दिल्ली को जल्द मिलेंगी अत्याधुनिक ऐप-आधारित प्रीमियम बसें-अरविंद केजरीवाल

सभी बसें बीएस-6 अनुपालन वाली एसी ट, सीएनजी या इलेक्ट्रिक बसें होंगी

नई दिल्ली (चलते फिरते ब्यूरो) ।दिल्ली के लोग अब प्रीमियम बस सेवा का भी लुफ्त उठा पाएंगे। केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की सड़कों पर प्रीमियम बसें शुरू करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इस कड़ी में दिल्ली मोटर व्हीकल लाइसेंसिंग ऑफ एग्रीगेटर्स (प्रीमियम बसें) योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में बुधवार को उच्च स्तरीय बैठक की गई। यह योजना कार का उपयोग करने वालों को प्रीमियम सार्वजनिक परिवहन की ओर अग्रसर होने के लिए प्रोत्साहित करेगी। प्रीमियम बस सेवाओं को बढ़ावा देने से प्रदूषण और इंट्रा-सिटी ट्रिप को कम करने में भी मदद मिलेगी। बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारा उद्देश्य ऐसे सभी लोगों को प्रोत्साहित करना है जो कि हर रोज इंट्रासिटी यात्रा करते हैं। एप-आधारित एग्रीगेटर योजना के तहत सभी आधुनिक सुविधा से लैस बसें चलाएंगे। सभी बसें बीएस-6 मानकों का पालन करने वाली वातानुकूलित सीएनजी या इलेक्ट्रिक होंगी। इस योजना के तहत 1 जनवरी, 2024 के बाद शामिल होने वाली सभी बसें केवल इलेक्ट्रिक होंगी। सभी बसें केवल बैठने के लिए होंगी, जिसमें एप सपोर्ट, सीसीटीवी और पैनिक बटन आदि की सुविधा होगी। सवारी की बुकिंग और डिजिटल पेमेंट करने के लिए वन दिल्ली एप के साथ एकीकृत होंगी।

दिल्ली मोटर वाहन लाइसेंसिंग एग्रीगेटर्स (प्रीमियम बसें) योजना को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। बैठक में परिवहन विभाग के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को योजना के अनुसार पॉलिसी का मसौदा तैयार करने और उसे लागू करने का विस्तृत खाका पेश किया। उन्हें अवगत कराया गया कि इस योजना का उद्देश्य सार्वजनिक परिवहन में एक सामान्य बदलाव को प्रोत्साहित करना और प्रीमियम बस सेवाओं को बढ़ावा देकर शहर के अंदर यात्राओं को कम करना है, जिससे दिल्ली में वायु प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी। ऐसे यात्री जो सार्वजनिक परिवहन में यात्रा करने की इच्छा रखते हैं और बेहतर सुविधा वाली आरामदायक परिवहन सेवा चाहते है उनके लिए यह काफी फायदेमंद साबित होगी। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परिवहन विभाग को इस योजना को अमलीजामा पहनाने और उसी के अनुसार पॉलिसी बनाने के निर्देश दिए। इसके बाद ही मसौदा नीति को पब्लिक ओपिनीयन के लिए स्थानांतरित किया जाएगा, जिसे कार्यान्वयन के लिए अधिसूचित किया जाएगा। बैठक में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के साथ संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों भी मौजूद थे।

इस योजना के उद्देश्यों को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमने दिल्लीवासियों को उच्च गुणवत्ता वाली एप आधारित प्रीमियम बसें उपलब्ध कराने के लिए एक बड़ी परियोजना शुरू की है। हम ऐसी प्रीमियम बस सेवा प्रदान करना चाहते हैं ताकि लोग अपने निजी वाहनों को छोड़कर सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल करें। दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी में प्रीमियम बसों के संचालन के लिए एग्रीगेटर्स के साथ सहयोग करेगी। ये एप-आधारित एग्रीगेटर निजी कारों को चलाने वालों से अपील करने के लिए आधुनिक सुविधा से लैस अगली पीढ़ी की बसें चलाएंगे। हमारा उद्देश्य ऐसे सभी नागरिकों को प्रोत्साहित करना है जो हर रोज इंट्रासिटी ट्रिप करते हैं, ताकि वे अपनी कार की बजाए सार्वजनिक परिवहन के कुशल मोड का चयन कर सकें।

 

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.