24 घंटे के अन्दर पुलिस ने खोज निकाला गोंडा से किडनैप बच्चा

चार करोड़ की मांगी थी फिरौती, मुठभेड़ में दो बदमाश घायल

लखनऊ गोंडा । यूपी के गोंडा जिले से शुक्रवार को करनैलगंज कस्बे से किडनैप किए गए व्यवसायी के पोते को शनिवार सुबह मुठभेड़ के बाद सकुशल बरामद कर लिया गया है। पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में दो अपहरणकर्ता घायल हुए हैं। एसटीएफ और जिला पुलिस के संयुक्त अभियान में सवा सात बजे यह सफलता मिली। एडीजी ला एंड आर्डर और एसटीएफ के एसपी मुठभेड़ स्थल पर मौजूद रहे।
प्रारम्भिक जानकारी के अनुसार पुलिस और एसटीएफ रात से ही बच्चे की सकुशल बरामदगी के लिए लगी थी। सीओ के मुताबिक शनिवार सुबह भौरीगंज रोड पर अपहरणकर्ताओं की लोकेशन सर्विलांस से मिली। एसटीएफ और पुलिस टीम ने पीछा किया तो कार एक खम्भे से टकरा गई। दो अपहरणकर्ता गाड़ी से भागने लगे। दोनों ने पुलिस टीम पर फायर किया। जवाब में पुलिस ने दो बदमाशों को जवाबी फायरिंग में दबोच लिया। पुलिस के अनुसार गाड़ी से अपह्रत बच्चे के साथ एक महिला और पुरुष को हिरासत में ले लिया गया है। दोनों घायल अपहरणकर्ताओं को जिला अस्पताल में भेजा गया है। बच्चे को अभी पुलिस ने अपनी सुरक्षा में रखा गया है।
ऐसे किया गया अपहरण :
शुक्रवार को करनैलगंज नगर के मोहल्ला गाड़ी बाजार में कस्बा पुलिस चौकी के पीछे मोहल्ले में रहने वाले गुटखा मसाला के एक बड़े विक्रेता राजेश कुमार गुप्ता के पांच वर्षीय पौत्र नमो गुप्ता का बदमाशों ने अपहरण कर लिया। बताया जाता है कि एक कार से स्वास्थ्य विभाग का परिचय पत्र गले में टांग कर कुछ लोग मोहल्ले में मास्क का वितरण करने के लिए आए और लोगों का नाम एक कागज पर लिख रहे थे। मोहल्ले में सैनिटाइजेशन कराने व सैनिटाइजर का वितरण करने का झांसा भी दिया। बताया जाता है कि अपहरणकर्ता जब राजेश गुप्ता के घर के सामने पहुंचे तो अपहरण कर्ताओं ने सैनिटाइजर देने की बात कही और 5 वर्षीय बच्चे को साथ में लेकर यह कहते हुए कि बच्चे को भेज दीजिए गाड़ी से सैनिटाइजर निकाल कर दे देते हैं। इतना कहकर बच्चे के साथ बदमाश निकले और गाड़ी के पास पहुंचते ही बच्चे को गाड़ी में लेकर फरार हो गए।
फिरौती मांगने पर हुई जानकारी :
यह जानकारी परिवार वालों को तब हुई जब बच्चे के पिता हरी गुप्ता के मोबाइल पर बदमाशों ने कॉल किया और उन्हें जानकारी दी कि आपके बच्चे का अपहरण हो गया है। चार करोड़ रुपए की व्यवस्था कर लो। अपहरणकर्ताओं में कोई महिला शामिल नहीं थी मगर जो फोन आया वह एक महिला बोल रही थी। जिसमें अनुमान लगाया जा रहा है कि वॉइस चेंजर के माध्यम से आवाज को बदलकर बात किया गया। फिलहाल घटना की सूचना मिलने के बाद तत्काल मौके पर पुलिस क्षेत्राधिकारी कृपा शंकर कनौजिया, कोतवाल राजनाथ सिंह, चौकी प्रभारी रणजीत यादव पहुंच गए। जबकि सभी पुलिस अधिकारी कर्मचारी नगर में शुक्रवार की नमाज होने के कारण लगातार गश्त पर थे। नगर में पुलिस की गश्त तेज होने के बावजूद भी अपहरणकर्ताओं ने ऐसी घटना को अंजाम दे दिया। जिससे नगर में सनसनी फैल गई है।
एसपी ने खुद संभाली कमान :
एसपी आर के नैय्यर ने इसकी कमान खुद संभाल ली थी। गोंडा लखनऊ राज मार्ग पर बैरिकेड्स लगा कर शाम से सभी गाड़ियों की तलाशी ली गई। बाराबंकी, बहराइच समेत सभी जिलों में एलर्ट जारी कर दिया गया था। खास कर आल्टो कार का सीसीटीवी से निकाला गया फुटेज सभी जिलो की पुलिस को भेज दिया गया एसपी ने बताया था कि कुछ महत्वपूर्ण क्लू मिले थे।
नेपाल बार्डर पर भी था अलर्ट :
डीआईजी डा राकेश अग्रवाल ने बताया था कि अपहरण कर्ताओं के नेपाल भाग जाने की आशंका के मद्देनजर नेपाल बार्डर पर सीमा सुरक्षा बल के साथ सिविल पुलिस को एलर्ट किया गया था। सभी वाहनों और संदिग्धों की तलाशी के लिए निर्देश दिया गए थे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.