रोहित और करनाल निवासी आशीष उर्फ आशु के साथ मिलकर प्रवीण हत्याकांड को अपनी निजी रंजिश की वजह से अंजाम दिया था।
पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस गिरोह की फरीदाबाद में यह दूसरी बड़ी वारदात है। इससे पहले कैदी वैन पर हमला कर संदीप उर्फ काला जठेड़ी को छुड़ाया जा चुका है। अब एसजीएम नगर में हत्या कर दी गई।
काला जठेड़ी चला रहा है गिरोह
लॉरेंस बिश्नोई गैंग हत्या, लूट, अपहरण, फिरौती और रंगदारी मांगने की दर्जनों वारदातों को अंजाम दे चुका है। यह गैंग राजस्थान, पंजाब और एनसीआर को छोड़कर हरियाणा के बाकी जिलों में लंबे समय से सक्रिय है। इससे पहले इस गैंग के बदमाश एक फरवरी को गुरुग्राम-फरीदाबाद सड़क पर कैदी बस पर हमला कर अपने गिरोह के संदीप उर्फ काला जठेड़ी को छुड़ा चुके हैं। इससे पहले जनवरी माह में इस गैंग ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से दिल्ली पुलिस के जवानों की आंखों में मिर्च झोंककर अपने गैंग के बदमाश नरेश सेठी को छुड़ाया था। लॉरेंस बिश्नोई, राजू बसौदी, नरेश सेठी और संपत नेहरा इस गैंग के कुख्यात बदमाश हैं। ये सभी अलग-अलग जेलों में बंद हैं। पुलिस का मानना है कि जेल में बैठकर संदीप उर्फ काला जठेड़ी के माध्यम से ये अपना गैंग चला रहे हैं।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.