उपेंद्र कुशवाहा ने सीएम नीतीश पर बोला हमला

जब गिनती के दिन बचे हैं तो भर्तियों के नाम हवाबाजी कर रहे हैं

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री और रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने शनिवार को ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हमला बोला है। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस पर मुख्यमंत्री का भाषण झांसों से भरा पड़ा था। 15 वर्षों में शिक्षक, डॉक्टर, नर्स, इंजीनियर व अन्य पदों पर बहाली या तो न के बराबर की या दोषपूर्ण की, जिसके फलस्वरूप आज व्यवस्थाएं चरमराई हुई है।
पंचायत और नगर निकाय शिक्षकों को सीएम नीतीश ने दिया
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को गांधी मैदान में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कहा कि पंचायत और नगर निकाय शिक्षकों की नई सेवा शर्त शीघ्र लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन शिक्षकों की बेहतर सेवा शर्त के लिए नई नियमावली बनाई जा रही है। इसे शीघ्र लागू किया जाएगा। इन शिक्षकों को कर्मचारी भविष्य निधि का भी लाभ दिया जाएगा। सीएम नीतीश ने घोषणा की ग्राम पंचायतों में नए स्थापित उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 33 हजार 916 शिक्षकों की नियुक्ति का विज्ञापन शीघ्र जारी होगा।
चिराग पासवान बोले- बिहार के विकास के मुद्दों को उठाता रहूंगा
शनिवार को लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने राजधानी पटना में पार्टी के राज्य कार्यालय में झंडा फहराने के बाद नेताओं के साथ बैठक की। बैठक के दौरान चिराग पासवान ने कहा कि बिहार के विकास के मुद्दों को मैं उठाता रहूंगा। अगर इससे किसी को तकलीफ हो रही है, तो मुझे उसकी चिंता नहीं है। चिराग ने कहा कि विधानसभा चुनाव के पहले कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तय होना चाहिये। उसमें बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट का लोजपा के कार्यक्रम को रखना चाहिये।
फिर नीतीश का दामन थामेंगे मांझी! हम और जदयू में सहमति के आसार
हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) और जनता दल यूनाइडेट (जदयू) के बीच निकटता काफी बढ़ गई है। बताया जाता है कि इन दोनों दलों के बीच गठबंधन के मामले में भी सहमति बन गई है। हम पार्टी के सूत्रों के मुताबिक फिलहाल गठबंधन के स्वरूप या सीटों की संख्या के बारे में कोई निर्णय नहीं हुआ है। वैसे इस मामले में अंतिम निर्णय जीतन राम मांझी ही लेंगे। मांझी अभी गया में हैं। वे संभवत 19 या 20 अगस्त को अपना पक्ष रखेंगे। मांझी का मानना है कि महागठबंधन में समन्वय समिति के गठन के मामले में कोई फैसला नहीं लिया जा रहा है । इससे असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इधर, उनकी जदयू के शीर्ष नेता से बात हुई है, लेकिन गठबंधन या सीटों की संख्या पर कोई भी बात नहीं हुई है। पार्टी का दावा दर्जनभर से अधिक सीटों पर रहेगा।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.