अभिनेत्री मंदिरा बेदी ने एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल में एक स्वास्थ्य वार्ता के दौरान माताओं के स्वास्थ्य के बारे में बात की

संवाददाता                                 दिल्ली मदर्स डे के अवसर पर, प्रसिद्ध भारतीय अभिनेत्री और हेल्थ आइकॉन मंदिरा बेदी ने डॉक्टरों के साथ एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल, द्वारका द्वारा आयोजित एक स्वास्थ्य वार्ता के दौरान गर्भवती माताओं के स्वास्थ्य के बारे में वार्ता की मातृत्व का अनुभव हर महिला के लिए जीवन का सर्वश्रेष्ठ अनुभव होता है और गर्भावस्था एवं उसके बाद मानसिक और शारीरिक रूप से माँ और बच्चे के स्वास्थ्य की बहुत ज्यादा देखभाल करने की जरूरत होती है। एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल, दिल्ली के डॉक्टर्स के साथ एक स्वास्थ्य वार्ता में मंदिरा बेदी ने हम माँ को नियमित रूप से स्वास्थ्य जाँच, व्यायाम, उचित आहार और मानसिक स्वास्थ्य के बारे में शिक्षित किए जाने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने गर्भ की तैयारी करने वाली माताओं को मातृत्व के सफर के बारे में कुछ उपयोगी सुझाव भी दिए।

खुद एक माँ होने के नाते, मंदिरा बेदी ने बताया, ‘‘मातृत्व किसी भी महिला के जीवन का एक खूबसूरत पल होता है, और इसके लिए बहुत अधिक ध्यान देने की आवश्यकता होती है। यह एक ऐसा समय भी होता है, जिसके बाद एक महिला के शरीर में कई बदलाव आते हैं, और बहुत सी महिलाओं को स्वास्थ्य की किसी न किसी बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है। बच्चे को जन्म देने के बाद हाईपरटेंशन, प्रसवोत्तर थायरॉयडिटिस, अवसाद और पीठ के निचले हिस्से की समस्याएं बहुत आम हैं, तथा माँ और बच्चे के स्वास्थ्य को प्राथमिकता दिया जाना बहुत आवश्यक है। महिलाओं को अपने जीवन के हर चरण में अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दिया जाना जरूरी है। इसके समाधान के लिए एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल, दिल्ली ने महिलाओं के लिए समर्पित एक प्रिवेंटिव पैकेज प्रस्तुत करके महिलाओं को स्वास्थ्य की चुनौतियों, जोखिमों और उनके इलाज के बारे में शिक्षित करने की पहल की है।’’

रमन भास्कर, अस्पताल निदेशकए एचसीएमसीटी मणिपाल अस्पतालए द्वारका ने कहा, मदर्स  डे  सभी माओं  के   सम्मान  के लिए  एक विशेष दिन है वह एक पत्नी, एक बेटी और एक बहन के रूप में हमारे जीवन में विभिन्न भूमिकाएँ निभाती है। अपने परिवार की देखभाल के लिए एक माँ अपने स्वास्थ्य को एक तरफ रख देती है। आज मदर्स डे पर मणिपाल हॉस्पिटल्स नियमित स्वास्थ्य जांच को प्रोत्साहित करके हर माँ और उनके स्वास्थ्य की देखभाल करने का संकल्प लेता है।

डॉ लीना एन श्रीधर, स्त्री रोग विशेषज्ञ, एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटलए दिल्ली ने कहा गर्भावस्था महिलाओं के जीवन का एक महत्वपूर्ण चरण है।एक  स्वस्थ माँ को एक स्वस्थ शिशु को जन्म देने की संभावनाएं ज्यादा होती हैं। नियमित परामर्श से बुनियादी और महत्वपूर्ण गर्भावस्था युक्तियों के बारे में महिलाओं को शिक्षित करने में मदद मिलती है। मणिपाल हॉस्पिटल में हमारे पास श्स्पंदनश् नामक एक कार्यक्रम हैए जो गर्भवती माताओं को गर्भावस्था के सभी चरणों के बारे में सूचित करके उन्हें व्यापक देखभाल प्रदान करता हैए और उन्हें एक नए जीवन को जन्म देने के लिए मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार करता है।

डॉ विकास तनेजा, बाल रोग विशेषज्ञ, एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल, दिल्ली ने कहा बच्चे का स्वास्थ्य उसकी माँ के स्वास्थ्य पर निर्भर होता हैए इसलिए इस बार मदर्स डे पर हम बच्चों के स्वास्थ्य की बात करते हुए स्तनपान को प्रोत्साहित कर रहे हैं। स्तनपान शिशु के लिए पोषण का सर्वश्रेष्ठ और पर्याप्त स्रोत है। स्तनपान द्वारा वायरस और बैक्टीरिया के खिलाफ प्रतिरक्षा का विकास होता है। हम सभी नवमाताओं से आग्रह करते हैं कि वो एक चुस्त जीवनशैली रखें और सप्लीमेंट्स के मुकाबले पोषणयुक्त आहार सीधे लें।

 

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.