कोटा में यूथ हाॅस्टल की राह प्रशस्त, जारी हुए एक करोड़

लोकसभा अध्यक्ष बिरला के प्रयासों से शहर को जल्द मिलेगी सौगात

नई दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के प्रयासों से कोटा को जल्द यूथ हाॅस्टल की सौगात मिल सकेगी। केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्रालय ने यूथ हाॅस्टल के निर्माण के लिए सैंद्धांतिक स्वीकृति देी है है। हाॅस्टल के लिए 5 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई है जिसमें सेएक करोड़ रूपए की पहली किस्त जारी भी कर दी है। हाॅस्टल में करीब 200 युवाओं के आवास की व्यवस्था होगी। इसके निर्माण से करीब 18 वर्ष पुराना सपना पूरा हो सकेगा।
कोटा में वर्ष 2002 में केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्रालय ने यूथ हाॅस्टल के निर्माण की स्वीकृति दी थी। इसके लिए आकाशवाणी में करीब 6.75 बीघा भूमि आवंटित की गई। शुरूआत में मिले 30 लाख रूपए से भूमि के समतलीकरण का ही कार्य हो सका। इसके बाद राशि नहीं आने से बात आगे नहीं बढ़ सकी। वर्ष 2012 में हाॅस्टल के लिए सांसद निधि व अन्य मद से कुछ और राशि स्वीकृत हुई जिससे थोड़े से क्षेत्र आधे-अधूरे ढांचे का ही निर्माण हुआ, इसके बाद फिर काम ठप हो गया।
वर्ष 2014 में सांसद निर्वाचित होने के बाद बिरला इसे गंभीरता से लिया तथा आश्वस्त किया कि वे कोटा में यूथ हाॅस्टल के निर्माण कार्य को पूरा करवाएंगे। उन्होंने इसके निर्माण के प्रस्ताव को पुनः केंद्रीय मंत्रालय को भिजवाया। लेकिन तकनीकी दिक्कतों के चलते इसमें देरी होती रही।
लेकिन अब बिरला के प्रयासों से केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्रालय ने हाॅस्टल के निर्माण के लिए सैद्धांतिक स्वीकृति जारी कर दी है। इसके लिए 5 करोड़ रूपए की राशि स्वीकृत हुए हैं जिसमें से एक करोड़ रूपए भी जारी कर दिए हैं। राशि के मिलने के बाद जल्न ही निर्माण कार्य पुनः प्रारंभ हो सकेगा। इस हाॅस्टल के बनने के बाद शहर की यूथ हाॅस्टल की करीब 20 वर्ष पुरानी मांग पूरी हो सकेगी।
सर्वसुविधा युक्त होगा हाॅस्टल
कोटा में बनने वाले यूथ हाॅस्टल में सभी सुविधाएं होंगी। करीब 6.75 बीघा भूमि में से 10 हजार वर्गफीट क्षेत्र में दो मंजिला हाॅस्टल का निर्माण होगा। इसमें 16 कमरे होंगे, जिनमें 8 एसी तथा शेष नाॅन एसी होंगे। इसके अलावा 8 डोरमेट्री भी बनाई जाएंगी। 8 कमरे तथा 4 डाॅरमेट्री युवतियों के लिए आरक्षित रहेंगी। सभी कमरों व डाॅरमेट्री में पलंग, बिस्तर, टेबल कुर्सी, टीवी आदि सुविधा भी होगी। हाॅस्टल के भीतर ही किचन, डायनिंग हाॅल तथा पेंट्री की भी व्यवस्था की जाएगी। हाॅस्टल में दाखिला लेने वाले युवाओं के स्वास्थ्य को देखते हुए खुले क्षेत्र में खेल मैदान का भी प्रावधान किया गया है। पूरे परिसर की सुरक्षा के भी माकूल इंतजाम किए जाएंगे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.