रियल इस्टेट व्यवसाय को प्रोत्साहन दे सरकार -भूषण कुमार सिंह

पटना।                                    र्दद  को मुस्कुरा कर सहना क्या सीख लिया।
                                        लोगों को लगता है मुझे कोई तकलीफ ही नहीं होती।।
कहते  है कि दिल में अगर कुछ कर गुजरने की तमन्ना हो तो तमाम विघ्न बाधाओं के बावजूद इंसान अपनी मंजिल को प्राप्त कर ही लेता है इस कहावत को वास्तविकता के धरातल पर अक्षरश सत्य कर दिखाया है बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के राघवा छपरा गांव निवासी युवा व्यवसायी भूषण कुमार सिंह बबलू ने। ये बिहार युथ बिल्डर एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं साथ ही साथ पटना ग्रीन हाउसिंग प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक भी।सामाजिक गतिविधियों में भी इनकी सक्रियता इन्हें भीड़ से अलग करती है। संघर्षों के बल पर सफलता का मुकाम पाने वाले भूषण सिंह ने अपने कठिन परिश्रम अदम्य साहस और इमानदारी पूर्वक किए गए कार्यो बदौलत बिहार के उधोगपतियों के भीड़ में अपनी एक अनूठी पहचान बनाई है। 15अप्रैल 1986 को पिता  राम शंकर सिंह माता  शैल देवी – के घर  जन्मे भूषण की शिक्षा दिक्षा मुज़फ़्फ़रपुर से प्राप्त हुई ।दस बारह साल पहले पटना में आने के बाद काफ़ी संघर्ष एवं काफ़ी समस्याओ से जूझने के बाद अच्छे बुरे लोगों से भी मूलाकात हुई और ऐसे भी इन्हे शुरु से बिजनेश ही रुचि था और इन्होंने ऐसे बहुत से छोटे मोटे बिजनेश भी किया लेकिन ये सब में कही लापरवाही एवं कही असफलता हासिल होने के बावजूद हिम्मत नही हारे और एक दिन वह आया जिस दिन PGHPL यानी पटना ग्रीन हाऊसिंग प्रा.लि. का नीव रखा । बिहार के रियल इस्टेट व्यवसाय में ईमानदारी पूर्वक अपनी पहचान बनाई 2 वर्षों के अंतर्गत ही इनकी की कंपनी बिहार के अग्रणी कंपनियों में शुमार हो चुकी है ।जल्द ही यह भवन निर्माण मॉल स्कूल इंटरटेनमेंट एजुकेशन हेल्थ सेक्टर में भी अपना विस्तार करने जा रहे हैं ।बातचीत के क्रम में भूषण कुमार सिंह बबलू ने बताया कि उन्होंने कभी भी असफलता दर असफलता मिलने के बावजूद हिम्मत नहीं हरी। उन्होंने खुद के दम पर अपना मुकाम बनाया।
भूषण कुमार सिंह बबलू ने बताया कि बिहार जैसे प्रांत में समाजिक कार्यों में उनकी कंपनी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती है। सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के तहत ही कंपनी ने इस वर्ष अपने द्वितीय स्थापना दिवस के उपलक्ष में समाज के लिए लड़ने वाले सिपाहियों को सम्मानित कर एक अनूठी परंपरा की शुरुआत की है। उन्होने बताया कि बिहार में रोजी- रोजगार का वैसे ही अभाव है रियल इस्टेट के क्षेत्र में संभावनाएं तो बहुत है किंतु सरकार के ढुलमुल रवैया के कारण रियल स्टेट का व्यवसाय भी गति नहीं पकड़ पाया है ।लोगों के घर के सपनों को पूरा करने के उद्देश्य से 2 वर्ष पूर्व उन्होंने इस कंपनी की स्थापना की थी। उन्हें इस बात की खुशी है कि उन्होंने पूरी ईमानदारी के साथ अपने लक्ष्य के तरफ कदम बढ़ाया है। आने वाले समय में बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन टाउनशिप के निर्माण के क्षेत्र में भी कंपनी पर्दापण करने जा रही है । यदि सरकार रियल एस्टेट क्षेत्र को प्रोत्साहित करने की नीति बनाये तो तमाम परेशानियों के बाद भी यह सेक्टर अच्छा करेगा और रोजगार भी उपलब्ध होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.