वायरल हुआ अदनान शेख – जुमाना खान का गाना ‘रो रो कर गुजरे दिन’

पटना। संगीत अक्‍सर मनोरंजन के लिए होते हैं, मगर सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर अदनान शेख और जुमना खान ने ‘रो रो के गुज़रे दिन’ गाना इन दिनों यूट्यूब पर धमाल मचा रहा है। बता दें कि जुमना खान दुबई की फेमस ब्लॉगर हैं और ब्लॉगर अदनान शेख के भी 6.4 मिलियन फॉलोवर्स हैं। इस गाने का उद्देश्य ‘आत्महत्या नहीं करने’ को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए है। गाना 7 अगस्‍त को बियोंड म्‍यूजिक के यूट्यूब चैनल पर जारी किया गया, जिसे अब तक 2.1 मिलियन से अधिक व्‍यूज मिल चुके हैं। इस गाने का म्‍यूजिक हार्दिक टेलर ने तैयार किया है। हार्दिक टेलर और दिव्‍या दत्ता ने इस गाने में अपनी आवाज दी है और इसे विराल मोटानी व पाखी हेगड़े ने प्रोड्यूस किया है।

गाने को लेकर प्रोड्यूसर विराल मोटानी व पाखी हेगड़े ने कहा कि गाना ‘रो रो के गुज़रे दिन’ को लेकर हमारी अवधारणा बहुत मजबूत है, और हमें उम्मीद है कि युवा इसे पसंद करेंगे। क्‍योंकि यह सभी को जीवन का आनंद लेने और उन लोगों के साथ रहने के लिए कहता है, जो उन्हें प्यार करते हैं। उनका सम्मान करते हैं, और आत्महत्या के लिए ‘नहीं’ कहते हैं।

जुमना खानने बताया कि यह ट्रैक हम सबके लिए एक संदेश के साथ एक दिल तोड़ने वाला है। यह सौंग एक लड़की के साथ शुरू होता है, जो अपने प्रेमी के साथ संबंधों को समाप्त करती है, जो उसे एक स्‍ट्रेस में छोड़ देती है। लड़की आगे बढ़ती है, वह बिखर जाता है। ब्रेक-अप का सामना करने में असमर्थ, वह अपने जीवन का अंत करने का फैसला करता है। हालांकि उसकी मां का एक कॉल उसे एहसास दिलाता है कि उसे ऐसे लोगों के लिए जीना है, जिन्हें उसकी ज़रूरत है। मुझे खुशी है कि हमने एक गीत की कल्पना की, जो समय की आवश्यकता है।

हार्दिक टेलर ने कहा कि ‘रो रो के गुज़रे दिन’ खूबसूरत कंसेप्‍ट है। चूंकि आत्महत्या दुनिया भर में एक बड़ा मुद्दा है, इसलिए हम एक गीत चाहते थे, जो दर्शकों के दिलों को छू ले। यह जागरूकता पैदा करने के लिए एक वास्तविक और ईमानदार प्रयास है। अदनान ने कहा कि एक व्यक्ति के रूप में, युवाओं को शिक्षित करना महत्वपूर्ण है, जो आत्महत्या के शिकार हो रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि लोग हमारे गीत से संबंधित हैं और इसके संदेश के महत्व को समझते हैं।लिंक : https://youtu.be/fN0GF2p9xUg

 

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.