सीडगिंग रन के माध्यम से युवाओं द्वारा प्रदेशभर में हरियाली का आगाज

जयपुर ब्यूरो

जयपुर। नेहरू युवा केंद्र संगठन, राजस्थान ने प्रदेश को हराभरा बनाने के लिए युवाओं के माध्यम से सीडगिंग रन का सोमवार से आगाज़ कर दिया है। बारिश के मौसम में अधिक से अधिक बीजों का उपयोग वृक्ष लगाने के उद्देश्य से किया जायेगा ताकि गांवों में हरियाली उत्पन्न की जा सके।इस कार्य में नेहरू युवा केंद्र के हज़ारों स्वयंसेवक, युवा कार्यकर्त्ता और युवा मंडल हराभरा गांव बनाने के लिए जुटेंगे। इस अभियान में सीडगिंग रन का आयोजन सात दिन चलेगा ताकि बिखरे बीजों से धरती को संवारा का सके।
नेहरू युवा केंद्र संगठन के राज्य निदेशक डॉ भुवनेश जैन ने सोमवार को कोटा के यूथ हॉस्टल में पौधे लगाकर सीडगिंग रन का शुभारम्भ किया। डॉ जैन ने हरी झंडी दिखाकर युवाओं को सीडगींग रन के लिए रवाना किया और युवाओं ने जॉगिंग कर कैंपस में विभिन्न बीजों को इकठ्ठा कर उसे उपयुक्त जगह पर लगा दिया। युवाओं को संबोधित करते हुए डॉ जैन ने कहा कि बीजो को बेकार नहीं जाने देना चाहिए। बारिश से पहले बीजों को इकठ्ठा कर हर गांव में उन बीजों का उपयोग पौधा रोपण के लिए करने कि जरूरत है। उन्होंने कहा कि रसोई में भी सब्जी,फल आदि के बीजों को इकठ्ठा कर सहजने और उसे समय पर लगाने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि यह हर युवा का अभियान बने।उन्होंने कहा कि प्रातः भ्रमण में युवाओं की टोली इसे अंजाम दे सकती है।उन्होंने कहा कि जहां भी जब भी बीज दिखे उसे उपयोग कर लेना चाहिए।जैन ने इस अवसर पर सीड लगाने के साथ साथ पौधारोपण भी किया। उन्होंने बताया की नेहरू युवा केंद्र के जिला केंद्रों के युवा समन्वयकों के निर्देशन में युवा मण्डल एवं राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक इस कार्यक्रम में जुड़कर दौड़ते हुए,जॉगिंग करते हुए पेड़ों के नीचे पड़े बीजों को एकत्र कर रहे हैं ताकि इनको जगह जगह फैला कर प्राकृतिक तौर से हरियाली बढ़ाने का प्रयास किया जा सके। इस दौरान ये प्रयास रहेंगे की इन बीजों को उपयुक्त स्थान जैसे ढीली मिट्टी, नमी और सुरक्षा मिल सके ताकि ये उग सकें। यदि क्षेत्र से कोई छोटा मोटा नाला निकलता हो तो उसके आसपास की भूमि में अर्जुन, बहेड़ा, करंज, करौंदा, छोटी जामुन, खजूर, गूलर, लसोड़ा
आदि प्रजातियों का उपयोग किया जा सकता है। राज्य के पश्चिमी भागों में खेजड़ी, रोहिडा, पीलू, बेर, कुमठा, नीम, अरड़ू आदि बरगद, पीपल, गुलमोहर एवं ऐसी प्रजातियों का चुनाव किया जा सकता है।
नेहरू युवा केंद्र कोटा के जिला युवा समन्वयक महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने राज्य निदेशक का स्वागत करते हुए कहा कि पूरे जिले में प्रत्येक ग्राम पंचायत तक इस अभियान को लेे जाएंगे।उन्होंने राष्ट्रीय युवा समन्वयकों को एवम् सक्रिय युवा मंडलों,महिला मंडलों को इसकी जिम्मेदारी दी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.