नोएडा के हिंदूराष्ट्र अधिवेशन में लिया गया हिंदू राष्ट्र के लिये कार्य करने का संकल्प

@ chaltefirte.com                                            नॉएडा I यहां के ईशान म्यूजिक कालेज, सेक्टर 12 में हिंदू जनजागृति समिति  आयोजित हिंदू राष्ट्र अधिवेशन संपन्न हुआ। इस अधिवेशन में हिंदू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक सद्गुरु डा. चारूदत्त पिंगले ने बताया कि, जब ब्राह्मण अपना कर्तव्य छोड़ देते हैं तो घोर कलियुग आता है । जब हम समाज की दयनीय स्थिति के बारे में जानेंगे, तभी समाज में परिवर्तन आएगा। शांति स्थापित करने के लिए अशांति को हटाना होगा । अहिंसा का दुसरा अर्थ है, ‘हिंसा रहित समाज’, कोई हिंसा कर रहा है तो सरकार, पुलिस और प्रशासन को हिंसा करने वाले पर कार्यवाही करने के लिए बाध्य करना भी अहिंसा है I

 पिछले कुछ दशकों से राजनिति के दुरुपयोग के कारण समाज में अविश्वास निर्माण हुआ है और आज का युवा हिंदू अपने राष्ट्र व धर्म कर्तव्य के लिए आगे आने के लिए तैयार नहीं है ।  हिंदू जब तक कर्म हिंदू नहीं बनते तो हम स्वयं को हिन्दू नहीं कह सकते । इसके लिए हमें धर्म और अधर्म समझना होगा और ये तभी होगा जब हमरा चित्त शुद्ध होगा ।

कार्यक्रम का आरंभ संतों व मान्यवरों के कर कमलों दीप प्रज्वलन से हुआ । इसमें वेद मंत्रों का पाठ व शंखनाद भी किया गया। इस समय परात्पर गुरु डॉ आठवले जी का सन्देश वाचन किया गया । अधिवेशन का उद्देश्य कु कृतिका खत्री जी ने बताया ।

अधिवक्ता पू. हरिकिशन जैन  ने कहा  प्रत्येक राष्ट्र की संस्कृति होती है, परंतु भारत में ऐसा नहीं है । संविधान की धारा 28 में लिखा कि हिंदू पाठशाला में वेद पुराण नहीं पढ़ा सकते , परंतु अन्य पंथियों के लिए अपने धर्म ग्रंथों का अध्ययन किया जा सकता है। हमें धर्म शिक्षित हिंदू राष्ट्र चाहिए , जिसमें अन्याय, ईर्ष्या, लालच का स्थान ना हो । हमें क्या मिलेगा, ऐसा विचार ना कर हमारी अगली पीढी को क्या मिलेगा, ऐसा विचार करना चाहिए । कुछ समय पूर्व तक संस्कृत के ज्ञानी अधिक थे, परंतु आज अंग्रेजी भाषा ने सभी भाषाओं पर वर्चस्व स्थापित किया है ।

 श्री विनोद सर्वोदय  ने कहा हिंदुओ की शोभा यात्रा पर पथराव ,गोहत्या,अपहरण यह सभी जिहाद ही है। पहले हिंदुओ की बारात पर आक्रमण करते थे आज हमारी शोभा यात्राओं पर हमले कर रहे हैं। मूर्ति तोड़ते हैं, वेदों को जलाते हैं, इसको मानवता नहीं कहा जाता है ।

अधि. श्रीमती मणि मित्तल  ने बताया – लव जिहाद के लक्ष्य को प्राप्त करने के अन्य पंथी मंदिर में जाना, व्रत रखना – इस प्रकार से फसाया जा रहा है । आज नैतिकता को नष्ट भ्रष्ट करने का कार्य फिल्मों व टी वी सीरियल के माध्यम से हो रहा है। समस्या के लिए आज अपने परिवार , समाज को इन सभी विषय से अवगत करवाने की आवयश्कता है ।

श्रीमती सुनीता दुर्रानी ने कहा की कश्मीर की जो स्थिति पूरे विश्व ने देखा वो ही स्थिति आज भारत के अलग – अलग हिस्सों में निर्माण हो गई है। उन्होंने कश्मीर के मार्तण्ड सूर्य मंदिर के बारे में बताया कि एक वर्ष तक वो जलाया गया, फिर भी वह पूरी तरह नष्ट नहीं हो पाया ।

डॉ. अजय दुर्रानी ने फ़िल्म निर्देशक विवेक अग्निहोत्री जी का अभिनंदन करते हुए कहा कि कश्मीर फाइल्स फ़िल्म के माध्यम से कश्मीरी हिंदुओ की पीड़ा को लोगों के सामने लाने का प्रयास किया ।

श्री राकेश शाह  ने कहा, गैर हिन्दू और सेक्युलर हिंदुओ को पुनः हिंदू धर्म में घर वापसी करना यह मेरा मिशन है और उसके अनुसार निरंतर प्रयास करता रहूंगा ।

 अधिवेशन में हिन्दुओं को धर्मशिक्षा और राष्ट्र प्रेम निर्माण करने वाली फ्लेक्स प्रदर्शनी लगाई गई जिसे देख कर धर्म प्रेमियों में उत्साह निर्माण हुआ। इस कार्यक्रम में नोएडा , ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद से अनेक हिन्दुत्वादी संगठन के कार्यकर्ता और प्रमुख और , सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थे ।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.