मोदी@20 पुस्तक का स्मृति ईरानी ने किया विमोचन 

पटना(चलते फिरते ब्यूरो) । बिहार में बदली राजनीति के साथ विपक्ष में बैठी बीजेपी की राज्य में एक्टिविटी बढ़ गई है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने मोदी 2.0 किताब का विमोचन किया । इस को लेकर बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व लगातार बिहार में कार्यक्रम कर रहा है। इसमें केंद्र से जुडे नेता शामिल हुए। स्मृति ईरानी ने कहा- 2012 में जब नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री थे तो पंचामृत का जिक्र किया था, उस पर काम किया गया। जब पहली बार मोदी जी की सभा में बम फटा, लेकिन धमाके विपक्षी दलों में हुआ था। नरेंद्र मोदी जब भी कैबिनेट में चर्चा करते थे, ऊर्जा शक्ति को बेहतर तरीके उपयोग करने की बात कहते हैं। नरेंद्र मोदी ज्ञान शक्ति को लेकर भी काम किया। इसमें जय किसान, जय जय जवान, जय विज्ञान के साथ जय अनुसंधान हो गया गया। रक्षा शक्ति को लेकर देश की सीमाओं को सुरक्षा संकल्प लिया। उन्होंने कहा- साल 2013 में बीजेपी के 773 विधायक थे। अब 1440 से ज्यादा हैं। 2013 में चार मुख्यमंत्री थे। अब 12  मुख्यमंत्री बीजेपी के हैं। जितिया का निर्जला उपवास है। सभी माताओं से मैं यही मांगती हूं की नरेंद्र मोदी को दुआ दें।बिहार बीजेपी के नए प्रभारी विनोद तावड़े रविवार को पहली बार पटना आए। विनोद तावड़े बिहार बीजेपी प्रभारी पद ग्रहण करने के बाद पहली बार पटना पहुंचे हैं। उनके साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी आई हैं।सरकार से बीजेपी के बेदखल होने के बाद ये पहला कार्यक्रम है, जिसमें एक साथ इतने बड़े नेता शामिल हुए। बता दें कि बीजेपी 23 और 24 सितम्बर को सीमांचल में जनसभा करने वाली है। जिसमें केंद्रीय मंत्री अमित शाह शामिल हो रहे है। माना जा रहा कि बिहार सीमांचल इलाके से अमित शाह लोकसभा चुनाव का शंखनाद करेंगे। बिहार प्रभार विनोद तावडे और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी एयरपोर्ट से सीधे पटना के ज्ञान भवन पहुंचे। यहां मोदी@ 20 पुस्तक का विमोचन किया गया। विनोद तावड़े ने कहा की  स्मृति ईरानी मेरी बड़ी बहन है, जिन्होंने राहुल गांधी को हराया है। उनकी अंगुली पकड़कर मैं आया हूं तो कुछ भी कर सकता हूं। जब बिहार में नरेंद्र मोदी आए थे और उनकी सभा में बम के धमाके हुए थे और बिहार की जनता ने उनको प्रधानमंत्री बनाया। उस समय भी हालत खराब थे। अब भी हालत खराब है। बेगूसराय में क्या हो रहा है जबकि निगाह उस पर है। संगठन में मंत्री, विधायक बनाना बड़ी बात नहीं, संगठन को मजबूत करना बड़ी बात है। उन्होंने कहा- बिहार के युवाओं को किताब पढ़ना चाहिए। ये आईएएस और आईपीएस की धरती है। उनको ये किताब पढ़नी चाहिए, मोदीजी के बारे जानने का ये बहुत बढ़िया माध्यम है।स्मृति ईरानी ने कहा- मैंने 27 साल की उम्र में जीवन का पहला चुनाव लड़ा था, उसे विनोद तावड़े ने लड़ाया था। मुझे 20 साल से मोदी जी के साथ काम करने का मौका मिला है। मोदी मंत्र है, मैथड है और मिशन है। कल मोदी जी का जन्मदिन था। लोगों ने कहा- देखो शेर ने अपना जन्मदिन चीतों के साथ मनाया है। यदा यदा ही धर्मस्य…जब जब धरती पर पाप बढ़ता है तो भगवान का अवतार होता है। नरेंद्र मोदी कर्म योगी है। गुजरात का कार्यकाल एक अंश है। गुजरात के मोरबी जिला में बांध टूटा तो 2500 लोग की मृत्यु हुई थी तो नरेंद्र मोदी ने गजब का काम किया था। उस चुनौती को उन्होंने जनता के साथ मिलकर काम किया। जब कच्छ में भूकंप आया था, जो लोगों ने कहा कि वहां कि जमीन फिर से नहीं उपजेगी। फिर नरेंद्र मोदी ने कच्छ को फिर से समृद्ध बनाया।