IIT मद्रास ने पहले ऑनलाइन B.Sc. (प्रोग्रामिंग और डाटा साइंस) डिग्री के लिए आवेदन आमंत्रित किए

नई दिल्ली। NIRF द्वारा भारत रैंकिंग 2020 में पहले स्थान पर रही, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मद्रास (IIT मद्रास) ने, दुनिया की पहली ऑनलाइन B.Sc. (प्रोग्रामिंग और डाटा साइंस) नई डिग्री लॉन्च की है। छात्र क्वालिफायर प्रक्रिया में दाखिला लेने के लिए आवेदन पत्र भर सकते हैं और आवेदन शुल्क 3000 रुपयों का भुगतान कर आवश्यक दस्तावेज भी अपलोड कर सकते हैं। भुगतान की गई फीस क्वालिफायर प्रक्रिया और क्वालिफायर परीक्षा के लिए 4 सप्ताह की पाठ्यक्रम सामग्री तक पहुंच प्रदान करेगी। शिक्षार्थी अपने आवेदन पत्र https://www.onlinedegree.iitm.ac.in पर भर सकते हैं। आवेदनों की अधिकतम संख्या 2,50,000 तक सीमित है। 2,50,000 आवेदन या 15 सितंबर 2020 तक, जो भी पहले हो, आवेदन बंद हो जायेंगे।

दसवीं कक्षा स्तर पर अंग्रेजी और गणित के साथ और बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण करने वाले के लिए यह कार्यक्रम खुला है। वह छात्र जो 2020 में बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण कर रहे हैं, वे आवेदन करने के लिए पात्र हैं। स्नातक और काम करने वाले पेशेवर भी इस कार्यक्रम में अपना नामांकन कर सकते हैं, आईआईटी मद्रास का उद्देश्य उम्र, अनुशासन या भौगोलिक स्थिति के सभी अवरोधों को दूर करना और देश भर के सभी उम्मीदवारों के लिए प्रोग्रामिंग और डेटा साइंस में विश्व स्तर के पाठ्यक्रम तक पहुंच प्रदान करना है। पात्रता के बारे में अधिक जानकारी के लिए, कृपया वेबसाइट देखें।

प्रो.एंड्रयू थंगराज (प्रभारी प्रोफेसर, आईआईटी मद्रास ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम) ने कार्यक्रम के बारे में बात करते हुए कहा, “कार्यक्रम के शुभारंभ के बाद से, हमने भावी छात्रों से अत्यधिक रुचि प्राप्त की है। हमारा मानना है कि यह कार्यक्रम न केवल ऑनलाइन शिक्षा को आगे बढ़ाने की प्रवृत्ति को अपनाता है, बल्कि यह प्रोग्रामिंग और डेटा विज्ञान में कुशल और रोजगार योग्य स्नातकों को बनाने के लिए एक मंच प्रदान करता है। ”

आवेदन प्रक्रिया के हिस्से के रूप में, सभी आवेदकों को एक क्वालिफायर प्रक्रिया से गुजरना होगा, जिसमें उन्हें चार मूलभूत स्तर के पाठ्यक्रमों के लिए 4 सप्ताह के वीडियो सामग्री तक पहुंच प्राप्त होगी। सामग्री के साथ, पहले तीन हफ्तों में प्रत्येक पाठ्यक्रम के लिए एक साप्ताहिक असाइनमेंट भी शामिल होगा जिसे पूरा करने और दिए गए समय सीमा के भीतर ऑनलाइन जमा करने की आवश्यकता है। केवल ऐसे शिक्षार्थी जो सभी चार पाठ्यक्रमों में न्यूनतम आवश्यक औसत असाइनमेंट स्कोर प्राप्त करते हैं, वे इन-पर्सन इंविजिलेटेड क्वालिफायर/योग्यताधारी परीक्षा के लिए उपस्थित होने के पात्र होंगे।

प्रो.प्रताप हरिदौस, (प्रोफेसर-इन-चार्ज, आईआईटी मद्रास ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम) ने यह बात जोड़ी, “ऑनलाइन शिक्षा के क्षेत्र में हमारे समृद्ध अनुभव के साथ, हम पैमाने और निर्बाध डिलीवरी को संभालने के लिए और सभी छात्रों को एक समृद्ध और आकर्षक अनुभव प्रदान करनेके लिए अच्छी तरह से सुसज्जित हैं।”

 

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.