CM योगी आदित्यनाथ ने लिया इतना बड़ा फैसला कि दूसरे राज्यों के बीच हुआ हंगामा

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब फिर एक बड़ा फैसला ले लिया है। उन्होंने रविवार को कहा कि अगर कोई भी राज्य भविष्य में उत्तर प्रदेश से प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने की मांग करता है तो उनको अब पहले सरकार से इस बात की अनुमति लेना जरूरी है। आदित्यनाथ ने कहा, “अब, अगर किसी राज्य को जनशक्ति की आवश्यकता है, तो हमारी अनुमति के बिना, हमारे लोगों को अन्य राज्यों द्वारा काम के लिए नहीं बुलाए जा सकते हैं। क्योंकि जिस तरह का स्वभाव यूपी के निवासियों के साथ किया गया है उसे देखकर हमने लोगों की सामाजिक सुरक्षा को अपने हाथ में ले लिया है।”इतना ही नहीं योगी आदित्यनाथ ने उन प्रवासी मजदूरों को नौकरी देने के लिए एक प्रवासी आयोग की स्थापना करने के लिए कहा है जो बाहर से आए हैं। यह आयोग श्रमिकों को उनके कौशल के अनुसार रोजगार प्रदान करके सामाजिक सुरक्षा की गारंटी देने का काम करेगा। आदित्यनाथ ने प्रवासी संकट के लिए विपक्षी नेताओं पर कटाक्ष किया और कहा कि “लॉकडाउन के दौरान, जो लोग गरीबों के लिए नारे लगाते हैं… अगर ये लोग ईमानदारी से श्रमिकों के बारे में चिंतित होते, तो पलायन रोका जा सकता था। ऐसा नहीं हुआ। कोई सुविधा नहीं दी गई। कई स्थानों पर, बिजली के कनेक्शन काट दिए गए थे, इसलिए लोगों को पलायन करना पड़ा।”

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.