‘ग्राम स्वराज’ का सपना पूरा करने का माध्यम है ग्राम संसद -जगत प्रकाश नड्डा

पटना।ग्राम संसद को संबोधित करते हुए श्री नड्डा ने कहा कि ग्राम स्वराज की जो कल्पना पूज्य बापू महात्मा गाँधी ने की थी, उस वैचारिक पृष्ठभूमि को सही मायने में जमीन पर उतारने का काम भारतीय जन संघ और भारतीय जनता पार्टी ने किया है। कांग्रेस पार्टी कभी कॉर्पोरेट फार्मिंग की बात करती है तो कभी कलेक्टिव फार्मिंग की लेकिन देश के गाँव, गरीब और किसान की अंतरात्मा को पहचानने और उन्हें सशक्त बनाने में कांग्रेस पार्टी असमर्थ रही। आदरणीय डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी ने राष्ट्रवाद की अलख जगाई थी और देश को एक वैकल्पिक विचारधारा दी थी, उसे पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी ने एकात्म मानववाद और अंत्योदय के सिद्धांत से जोड़कर समग्र राष्ट्र के उत्थान का मार्ग बताया। हमारी जितनी भी सरकारें आई चाहे राज्य में अथवा केंद्र में, सबके शासन के चिंतन में अंत्योदय और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का ही भाव रहा। अंत्योदय की कल्पना को भारतीय जनता पार्टी की सरकारों ने ही जमीन पर चरितार्थ किया। श्रद्धेय नानाजी देशमुख ने चित्रकूट में ग्रामोदय का विषय उठाया और उन्होंने 500 गाँवों को स्वाबलंबी बनाने की दिशा में काम शुरू किया। मैं आप सभी ग्राम प्रतिनिधि से आग्रह करना चाहूंगा कि आप एक बार चित्रकूट जाएँ और देखें कि श्रद्धेय नानाजी देशमुख ने ग्राम विकास पर किस तरह से काम कर गाँवों का कायाकल्प किया। हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी उन्हीं के बताये रास्ते पर चलते हुए विकास की मुख्यधारा से पीछे छूट गए गाँव, गरीब, किसान, दलित, पीड़ित, शोषित, वंचित, पिछड़े, आदिवासी, युवा एवं महिलाओं को विकास की अग्रिम पंक्ति में लाने के लिए समर्पित भाव से काम कर रहे हैं। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास ही श्री नरेन्द्र मोदी सरकार का मूल मंत्र है।

इसके माध्यम से देश के सभी पंचायतों की तस्वीर बदलने का काम हमारा ग्रामीण विकास मंत्रालय कर रहा है। अब तक 2,63,000 पंचायत के प्रोफाइल पोर्टल पर अपलोड हो चुके हैं। ग्राम स्वराज अभियान के लिए लगभग 5.90 लाख करोड़ रुपये आवंटित किये गए हैं और इससे सभी निर्वाचित जन-प्रतिनिधियों को भी जोड़ा गया है। हमारी सरकार का मुख्य मकसद ग्राम विकास की ऐसी योजनायें तैयार करना है जिससे जमीन पर बदलाव आये और इसके लिए फंड की कोई कमी न हो। पहले गाँवों के विकास की योजनायें प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) बनाते थे और जिला स्तर के अधिकारी इसके लिए राशि मुहैया कराते थे लेकिन श्री नरेन्द्र मोदी सरकार में गाँवों के जनप्रतिनिधि आम सभा बुलाकर अपने-अपने गाँवों के विकास की योजनायें बनाते हैं और सरकार सीधे पंचायतों तक विकास के लिए राशि पहुंचा रही है। पहले की सरकारों द्वारा पंचायत के लिए जितना पैसा दिया जाता था, अब श्री नरेन्द्र मोदी सरकार में वह पांच गुना बढ़ गया है। पहले पंचायत में प्रति व्यक्ति प्रति वर्ष औसतन ₹52 खर्च होते थे लेकिन आज यह बढ़ कर ₹674 हो गया है।

श्री नड्डा ने कहा कि गाँव के लोगों ने कभी नहीं सोचा होगा कि देश के कभी स्वामित्व कार्ड जैसी योजना भी लागू हो सकती है। आज लगभग डेढ़ लाख गाँव इस योजना के अंतर्गत आ चुके हैं और लगभग 85 लाख लोगों को अपना प्रॉपर्टी कार्ड मिल चुका है। लगभग 41236 गाँवों में ड्रोन से प्रॉपर्टी की मैपिंग हो चुकी है। लगभग 2.20 लाख प्लॉट अब तक डिजिटल हो चुके हैं। ग्राम स्वराज अभियान योजना में 2022 से 2026 के लिए आवंटित फंड में लगभग 5,911 करोड़ रुपये की बढ़ोत्तरी की गई है। कांग्रेस की सरकारों में गाँवों के विकास के लिए केंद्र से जो पैसा भेजा जाता था, उसका 85% हिस्सा भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता था। हमारी सरकार में पूरा पैसा बिना किसी बिचौलिए के सीधे लाभार्थी तक पहुंचता है। हमारी सरकार में पब्लिक फाइनेंस मैनेजमेंट सिस्टम तैयार किया गया है। अब तक लगभग 1.77 लाख ग्राम पंचायत फाइबर इंटरनेट से जुड़ गए हैं और अब डिजिटल पेमेंट्स हो रही है। किसी ने भी कल्पना नहीं की थी कि ऑप्टिकल फाइबर गाँव में पहुँच भी सकेगा। लगभग पांच लाख कॉमन सर्विस सेंटर अभी गाँवों में काम कर रहे हैं। यह है बदलता भारत!

पटना पहुँचते ही श्री नड्डा सबसे पहले देशरत्न डॉ भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। इसके पश्चात् उन्होंने जेपी गोलंबर तक भव्य रोड शो किया। सड़क के किनारे दोनों ओर भारी भीड़ थी। पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं ने मोटरसाइकिल पर सवार होकर श्री नड्डा के काफिले की अगवानी की। इस दौरान पूरा इलाका भाजपा के झंडे से पट गया था और आसमान भारत माता की जय और जय श्रीराम के नारे से गुंजायमान हो रहा था। श्री नड्डा के रोड शो पर राज्य की जनता द्वारा पुष्पवर्षा भी की गई। रोड शो में माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के साथ बिहार के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष  संजय जायसवाल, बिहार के उप-मुख्यमंत्री  तारकिशोर प्रसाद, पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद  रविशंकर प्रसाद, बिहार सरकार में मंत्री  नितिन नवीन, भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया सह-प्रमुख एवं बिहार विधान परिषद् के सदस्य डॉ संजय मयूख एवं पटना से भाजपा सांसद  रामकृपाल यादव सहित बिहार भाजपा के सभी बड़े नेता उपस्थित थे। बिहार में हाल के वर्षों में पहली बार पार्टी स्तर पर ऐसा भव्य राष्ट्रीय कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इन कार्यक्रमों को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.