इंडिया मोबाइल कांग्रेस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया 5G का शुभारंभ

जियो-ग्लास पहन पीएम ने लिया वर्चुअल रियलिटी का जायजा

सर्विस और डिवाइस, किफायती दरों पर मिलने चाहिएं – आकाश अंबानी 

5G का रोलआउट भारत के दूरसंचार इतिहास में कोई सामान्य घटना नही-मुकेश अंबानी

नई दिल्ली(चलते फिरते ब्यूरो) । इंडिया मोबाइल कांग्रेस यानी IMC में 5जी की धमाकेदार शुरूआत हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के प्रगति मैदान में 5जी सेवाओं का बटन दबा कर शुभारंभ किया। Jio True 5G तकनीक का जायजा लेने प्रधानमंत्री जियो पवेलियन पहुंचे। प्रधानमंत्री ने जियो-ग्लास पहनकर वर्चुअल रियलिटी का रियल टाइम एक्पिरियंस किया। इस दौरान जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी प्रधानमंत्री को जियो-ग्लास के बारे में बताते दिखे। इससे पहले रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने जियो पवेलियन पर प्रधानमंत्री का स्वागत किया।देश वासियों को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने मोदी ने कहा कि टेलीकॉम इंडस्ट्री की ओर से 130 करोड़ भारतीयों को 5जी के तौर पर एक शानदार उपहार मिला है। 5G, देश के द्वार पर नए दौर की दस्तक है। 5G, अवसरों के अनंत-आकाश की शुरुआत है।इस दौरान प्रधानमंत्री के साथ दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव, दूरसंचार राज्य मंत्री  देवुसिंह चौहान, रिलायंस के चेयरमैन  मुकेश अंबानी और रिलायंस जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी भी उपस्थित थे।
उद्घाटन सेशन में मुकेश अंबानी ने भरोसा दिलाया कि जल्द ही देश, 5जी की सुपरफास्ट इंटरनेट सेवाओं का आनंद ले पाएगा। दीवाली तक चुनिंदा मैट्रो शहरों में और 2023 के अंत तक पूरे देश के हर शहर और हर तालुका में 5 जी सर्विस शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि दुनिया के मुकाबले भारत में 5जी सेवाएं सस्ती होंगी उन्होंने कहा कि “5G का रोलआउट भारत के दूरसंचार इतिहास में कोई सामान्य घटना नहीं है। देश ने भले ही थोड़ी देर से शुरुआत की हो, लेकिन हम दुनिया की तुलना में उच्च गुणवत्ता वाली और अधिक किफायती 5G सेवाओं को शुरू करेंगे।
रिलायंस जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हर भारतीय के लिए डिवाइस और सर्विस दोनों को किफायती होना चाहिए।अंबानी ने 5G को डिजिटल कामधेनु बताया। उन्होंने प्रधानमंत्री के नेतृत्व में 5जी के लिए उठाए गए कदमों की सरहाना भी की और कहा कि 5G अगली पीढ़ी की कनेक्टिविटी तकनीक से कहीं बढ़कर है। यह एक मूलभूत तकनीक है जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, रोबोटिक्स, ब्लॉकचैन और मेटावर्स जैसी अन्य टेक्नोलॉजी की पूरी क्षमता को पूरी तरह अनलॉक करेगी।
प्रधानमंत्री के सामने भारती एयरटेल के सुनील भारती मित्तल ने बेहद दिलचस्प बात कही। उन्होंने माना है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी
बहुत तेज रफ्तार से टेक्नोलॉजी को आगे ले गए, और हमें यानी बाकी टेलीकॉम ऑपरेटर्स को भी अपनी स्पीड बढ़ानी पड़ी।