‘रसराज’ पंडित जसराज ने हमें संगीत को चाहने की कला दी

नयी दिल्ली। प्रख्यात शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का निधन हो गया। उन्होंने अमेरिका के न्यूजर्सी में आखिरी सांस ली। इस बार की जानकारी पंडित जसराज की बेटी दुर्गा जसराज ने दी। वह 90 वर्ष के थे। पंडित जसराज का जन्म 28 फरवरी 1930 को हुआ था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंडित जसराज के निधन पर शोक जताया। उन्होंने निधन को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि इससे भारतीय सांस्कृतिक क्षेत्र में एक गहरा प्रभाव पड़ा है।
पंडित जसराज का अमेरिका के न्यूजर्सी में आवास है और वहां पर उनका संगीत का विद्यालय भी चलता है। बता दें कि पंडित जसराज ने संगीत की शिक्षा पिता पंडित मोतीराम से ली थी। बाद में उनके भाई ने उनको तबला का प्रशिक्षण दिया था। 14 साल की आयु से शिक्षा ले रहे पंडित जसराज ने 22 साल की उम्र में पहला स्टेज कन्सर्ट किया था।

प्रख्यात शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का निधन, प्रधानमंत्री मोदी ने जताया शोक

शास्त्रीय संगीत की दुनिया में उल्लेखनीय योगदान के लिए पंडित जसराज को पद्मविभूषण, पद्मभूषण और पद्मश्री से नवाजा जा चुका है।
पंडित जसराज के परिवार ने एक बयान में कहा ,‘‘ बहुत दुख के साथ हमें सूचित करना पड़ रहा है कि संगीत मार्तंड पंडित जसराज जी का अमेरिका के न्यूजर्सी में अपने आवास पर आज सुबह 5 बजकर 15 मिनट पर दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।’’
उन्होंने कहा ,‘‘ हम प्रार्थना करते हैं कि भगवान कृष्ण स्वर्ग के द्वार पर उनका स्वागत करें जहां वह अपना पसंदीदा भजन ‘ओम नमो भगवते वासुदेवाय’ उन्हें समर्पित करें। हम उनकी आत्मा की शांति के लिये प्रार्थना करते हैं।’’

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.