कंगना रनौत ने फिर साधा करण जौहर पर निशान

कहा- लोगों ने मुझे डायन तक कह डाला

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद नेपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) को लेकर बहस जारी है। इस बीच कंगना रनौत ने सुशांत को लेकर कई बयान दिए। उन्होंने कई फिल्ममेकर्स पर आरोप लगाए। कंगना ने कहा कि एक समय ऐसा आया था जब मेरे मन में भी आत्महत्या के विचार आने लगे थे।
साल 2016 की घटना को याद करते हुए कंगना ने कहा, ‘मैंने अपनी ब्लॉकबस्टर फिल्म देने के बाद 19 ब्रांड्स के साथ हाथ मिलाया। तभी मेरे एक्स व्बॉयफ्रेंड ने मेरे खिलाफ केस दर्ज करा दिया। इन ब्रांड्स ने मेरे साथ ऐसा होते ही कॉन्ट्रैक्ट तोड़ लिया। सब कुछ इंडस्ट्री में बहुत प्लानिंग के साथ किया जाता है। मुझे इंसानों को खाने वाली और डायन तक कहा गया। करण जौहर लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स गए और वहां जाकर कहा कि कंगना को फिल्म इंडस्ट्री छोड़ देनी चाहिए। उसे तुरंत बाहर निकालना चाहिए। वहां हूटिंग हो रही थी। लोग तालियां बजा रहे थे जब मैं नेपोटिज्म के खिलाफ यहां लड़ाई लड़ रही थी।
इससे पहले कंगना ने एक बयान में कहा था कि मुंबई पुलिस ने मुझे बयान देने के लिए बुलाया। मैंने उनको बताया कि अभी मैं मनाली में हूं और क्या मेरा बयान लेने के लिए आप किसी को मेरे यहां भेज सकते हैं, लेक‍िन उनका अभी तक मुझे कोई जवाब नहीं मिला। कंगना ने आगे कहा कि मैं बता रही हूं कि अगर मैंने कुछ ऐसा कह दिया हो, जिसकी मैं गवाही नहीं दे सकती, जिसे मैं साबित नहीं कर सकती और जो जनता के हित में नहीं है तो मैं अपना पद्मश्री लौटा दूंगी। ऐसे में फिर मैं इस सम्मान के लायक नहीं हूं।
कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत के निधन को बताया था प्लांड मर्डर
इससे पहले कंगना ने अपना एक वीडियो जारी कर सुशांत सिंह राजपूत के निधन को एक प्लांड मर्डर बताया था। कंगना ने तल्ख तेवरों के साथ कहा कि सुशांत ने सुसाइड नहीं किया बल्कि ऐसा करने के लिए उनके दिमाग में तरह-तरह की चीजें भरी गई हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सुशांत के काम को स्वीकार नहीं किया है, उन्होंने ‘छिछोरे’ जैसी बेहतरीन फिल्म की, लेकिन ‘गली ब्वॉय’ जैसी वाहियात फिल्म को सारे अवॉर्ड्स दे दिए जाते हैं। कंगना ने कहा कि यह सुसाइड नहीं, एक तरह से प्लांड मर्डर है।
कंगना ने आगे कहा था, ”सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने सभी को झकझोर कर रख दिया है, लेकिन कुछ जो इस मामले में माहिर है कि किस तरह पैनल नैरेटिव चलाना है वे बता रहे हैं कि कुछ लोगों का दिमाग कमजोर होता है वो डिप्रेशन में आ जाते हैं और सुसाइड कर लेते हैं। वह इंजीनियरिंग के एंट्रेंस एग्जाम का रैंक होल्डर है। उसका दिमाग कमजोर कैसे हो सकता है। उनके लास्ट पोस्ट देखिए। वह लोगों से कह रहे हैं कि मेरी फिल्में देखिए। मेरा कोई गॉडफादर नहीं है, मुझे निकाल दिया जाएगा इंडस्ट्री से। अपने इंटरव्यू में वो जाहिर कर रहे हैं कि मुझे क्यों नहीं इंडस्ट्री अपनाती है। तो इस हादसे की कोई बुनियाद नहीं है। वाहियात फिल्म को सारे अवॉर्ड मिलते हैं।”

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.