प्रसाद योजना में शामिल होंगे मथुुराधीश जी और केशवरायपाटन मंदिर

केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय भेजेगा सर्वे टीम, हाड़ौती पर्यटन सर्किट की संभावना भी तलाशेगा

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल

कोटा। केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय कोटा के श्रीमथुराधीश जी मंदिर और बूंदी के केशवरायपाटन स्थित श्रीकेशवराय जी मंदिर को प्रसाद योजना में शामिल करेगा। मंत्रालय की टीम जल्द ही कोटा-बूंदी समेत सम्पूर्ण हाड़ौती क्षेत्र का दौरा कर पुरातात्विक महत्व के स्थानों के संरक्षण तथा उन्हें पर्यटन के नक्शे पर लाने के प्रयास भी करेगी।
संसद भवन के लोकसभा चैम्बर में बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल से कोटा समेत संपूर्ण हाड़ौती में पर्यटन के विकास को लेकर विस्तार से चर्चा की।
बिरला ने केन्द्रीय मंत्री को बताया कि पर्यटन के दृष्टिकोण से संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी का राजस्थान में अपना महत्व है। दोनों ही जिले अपनी धार्मिक-ऐतिहासिक तथा पुरातात्विक महत्व की सम्पदा से पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। बिरला ने पटेल को श्री मथुराधीश जी मंदिर, श्री केशवराय जी मंदिर, चरण चैकी समेत विभिन्न स्थानों की जानकारी भी दी।
चर्चा के बाद पटेल ने आश्वस्त किया कि मंत्रालय की एक टीम जल्द ही संसदीय क्षेत्र का दौरा करेगी। यह टीम मथुराधीश जी मंदिर तथा बूंदी के केशवराय जी मंदिर (के.पाटन) का सर्वे कर प्रसाद योजना के तहत विकास कार्यों की डीपीआर तैयार करेगी। प्रसाद योजना के तहत धार्मिक स्थलों पर आधारभूत सुविधाओं का विकास किया जाता है।
इसके अतिरिक्त टीम हाड़ौती के पुरातात्विक महत्व के स्थानों का भी सर्वे करेगी ताकि इन स्थानों को संरक्षण कर पर्यटन के नक्शे पर लाने के प्रयास किए जा सकें। टीम हाड़ौती के पर्यटन स्थलों को सम्मिलत करते हुए हाड़ौती पर्यटन सर्किट विकसित किए जाने की संभावनाएं भी तलाशेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.