चैनपुर उप वितरणी बांध पर भी बनेगी पक्की सड़क 

लागत होगी 9 करोड़ 63 लाख रुपये 

राकेश रमण
छपरा।  सारणवासियों को सांसद की पहल पर एक और नई सड़क कनेक्टिविटी मिलेगी। इससे अमनौर, नगरा, गड़खा और छपरा सदर प्रखंडों के लोग लाभान्वित होंगे। बिदित हो कि बीते दिनों राज्य के जल संसाधन मंत्री संजय झा को सांसद  राजीव प्रताप रूडी ने पत्र लिखकर ध्यान आकृष्ट कराया था कि राज्य सरकार द्वारा बनाये गए नहर प्रणाली के तटीय बांध का प्रयोग स्थानीय लोग आवागमन के लिए करते है। अभी यह कच्ची है जिसके कारण बरसात के दिनों में अवगमन मे समस्या उत्पन्न करती है। इसी के मद्देनजर संसद ने जल संसाधन मंत्री को पत्र लिखकर बांध को पक्की सड़क के रूप में तब्दील करने की बात का जिक्र किया था।  सांसद ने बताया कि बांध पर पक्की सड़क के निर्माण से न केवल बांध मजबूत होगा, बल्कि सालोभर आवागमन के लिये नई सड़क कनेक्टिविटी भी उपलब्ध होगी। इससे किसानों को और गाँव के बच्चो को भी विद्यालय, महाविद्यालयों में जाने में सुविधा होगी। व्यवसाइयों व सभी तरह के लोग इस सड़क का अपने-अपने उदेश्यों में उपयोग कर सकते है। सांसद के पत्र के प्रत्युत्तर में बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय झा ने पत्रांक 127 के माध्यम से अवगत कराया कि संसद द्वारा सुझाये गए योजना को सरकार ने स्वीकृत कर लिया है और शीघ्र ही निर्माण कार्य की प्रक्रिया आरम्भ की जाएगी। मंत्री ने सांसद रुडी को बताया कि बिहार सरकार द्वारा 10 करोड़ 41 लाख की लागत राशि से नारायणपुर उप वितरणी के 0.00 से 20.00 आर॰डी॰ तक और 9 करोड़ 63 लाख रुपये की लागत राशि से चैनपुर उप वितरणी के 0.00 से 24.80 आर॰डी॰ तक नहर सेवा पथ पर पक्की सड़क निर्माण कार्य का प्रशासनिक एवं व्यय की स्वीकृति प्रदान की गई है।
इस संदर्भ में संसद ने बताया कि इस नई सड़क कनेक्टिविटी से पहले से उपलब्ध सडको पर यातायात का दबाव घटेगा और स्थानीय लोग हर तरह से लाभान्वित होंगे। इसके निर्माण से नहर के संचालन एवं निरीक्षण में सहुलियत के साथ ही आवागमन की सुविधा बढ़ेगी और स्थानीय लोगों को आर्थिक एवं सामाजिक विकास हो सकेगा। रूडी ने बताया कि नारायणपुर उप वितरणी के सेवा पथ से अमनौर प्रखंड के गुणा छपरा, गोसी अमनौर, अमनौर हरनारायण, अमनौर अगुआन, अमनौर मठिया, डोमन छपरा, खोरीपाकर खुर्द, खोरीपाकर, गोविंद, फिरोजपुर, मदरौली, अपहर आदि 1 दर्जन से अधिक गांव लाभान्वित होंगे।
चैनपुर उप वितरणी पर सेवा पथ के निर्माण से नगरा, सदर छपरा और गड़खा प्रखंड के डेढ़ दर्जन से अधिक गांवों को लाभ पहुंचेगा। इन प्रखंडों के मायाटोला, कोरेया, बतानी, बंगरा, बदलुटोला, कोहवारवा, बीरनटोला, बेलवानिया, बभनाइया, दुर्गाटोला, रेडिया, फेरूसा, मुसहेबटोला, भैंसमारा, पहाड़पुर और चैनपुर आदि लाभान्वित होने वाले गांवों के किसानों की आय वृद्धि तो होगी ही व्यवसाइयों का भी व्यवसाय वृद्धि और दूसरे बाजार भी सुलभ उपलब्ध हो सकेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.