डोनाल्ड ट्रंप ने रूस के इनाम के आरोप वाली खबरों को बताया फर्जी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने  इन आरोपों को ‘फर्जी खबरें बताकर खारिज कर दिया कि रूस ने अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों को मारने पर इनाम रखा था। ट्रंप ने कहा कि आरोपों की ये खबरें ‘मुझे और रिपब्लिकन पार्टी’ को नुकसान पहुंचाने के लिए गढ़ी गईं।
सांसद इन आरोपों पर जवाब मांग रहे हैं, वहीं डेमोक्रेट पार्टी के लोगों ने ट्रंप पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के आगे झुकते हुए अमेरिकी सैनिकों की जान जोखिम में डालने का आरोप लगाया है।
ट्रंप ने बुधवार को ट्वीट किया कि उन्हें इस बारे में कोई खुफिया जानकारी नहीं दी गई थी कि रूस ने इनाम रखा है क्योंकि इस बात के कोई प्रमाण नहीं थे। इस तरह की खुफिया आकलन की खबरें सबसे पहले न्यूयॉर्क टाइम्स ने प्रकाशित कीं, जिसके बाद अमेरिकी खुफिया अधिकारियों और अन्य ने ज्यादा जानकारी के साथ एपी से इसकी पुष्टि की।
ट्रंप ने ट्वीट किया, ”रूस के इनाम घोषित करने की खबर केवल फर्जी कहानी है जो केवल मुझे और रिपब्लिकन पार्टी को नुकसान पहुंचाने के लिए गढ़ी गई है।” उन्होंने कहा, ”गोपनीय सूत्र संभवत: है ही नहीं, जैसे कि खबर है ही नहीं।”
राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओब्रायन ने कहा कि शुरुआत में खुफिया जानकारी राष्ट्रपति के ध्यानार्थ नहीं लाई गई क्योंकि इसकी पुष्टि नहीं हुई थी और खुफिया अधिकारियों में भी इसे लेकर सहमति नहीं थी।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.