इंदौर की बेटी हुई सम्मानित

क्रिशा प्रजापति को मिला ओएमजी रिकॉर्ड ऑफ इंडिया

इंदौर(चलते फिरते ब्यूरो) । इंदौर ने जन्म दिया प्रतिभाशाली हुनर को। देश विदेश में शहर का नाम गौरवान्वित कर रही है क्रिशा प्रजापति। 3 साल की बालिका ने छोटी सी उम्र में ओएमजी रिकॉर्ड में नाम दर्ज करवाया। क्रिशा प्रजापति के ट्रेनर रवि राव ने बताया है कि यह अब तक कि मेरी सबसे यंगेस्ट स्टूडेंट है जिसने ओएमजी रिकॉर्ड प्राप्त किया है। ओएमजी बुक रिकॉर्ड देश के चौथे सबसे बड़े रिकॉर्ड कंपनी में जाना जाता है। ओएमजी रिकॉर्ड कंपनी कहती है कि रिकॉर्ड बनाना सिर्फ शोक या पैशन नहीं है बल्कि यह कैरियर से जुड़ा एक रास्ता होता है।
क्रिशा प्रजापति ने 15 से 20 मिनट प्लैंक का रिकॉर्ड बनाया है और यह देखा जाए तो 3 साल की उम्र में ऐसी पहली बालिका है जिसने यह रिकॉर्ड प्राप्त किया है। प्लैंक एक बॉडी एक्सरसाइज है जिसे सामान्य लोग 30 सेकंड भी नहीं कर पाते हैं। यह नन्ही सी बालिका प्लैंक के साथ-साथ हैंड स्टैंड 20 से 25 मिनट पुशअप, लेग और बॉडी मोबिलिटी, स्ट्रेचिंग अथवा और भी कई एक्टिविटीज कर लेती है।हमारे देश में ऐसे बहुत से बच्चे हैं जिनमें अलग-अलग तरह के हुनर होते हैं पर हमारे देश को रिकॉर्ड के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होने के कारण हमारा देश विदेश की तुलना में काफी पीछे रह गया है। ओएमजी देश की चौथी ऑथेंटिक बुक ऑफ रिकॉर्ड कंपनी में आता है। ओएमजी बुक रिकॉर्ड प्राप्त कर इंदौर की छोटी सी बालिका ने अपने शहर का नाम रोशन कर दिखाया है।
लॉक डाउन के दौरान खाली समय में कई लोगों ने अपने अंदर की हुनर को पहचाना उसी समय कृष प्रजापति के इस हुनर को भी पहचाना गया। कृष प्रजापति के मेहनत और उसकी रुचि को देखते हुए आज उसने अपना नाम रिकॉर्ड में दर्ज कराया और अपना और अपने शहर का नाम रोशन किया।